आंटी की सेक्स कहानी – Antarvasna Story

यह कहानी आज से १० साल पहले की है जब मैं अमित कालेज से पास करने के बाद दूर की भाभी को चोदा और फिर उनकी मामी को भी चोदा

हेलो फ्रेंड्स

में अमित उम्र करीब ३५,३६ साल का हूं और पटना के एक सरकारी कंपनी में काम करता हूं मेरी हाइट करीब ५ फीट ८ इंच है और नॉर्मल बॉडी है। यह कहानी या हकीकत कह लें जो घटना हुई वह में बता रहा हूं।

कालेज से पास करने के बाद मेरी नौकरी एक प्राईवेट कंपनी में लग गई। मै पटना का ही रहने वाला भी हूं। मेरे पापा बोले की कोलकाता में हमारा भतीजा यानी मेरा भैया रहता है तुम वांहा जाकर कुछ दिन रह लो जबतक कोई मकान नहीं मिल जाता है और वह हमसे उम्र में काफी बड़ा है उनकी उम्र करीब उस समय ४०,४५ की होगी।उनका नाम उमेश है और वह भी वान्हि फैक्ट्री में काम करते हैं । मै पटना से कोलकाता चला आया और उनके घर पर पंहूच गया वह लिलुआ में भाडे के मकान में रहते थे।वह मकान दो मंजिला था।वह लोग नीचे रहते थे और मकान मालिक उपर रहता था।में करीब १० बजे पंहुच गया।संडे का दिन होने से भैया घर पर ही थे। मै दरवाजा खटखटाया तो उमेश भैया ही निकले मै पैर छुने झुका तो वह मुझे गले लगा लिए।हम ड्रॉइंग रूम में बैठे।उनका दो लड़का मेरे पास आ गया बड़ा बाला करीब १० साल का होगा।उसका नाम राकेश था और दूसरा का नाम रमेश था जो ६ साल का था। भैया से मां पापा के बारे में बातचीत होने लगी।फिर भैया ने आवाज दी की रानी अमित आया है चाय पानी ले आओ।थोड़ी ही देर में भाभी चाय और पानी ले आई।भाभी को देखते ही लगा की मै जीनत अमान को देख रहा हूं।हालांकि वह सारी पहने हुए थी लेकिन थोड़ा नाभि के नीचे था। और ब्लाउज भी छोटी थी जिसमें सिर्फ उनका बूब्स ही छुपा था और वह भी स्लीवलेस था। उनकी हाईट करीब ५फीट होगी। लेकिन बदन पर ज्यादा चर्बी नहीं थी। मै उनका पैर छुआ और सोफा पर बैठ गया।वह जब चाय देने के लिए झुकी तो उनकी चूची दिख गई और साथ में उनकी काली ब्रा भी दिखाई दे गया। बूब्स का साइज भी करीब ३४,३६ की होगी।

चाय पीने के बाद फिर फ्रेश होने का सोच रहे थे।तभी भैया के मामी मामा आ गए साथ में उनका लड़का और लड़की भी आ गई।मामा का उम्र करीब ५० साल होगा उनका नाम रत्नेश था वह भी कोलकाता में काम करते थे।उनका शरीर काफी मोटा था।जबकि मामी का शरीर एकदम सुडोल था गोरी चिटी और लंबी थी।मामी का नाम रेखा था।फिर हमलोग गप सap करने लगे।मामी भी बहुत सेक्सी थी वह भी सारी पहने थी स्माल साइज की ब्लाउज और वह भी स्लीवलेस पहने थी।थोड़ी देर बाद वह लोग अपने कमरे में चले गए। उस घर में तीन ही कमरा था एक कमरा हमारे भैया भाभी और एक कमरा मे उनके मामा मामी रहती थी ड्रॉइंग रूम कॉमन था जिसमें गेस्ट को रखा जाता था।और दोनो के बड़े बच्चे भी उसी ड्रॉइंगरूम में सोते थे।

मैं दूसरे दिन नौकरी ज्वाइन कर लिया और ड्युटी करने लगे।मेरी ड्यूटी सबेरे ६ बजे से २ बजे तक होता था।फिर मैं घर आ जाता था। खाना खा कर फिर आराम करता था।भाभी और मामी के साथ मै हिल मिल गया था।भाभी भी हमसे मजाक वगेरह कर लेती थी साथ में मामी भी की लाला अब कब सादी करोगे।कोई गर्ल फ्रेंड है या नहीं।फिर कहती की यह बंगाल है बड़ी आराम से maal मिल जाती है।कभी ट्राई किया या नहीं।यह सब एडल्ट जोक सब करती रहती थी ।बीच बीच मे उनका सारी का पल्लू गिर जाता था जिससे उनकी चूची के दर्शन बड़े आराम से हो जाता था।यही हाल मामी का भी था उनकी भी पल्लू गिरती रहती थी और मैं दोनों के चूचे को देखा करता था।स्लीवलेस होने के वजह से उनकी कांख भी दिखाई देती थी जो की बराबर क्लीन शेव रहता था इसी से मै सोचता था की उनकी बुड भी चिकना होगा।

क्योंकि बच्चे लोग स्कूल से करीब ४,५ बजे आते थे और भैया और मामा भी रात के आठ बजे आते थे। तो हमलोगों को अच्छा समय मिल जाता था।दोपहर में जब मैं बॉथरूम जाता था तो वान्हा उनकी ब्रा और पेंटी लटकी रहती थी साइज से पता चल जाता था की किसकी ब्रा और पेंटी है।भाभी की करीब ३४ बाली रहती थी और मामी की ३६ बाली रहती थी इसी से दोनो के चूचे की साइज पता चल गया था ।कभी अनलोगों का डिजाइनर ब्रा भी रहती थी और मैं मै मूठ मार लेता था लेकिन कोशिश करता की उसमें बीर्य न गिरे।लेकिन कभी कभी उसमें लग जाता था।भाभी बराबर स्लीवलेस ब्लाउज पहनती थी और वह भी ज्यादा गला खुला बाला उनकी चूची को देख मेरे लन्ड मे हलचल होने लगता था।इस तरह करीब ६ महीना बीत गया जब भी दूसरा मकान की बात करता तो भैया और मामा कहते की येंही रहो।करीब ६ महीना से रह रहा था इस बीच मैं एक दो बार रण्डी का भी स्वाद चख चुका था।मेरे अंदर बासना भड़क रही थी।

इसी बीच भैया मामा मामी और उनके लड़का लड़की को पटना किसी सादी में जाना था।भाभी बोली की मै नहीं जाऊंगी क्योंकि अमित येन्हा है और उसके खाना पीना का इंतजाम करना है।अब भाभी और उनका दोनो लड़का येंहा रह गया।। मैं अब मामी के रूम में सो जाता था।एक दिन कि बात है की मै दोपहर में खाना खा कर मामी के रूम में आराम कर रहा था । मै आराम से मस्तराम की किताब पढ़ रहा था और लुंगी के अपर से ही लन्ड सहला रहा था ।थोड़ी देर बाद मेरा लन्ड पूरा खड़ा हो चुका था और मै आराम से मूठ मार रहा था। क्योंकि मुझे पता था कि रूम का दरवाजा बंद है और भाभी अपने रूम में है।थोड़ी देर बाद मेरा वीर्य निकल गया और मेरे लुंगी को भींगा दिया।जैसे ही मेरा वीर्य निकला मै किताब से आंख हटाई तो देखा क्या भाभी खिड़की पर खड़ी हो कर मेरे तरफ ही देख रही थी। मै तुरत मस्तराम की किताब को बिछावन के नीचे छुपा दिया इतने में भाभी दरवाजा खटखटाने लगी।मुझे दरवाजा खोलना पड़ा और मुझे ठेलकर बिछावन पर बैठा दिया और अपने भी बैठ गई और बोली कि लाला क्या कर रहे थे। मै झेंंप रहा था वह कहने लगी की कौन सी किताब पढ़ रहे थे जरा हम भी तो देखें। मै कहने लगा की कुछ नहीं।फिर वह जबरदस्ती बिछावन को उठा दिया और किताब निकल ली।और बोली की लाला यही पढ़ रहे थे।वही में सोची की लाला रूम बंद कर क्या कर रहा है।जब खिड़की पर गई तो देखी की लाला तो ६१,६२ कर रहा है।किताब मे कुछ सेक्स फोटो भी था वह बोली की अभी तक कभी ट्राई किया है। मै बोला नही भाभी फिर वह बोली की लाला तुम्हारी लुंगी भी गीली हो गई है।इसे खोल दो। मै झिझक रहा था।फिर वह जबरदस्ती लुंगी खोल दी फिर क्या था वह मेरे लन्ड पर हाथ फिराने लगी।लन्ड पर बिर्य लगा हुआ था। जिससे हाथ आराम से फिसल रहा था। मै बोला भाभी यह क्या कर रही हो बच्चे लोग आ जाएंगे।वह बोली की लाला अभी आने मे २ घंटा है।तुम आराम से रहो।फिर क्या था मेरे अंदर भी बाशना तो थी ही मै उनकी चूची को पकड़ लिया और दबाने लगा।वह कहने लगी कि थोड़ा धीरे से दबाओ। फिर वह नीचे बैठ गई और मेरे लन्ड को मुंह में ले लिया और चूसने लगी। देखते मेरा लन्ड तन गया था।मेरे लन्ड के पास बाल भी नहीं था क्योंकि मै भी बाथरूम में भाभी की बाल साफ करने वाली क्रीम लगा लेता था।करीब १५,२० मिनट तक वह मेरे लन्ड को चूसती रही इस बीच मैं उनका ब्लाउज खोल चुका था और वह व्हाइट कलर की ब्रा में थी और वह भी बहुत टाइट था जिससे उनकी चूची बाहर की तरफ निकली हुई थी।भाभी लन्ड को चूसे जा रही थी।उनके मुंह से लार टपक रहा था जो कि उनकी ब्रा को भींगा रहा था।।इतने में मेरा लन्ड से वीर्य निकलना शुरू हो गया। मै उनकी सिर को कस कर पकड़ लिया।सारा वीर्य उनके मुंह में गिर गया और लन्ड निकालते ही कुछ वीर्य उनकी ब्रा और चूची पर भी गिर पड़ा।वह मेरे वीर्य को वहां पर थूक दी और मेरे लुंगी से अपना मुंह पोंछ ली।में उनको बिस्तर पर लिटा दिया और मैं भी लेट गया। मै भाभी की ब्रा को खोल के फेक दिया और धिरे धिरे उनकी चूची को मुंह में लेकर चूसने लगा।और उनकी साड़ी और पेटीकोट को भी खोल दिया अब वह ब्लैक कलर की पेंटी में थी।वह भी मेरे लन्ड को हाथ से सहला रही थी और बीच बीच में मेरे निप्पल को मुंह में ले लेती थी जिससे मेरे लन्ड मे हलचल होने लगा था। में  उनकी चूची को चूसते चूसते लाल कर दिया था।

वह कहने लगी कि अब थोड़ा धीरे चूसो मेरी चूची मे दर्द हो रहा है। मै अब उनकी चूची छोड़कर नीचे चाटने लगा चाटते चाटते उनकी पेंटी के उपर से चाटने लगा उनकी पैंटी गीली हो चुकी थी। मैं उनकी पैंटी उतार दिया अब वह पूरी तरह से नंगी हो गई थी उनके boor पर एक भी बाल नही था।फिर मै उनकी choot को चाटने लगा वह अपनी चूतड को उछालने लगी। मै उनकी चूतड के नीचे एक तकिया लगा दिया अब boor ऊपर उठ गई थी । मै उसकी choot को चाटने लगा।वह आह आह उफ़ उफ़ करने लगी। मै उसकी choot मे जीभ भी घुसाने लगा।वह आह आह उफ़ उफ़ कर रही थी।वह मेरे लन्ड को पकड़ ली और अपनी choot पर घसने लगी।वह कहने लगी कि लाला अब अपना लन्ड घुसा दो। मै अब अपना लन्ड का सुपाड़ा अन्दर बाहर करने लगा और वह चूतड उछालने लगी । मै भी एक धक्का लगा दिया l भाभी चिल्ला उठी की लाला धीरे से चोदो। मै रुक गया और चूची को चूसने लगा।थोड़ी देर में ही वह फिर अपनी चूतड उछालने लगी मै फिर कस कर धक्का लगा दिया और करीब आधा लन्ड घुस गया और वह आह आह आह उफ़ उफ़ उफ़ करने लगी।बोलने लगी कि लाला तुम्हारा लन्ड बहुत बड़ा और मोटा है। मै पूछा क्या भैया का इतना बड़ा नहीं है क्या।वह बोली की अभी तक तो उसका घुस गया रहता। मै यह बात करते करते फिर कस कर धक्का लगा दिया और इसबार लन्ड को जड़ तक घुसा कर वह आह आह ओह ओह ओह करने लगी।लाला तुम मार दिए । आह आह उफ़ उफ़ आह ओह करने लगी। मै थोड़ी देर उसी तरह रहा फिर लन्ड को निकल कर अंदर बाहर करने लगा। वह भी मजा लेने लगी।वह चूतड को उछालने लगी और आह आह उफ़ उफ़ आह ओह ओह करने लगी।करीब २० मिनट लगातार चोदते रहा वह कहने लगी और कितना देर लगेगा। मै बोला भाभी अभी रुको भी और कस कर चोदने लगा।करीब आधा घंटा की चोदा ई के बाद मेरे लन्ड से बिर्ये निकल गया और उनके उपर लेट गया।थोड़ी देर बाद मुझे हटाई और बॉथरूम से हो आई और अपनी पेंटी ब्रा और सारी पहन ली।और मुझको किस कर ली।और बोली की मस्तराम की किताब ले जाती हूं और रात में दरवाजा खुला रखना । मै पूछा की कैसा लगा भाभी वह बंगला में बोली की खूब भालो।वह अपने रूम में चली गई और मैं लुंगी पहन कर सो गया।करीब ७ बजे शाम मे भाभी उठाई बोली लाला चाय पी लो। मै चाय पीकर बाजार गया और वांहअ से मीट ले आया और एक प्वाइंट व्हिस्की और वियाग्रा का टैबलेट ले लिया क्योंकि आज पूरी रात चोदा ई करनी थी।

रात के करीब १० बजे भाभी मेरे कमरे में आ गई साथ में मीट और रोटी भी ले आई।भाभी उस समय एक पिंक कलर की पतली नाइटी पहनी थी और उनके अंदर का काला ब्रा और पेंटी भी साफ दिखाई दे रहा था। मै उन्हें तुरत पकड़ लिया वह बोली की लाला रुको अभी खाना तो रखने दो रात भर पड़ी है। मै पूछा कि बच्चे सो गए क्या।वह बोली की हां। में उनकी नाइटी को तुरत उतार कर फेंक दिया।अब वह डिजाइनर ब्रा और पेंटी में थी।जिससे उसकी चूची और chut की फांक दिखाई दे रही थी। मै उसे तुरत बेड पर लिटा दिया और उनकी चूची को चूसने लगा।और कस कस कर दबाने लगा ।वह आह आह उफ़ आह उफ़ आह ओह करने लगी थी।चूची को इतना चूसने लगा की ब्रा भींग गया था।वह अपनी ब्रा को उलट दी और मैं उसकी चूची के निप्पल को दांत से कटने लगा।वह आह ओह ओह ओह ओह करने लगी और बोली कि लाला धीरे धीरे से काटो।वह मेरे निप्पल को भी चाटने लगी जिससे मेरा जोश और बढ़ गया लन्ड पूरा फंफना गया था वह मेरी लुंगी को खोल दी और लन्ड को हाथ से पकड़ कर आगे पीछे करने लगी।वह मुझे लेटाकर मेरे लन्ड को मुंह मे ले ली और चूसने लगी।मेरा जोश बहुत बढ़ गया था और मै उसे उल्टा कर लिया अब वह मेरे लन्ड को चूस रही थी और मैं उसकी chut को पैंटी के उपर से ही चाटने लगा। मै उसकी पेंटी को एक तरफ हटाकर उसकी choot मे जीभ डालने लगा।वह आह आह आह ओह ओह ओह करने लगी थी।फिर वह अपनी पेंटी को एक तरफ खिसका कर मेरे लन्ड को अपनी choot मे घुसाने लगी। मै भी जोश में था ही और नीचे से धक्का लगा दिया और लन्ड करीब आधा घुस गया था वह आह आह उफ़ आह उफ़ आह ओह करने लगी थी।कहने लगी की लाला तुम्हारा बहुत मोटा है।तो मैं बोला की मजा नही आ रहा है क्या। अरे वही तो बात है की दर्द मे भी मजा है। में उसकी चूची को दोनो हाथो से पकड़ लिया और दबाने लगा तथा उठ उठ कर चाटने भी लगा। धीरे धीरे लन्ड choot मे घुसता जा रहा था फिर एक धक्का और कस कर लगा दिया और पूरा लन्ड अन्दर choot मे चला गया था।वह जब उठने की कोशिश करती मै उसकी कमर को पकड़ कर नीचे खींच लेता।वह आह आह ओह ओह ओह करने लगी थी।उसके बाद उसे भी मजा आने लगा और वह उपर नीचे करने लगी।मेरा लन्ड उसकी पेंटी से रगड़कर अंदर बाहर हो रहा था जिससे मुझे भी मजा मिल रहा था।करीब २० मिनट की चोदा ई के बाद वह मुझसे चिपट गई मैं समझ गया कि वह झड़ गई थी।दो चार मिनट बाद मैं फिर उसे पलट दिया और चोदा ई करने लगा। करीब १० मिनट की चोदा ई के बाद मैं झड़ गया और मेरा वीर्य उसकी choot मे भर गया। मै लन्ड निकाल लिया।उसकी पेंटी मेरे वीर्य से भींग गया था।वह अपनी पेंटी निकाल  ली और नाइटी डाल ली।फिर थोड़ी देर बाद वह मीट और रोटी निकली मैं व्हिस्की ले के आया था । मै दो ग्लास में व्हिस्की बनाया और एक ग्लास भाभी के तरफ बढ़ा दिया पहले तो वह न nukar कर रही थी।फिर मेरी ज़िद से वह पी गई।दो दो पेग पीने के बाद मटन और रोटी खा लिया और साथ में बिआग्र का टैबलेट भी खा लिया।हमलोग पलंग पर लेटे थे थोड़ी ही देर में मेरे लन्ड मे हलचल होने लगी। मै भाभी की नाइटी भी उतार दिया अब वह और मै एक दम नंगे थे ।भाभी बोली की लाला तुम्हरा तो फिर खड़ा हो गया है। मै बोला भाभी आज रात आपकी boor का भोसड़ा बना दूंगा।नही लाला ऐसा नहीं होगा। मै भाभी की choot मे उंगली करने लगा करते मै उनकी गांड़ में एक उंगली घुसा दिया वह जोर चिंहुक उठी और बोली कि लाला यह क्या कर रहे हो। मैं बोला भाभी मैं आपकी गांड़ मारूंगा।वह बोली नही उसमें बहुत दर्द होता है। मै बोला की कभी गांड़ मरवाई हो तो बोलने लगी की सादी के पहले मेरे मुहल्ले का लड़का मेरी गान्ड में लन्ड डाला था।बहुत दर्द हुआ था तबसे आज तक फिर कभी गांड़ नही मरवाई हूं। मै बोला की चिंता मत करो मै तुम्हें आराम से गांड़ मारूंगा।वह मानने को तयार नही थी फिर खूब खुसामद की तो वह मान गई।में उसको घोड़ी बना दिया और पलंग के सिरहाने लगा दिया।फिर मामी की ड्रेसिंग टेबल से पॉन्ड्स क्रीम निकाल लिया और भाभी की गांड़ में लगाने लगा बीच बीच मे उंगली भी घुसा देता था।जब उंगली गांड़ में जाती थी जो वह चिंहुक उठती थी करीब १० मिनट तक इसी तरह किया अब वह चिंहुकना बंद कर दी।अब मै अपने लन्ड पर पॉन्ड्स क्रीम को अच्छी तरह लगाया। बियग्रा टैबलेट खा लेने से मेरा लन्ड लोहे की तरह कड़क हो गया था।अब मैं लन्ड को भाभी की गांड़ पर लगाया और एक धक्का कस कर लगा दिया लन्ड का सुपाड़ा अंदर घुस गया और चिल्ला उठी की मर गई और साथ साथ खड़ा हो गई जिससे लन्ड निकल गया।भाभी बोलने लगी की लाला मार जाऊंगी तुम्हारा बहुत मोटा है।फिर भाभी को बहुत मनाया और फिर घोड़ी बना दिया। इस्बार उनका माथा को पलंग के सिरहाने और लगा दिया और गांड़ में फिर से क्रीम लगाया और अपने लन्ड पर भी।फिर से लन्ड को गांड़ पर सेट कर कर धक्का मारा लेकिन इस बार मै उनकी कमर को पकड़ कर रखा था।जैसे ही लन्ड अन्दर गया वह चिल्ला उठी लेकिन मै उनको उठने का मौका नहीं दिया और कमर को पकड़कर अपनी तरफ खींच लिया।वह गली बकने लगी की साला बहंचोद मार दिया।जा साला अपनी मम्मी और बहन की गांड़ मार। मर गई मम्मी ओह मेरी गान्ड फट गई। Hindi Sex Stories लाला मेरी गान्ड फट गई अपना लन्ड निकल लो नही तो मर जाऊंगी।मार दिया re । थोड़ी देर उसी तरह रहा ।उसे अब कुछ राहत मिली।फिर मैं एक और धक्का लगाया और मेरा पूरा लन्ड अन्दर घुस गया।वह आह आह आह ओह ओह माई री करने लगी।फिर थोड़ी देर बाद मैं धक्के लगाने लगा।और साथ में उसकी चूची को पकड़ कर दबाने लगा। आधा घंटा तक लगातार चोदता रहा ।भाभी बोलने लगी की लाला गांड़ में जलन हो रही है।अब छोड़ दो थोड़ी देर में मेरा वीर्य निकल गया।और मैं अपना लन्ड निकाल लिया।वह भी एक तरफ लुढ़क गई। गांड़ से वीर्य निकलने लगा था।में भाभी को पकड़कर लेट गया।रात के करीब १ २ बज रहा था।करीब आधा घंटा बाद मेरा लन्ड फिर खड़ा हो गया।यह तो बिआग्रा का कमाल था।भाभी बोली की लाला यह क्या हो रहा है।में बोला रानी अभी देखती जाओ।वह कहने लगी कि नहीं अब नहीं chudwana है।लेकिन मैं कान्हा मानने वाला उन्हें चित लिटा कर चोदना शुरू कर दिया।करीब फिर आधा घंटा बाद मेरा वीर्य निकल गया। मै भी लेट गया ।मुझे नींद लग गई और भाभी भी मेरे बगल में सो गई। करीब ५ बजे नींद टूटी तो मेरा लन्ड  फिर से  खड़ा हो गया था। मै भाभी को पलटी कर चोदना शुरू कर दिया। वह बोली की लाला अब छोड़ दो अब सह नहीं पाऊंगी। मै बोला भाभी की यह लास्ट चोदा ई है।भाभी को करीब  आधा घंटा और चोदा।और उनकी choot मे वीर्य भर दिया।वह उठी और  ब्रा पेंटी पहन ली और नाइटी पहनकर अपने रूम में चली गई।

दूसरे दिन भाभी बच्चे सब को स्कूल भेज दी । मै उस दिन काम पर नहीं गया और फिर भाभी को दिन में भी चोदा। इस तरह करीब १५ दिन तक भाभी को खूब चोदा।वह भी हमसे मस्त हो गई।१५ दिन बाद मामी मामू भैया और बच्चे लोग आ गए।फिर मेरी चोदा ई मे ब्रेक लग गया।

अब नेक्स्ट पार्ट में मामी की चोदा ई के बारे में बताऊंगा

कमेंट करना न भूलें।अगर मेरी कहानी पड़कर पाठिकाओं की choot में उंगली डाल ले और पाठक अपना लन्ड हिलाने लगे तो मैं समझूंगा कि मेरी कहानी अच्छी है

kranjan133@yahoo.com

मेरी पत्नी की चूत की दुकान - Antarvasna Story

माँ और बेटी की चुदाई – 2 | Maa Aur Beti Ko Choda Kahani – AntarvasnaStory.co.in

अभी तक आपने पढ़ा कि कैसे मैं आकाश के पास जाकर अपनी माँ और आकाश के साथ चुदाई करता हूँ। ...
Read More
Best Wife Porn Action Story - बीवी को सड़क पर नंगी चलाया

सब्जीवाले से नंगी चुदाई 🌶 | Sabji Wale Se Chudai Kahani – AntarvasnaStory.co.in

जैसा की आपने पढा था की मा आमिर ओर शोकत से जमकर चुदाई करवा रही थी पिछले दो साल से ...
Read More
Porn Aunty Ko Choda - चाची की बहन ने बेटी के सामने चुदवा लिया

Hot Bhabhi Gand Porn Kahani – प्यासी भाभी की गन्दी चुदाई

Hot Bhabhi Ass Porn Story में, एक हॉट लड़की को अपने माली के मोटे लंड को अपनी कुंवारी गांड में ...
Read More
हमारी पहली चुदाई Part - 2 | Our First Time Fuck - XAtarvasna.com

कॉलेज में मैडम के साथ यादगार चुदाई – Antarvasna Story

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम सुनील है .और ये बात है कॉलेज की जब मई अपना बी कॉम डिग्री कम्पलीट कर ...
Read More
मेरी पत्नी की चूत की दुकान - Antarvasna Story

Valentine Day Sex Story | वैलेंटाइन डे की रोमांचक चुदाई कहानी

हम दोनों मौज-मस्ती करते हैं, आउटडोर सेक्स का अपना अलग तरह का नशा होता है। वह कूद जाती है और ...
Read More
हमारी पहली चुदाई Part - 2 | Our First Time Fuck - XAtarvasna.com

Desi Girl Xxx Chudai Kahani – मौसी की कुंवारी बेटी की चुदाई

देसी गर्ल की चुदाई कहानी में मैंने अपनी मौसी की जवान बेटी की चुदाई की। जैसे ही मेरी कामुक निगाहें ...
Read More

Leave a Comment