दीदी बनी मेरे लंड की दीवानी – Antarvasna Story

प्यार भरा नमस्कार दोस्तो आज आप के लिए एक न्यू स्टोरी ले कर आया हु पढ़ो ये मेरी लाइफ की सारी रियल स्टोरी है 

मै दिल्ली मे पढ़ता हु मेरा नाम कुनाल है 

मेरे मम्मी का मयका लखनऊ के पास गाँव मे है मेरे मर चुके है मामा की २ बेटी और एक लड़का है सब की शादी हो चुकी थी मेरे मामा की छोटी लड़की जिसका नाम अनिता था वो मेरे से बहुत बाते करती थी और मेरे से प्यार करती थी उसकी उम्र उस टाइम 21 साल की होगी मै 24 साल का था उसकी सदी हुई थी लेकिन सदी के बाद जीजा का दूसरी लड़की से प्यार की वजह से सदी २ साल मे टूट गयी थी तो दीदी अपने घर आके रहने लगी थी दीदी मेरे से बाते करती थी प्यार वाली कभी गर्म बाते भी हो जाती थी मै मौके की तलाश मे था की दीदी से मिल सकु मुझे पता था दीदी से मिलूँगा तो दीदी बहुत प्यार करेगी भूखी है antarvasna

धीरे धीरे २ साल निकल गए मौके का इंतजार था 

एक दिन मै गांव गया था मेरा वर्क फ्रॉम होम था तो ममी की काल आया की नाना की बरशि है सब को बुलाया है पापा कभी नही जाते थे ससुराल तो मै घर पर था तो मौका मिला सोचा ये अच्छा मौका है दीदी से मिलने का मैंने दीदी को सम्स किया की दीदी मै आ रहा हु दीदी खुश हुई बोली आजो मै तो तुम्हारा इंतजार कर रही हु 

मै एक दिन पहले नकला घर से दूर था घर मै साम को ७ बजे घर पहुँच गया दीदी देख के इतनी खुश हुई की कुनाल इतने दिन से बुला रही हु आज आये हो 

धीरे धीरे रात हुई १० बाज गया खाना फिर मैंने दीदी की आँखे बहुत नशीली थी मैंने इशारा किया की मै आप के साथ सोऊगा दीदी चल पागल बहुत लोग है कोई देख लेगा तो क्या बोल देना की हम एक दूसरे से बहुत प्यार करते है पागल हो गए हो और इज्जत का नही सोच रहे की क्या होगा लेकिन मै कोशीश करूंगी की तुम्हारे पास सोऊ इतने दिन बाद आये हो मेरे वजह से मिलने सोने का प्लेन सेट हुआ दीदी ने अपना चारपाई मेरे बेड के पास लगाई और लेट गयी मै बेड ओर था जिसे पर ममी और उनका पोता लेता था 

मै मोबाइल चलते १२ बाज गया सब सो गए दीदी जगी थी दीदी ने हाथ चारपाई से मेरे उपर रक्स दिया मै तो इंतजार मे था मैंने दीदी का हाथ पर किस किया और सहलने लगा दीदी आँख बंद कर ली मै पहली बार तो ठोरा शर्म आ रही थी मैंने बेड से दीदी को किस कर दिया दीदी पागल हो कोई देख लेगा मैंने एक नही सुनी दीदी सरमते हुए किस करती रही  दीदी मै तुम्हारे बिना अधूरा हु दीदी की चारपाई पास मे थी मै बेड से उतर  कर लेटने की कोशिश की लेकिन दीदी मान कर देती थी मैंने हाथ लटका दिया नीचे दीदी ने मेरे हाथ को पकड़ लिया और और शलने लगी मै समझ गाय की दीदी देने का मूड है लेकिन डर रही है मै फिर धीरे से जबरदस्ती कर के उनकी चारपाई पर उतर आया वो डर रही थी हम दोनों ने चादर ओढ़ ली और अंदर दीदी के उपर मै दीदी ने सीने पर चिपका लिया और जोर से जकड़ लिया दीदी के बूब्स  छोटे छोटे थे करीब ३२ साइज होगा लेकिन गांड ३४ थी उनकी एक दम गर्म पतली सी वर्जिन जैसी थी की देख कर कोई भी कह देता की चुदी नही है पतली कमर मै आगोश मे दीदी के गले पर किस करता रहा दीदी को गले पर किस करना पसन्द था मै जनता था दीदी बोली की कुनाल बहुत अच्छा मौका आने वाला है बस हो जाए तुम अपने बेड पर जाओ मै बताती हु तुम बेचैन मत हो वो दिन दूर नही है मै तुम्हारी बहो मे होगी  मै बेड पर आ गया और हाथ लटका के दीदी के गाल पर फेरने लगा दीदी आँख बंद कर ली मेरे हाथो को किस करने लगी मै सरमा रहा था तो मै धीरे धीरे दीदी के सलवार के उपर बूब्स पर हाथ रख के फेरने लगा डर भी लग रहा था की दीदी मना ना कर दे कही दीदी ने कुछ नही बोला मैंने धीरे धीरे हाथ अंदर डाल दिया और ब्रा के उपर से छोटे छोटे बूब्स को दबने लगा मुझे लग गया की दीदी चूत मरने को मिलेगी बस इन्ताजार करते एक दिन निकल गया सब होते थे मै ऐसे रूम मे लेटा करता था की जिस रूम मे अधेरा होता था दीदी दिन मे कई बार आती थी और गर्म कर के चली जाती थी दीदी को एक दिन पकड़ लिया और सलवार मे हाथ डाल दिया छोटे छोटे चूत पर बाल थे दीदी गीली चूत थी समझ गया की दीदी गर्म हो आई है प्लान सेट नही हो पा रहा था मै दीदी से लगा हुआ था दीदी ने बोला बाथरूम मे जाओ मै ठोरी देर बाद आऊँगी लेट्रीन घर के बाहर थी मै जा कर खड़ा हो गया दीदी आयी मैंने कुंडी लगा दी अंदर से मैंने पैंट खोल कर थाम दिया हाथ मे दीदी आई कुनाल कितना बड़ा है मै किस करने लगा दीदी सिसकिया लेने लगी मेरा एक तरफ डर भी रहा था की कोई पकड़ न ले दीदी की चूत सहलने लगा दीदी बहुत दिन से भूखी थी दीदी की चूत गीली हो गयी मैंने लंड खड़े खड़े चूत पर तिकाय और हल्का धक्का मारा दीदी चिल्लाने लगी मैंने होठों से जकड़ लिया और धीरे धीरे लंड को घुसा दिया और डर भी लग रहा था दीदी बोली निकालो बाहर इसको चालाते हुए दर्द हो रहा है बाद मे खुल के रूम मे करना खड़े हो कर बन नही रहा है मैंने निकाल लिया की अब दीदी खा लेगी मेरा मैंने चूत पर रगड़ते हुए झाड़ antarvasna story दिया दीदी ने सलवार पहनी चली गयी रात हुई फिर वही सीन दीदी बोली कुनाल बहुत गंदे हो  खड़े घुसा दिया पागल लड़का मेरी बुर पर झाड़ दिया छी खून आ गया था वापस आये तो विसपर लगाया है पैंटी चेंज की है गंदा बच्चा मेरा आराम से किया जाता है खड़े है डरे हुए तुम चोद रहे हो जल्दी झाड़ेगा 

दीदी फिर कब दोगी मुझे मेरी इजाजत मेरी रानी मेरे बाबू टेंशन मत लो १ दिन और भैया जाने वाले है मम्मी बहन घर जायेगी तुम्हारे भरोसे छोड़ कर तब खुल कर राग्लैया होगी मेरी तुम्हारी जी भर के प्यार करना ये सब कम करना बहुत धीरे करना मै दीदी तुम परेसान न हो हर रात उसके बाद तुम को सुहग्रात मिलेगी दीदी अरे मेरे राजा कितना भूखा है तु तब तु इतने दिन बाद आया जब कोई नही होता तब आया कर तो आज ये रात तेरी बहो मे होती और तु मुझे किस कर कर निचोड़ लेता उफ्फ्फ उफ्फ्फ मेरी दीदी निचोड़ लूंगा 

सुबह हुई भैया भाभी निकल गए जॉब पर भईया इस बार भाभी को लेकर जाने वाले थे मेरे से बोले आराम से रुक के जाना और घर का ध्यान रखना मै मन ही मन मे खुश था अब बची ममी दीदी ने ममी को मान कर बोली यही मौका है मम्मी घूम आओ कुनाल है यहाँ वो यहाँ रुक जायेगा आप बोल देना उसको नही तो बोल रहा था की कल चला जाऊंगा ममी को समझ आया ममी मेरे पास आई बोली कुनाल कब जाओगे 

मै – मामी कल जाने की सोच रहा हु 

मामी – बेटा एक हफ्ते रुक जाओ यहाँ मै तुम्हारी मौसी के घर हो आउ 

मै – मामी एक हफ्ता बहुत है मन मे खुशी छा गयी उपर् मन से मना कर रहा था फिर बोला ठीक है ममी आप जाओ 

मामी – मुझे बस तक छोड़ दो 

मामी ने बैग पैक किया मैंने बाइक उठाई और मामी को बस पर बिठा दिया

 फिर दीदी को काल किया दीदी क्या लाऊँ आप के लिए अब बोलो मेरी रानी करो रंगरलिया अपने राजा के साथ 

दीदी – जो तुम को अच्छा लगे वो ले लो और सुनो ५ टैबलेट नींद वाली ले लो 

मै – क्यों दीदी उनका क्या करोगी 

दीदी – बच्चो को खाने मे मिला के दे दूंगी रात भर सोते रहेंगे तुम और मै फिर प्यार करना अपनी तड़पती बीवी को 

मै – मै दीदी मै तुम को बदल बादल ब्रा पैंटी मे देखना चाहता हु और बच्चो के स्कूल जाने के बाद ब्रा और पैंटी मे रहोगी मेरे बहो मे साइज बताओ 

दीदी – सच्ची मेरे पति देव लव यू मेरे राजा तुम जो चाहो जैसे रखना चाहो वैसे रहूँगी मै भी मोटा खाऊँगी मै बहुत खुश हु सुनो गुलाब ले आना सेज सजाऊंगी तुम्हारी साइज है मेरा ३२ ३० ३४ 

मै दीदी के लिए लाल काली पिंक जली वाली ब्रा पैंटी ली और पैरो मे पहनने को जली वाले मोजे लिए जो झंग्गो तक और लाल कॉलर मैक्सी ले ली और विगोरा की गोली  ले और ५ किलो गुलाब लिया घर पहुचा तो दीदी ने गेट आ गए राजा मैंने बहो मे गेट पर ही जकड़ लिया आई राजा इतना क्यों गर्म हो निकाल लेना रात मे मेरी सील तोड़ कर दीदी मेरी बहो मे रहो मुझे नहला दो 

चल बाथरूम मे मै चड्ढी मे था दीदी ने पानी डाला मेरी चड्डी भीग गयी राजा क्यों सरमा रहे आजाद करो लंड को मैंने चड्ढी उतर दी 

दीदी – अरे राजा क्या लंड है तुम्हारा आज फाड़ देगा तु कितना मोटा है अभी तक नही खाया ऐसा लंड तु आज मार देगा मुझे आराम से चोदना मुझे कुवारी चूत है 

 मै – दीदी चूत पर छुआ दो मेरे लंड को 

दीदी – साले भूखे पति चूत तेरे लिए गिफ्ट है मेरी तरफ से जिसके दर्शन रात मे करवाउंगी 

दीदी मेरे लंड को हिलाया यार क्या लंड है सच मे खुश कर देगा  दीदी ने बाल काट दिये झटे मेरी 

मै – दीदी तुम्हारी झांटे तो नही है 

दीदी – राजा तुम आने वाले थे उसी दिन तुम्हारे लिए साफ की थी की राजा आयेगा तो राजा को चूत साफ मिले 

हम लोग नहा के बाहर आ गए अब दीदी किचन मे गयी खाना देने मै पीछे से लंड गांड मे सटा के खड़ा किस करने लगा  बस करो आज रात रंगीन कर लेना अपना लोहा को गर्म रखो कुनाल

मै – दीदी तुम भी बहुत भूखी हो खा लगी आज मुझे 

दीदी – हस्त्ते हुए राजा बहुत मोटा है मै देख कर खुश हु की जिसको प्यार करती हु वो आज मुझे अपनी कुतिया बना के फाड़ देगा मेरी राजा प्रोमिस करो मेरे से मुझे अपनी बीवी समझ कर चोदोगे बाबू और किस करोगे बहो मे भर के और मुझे तड़पाओ और अपना गर्म लोहा तब घुसओ मै जब तड़पते हुए रोने लागू और चिलाउ तब घुसना मै पूरी अपनी जवानी मे ऐसी तड़पी हु मुझे चुदने का सौख नही है मुझे प्यार मिले बस 

मै – दीदी सेज सजा दो रानी सील पैक हो तुम तो कल घुसाया तो मेरा लंड से दर्द हो गया था इतनी टाइट है तेरी बुर 

दीदी – राजा ३ साल हो गए थे तुम से मुझे बहुत सारा प्यार चाहिए 

मै – चलो खाना खाओ आजो मेरी गोद मे 

दीदी – पहले खाना बेड पर रख आओ फिर मुझे गोद मे उठा कर ले चलो 

मै खाना रख आया फिर किचन मे आया दीदी को बहो मे जकड़ लिया आई आई राजा आराम से गिर मत देना मुझे चल पागल इतना दम मेरे लंड मे है तुझे बिठा कर ले जा सकता है सच्ची राजा तो निकालो लंड को बिठा लो अपने घोड़े पर सवारी करवाओ राजा मैने बाहर निकला लण्ड देख कर पागल हो गयी राजा आज रियल मे तु मार देगा मुझे ३ साल की चुदाई एक दिन मे पूरी कर देगा मेरी आजो राजा चूत खोल के रगड़ के आओ दीदी नही राजा पागल हो मेरी चूत ही तुझे गिफ्ट दूँगी मेरे पास बाकी पैसे तो है नही तो ये चूत दूँगी रात मे देखना सजा के दूँगी Hindi sex story

उफ्फ्फ आई अम्मा दीदी इतना प्यार लेकिन तु अपना प्रोमिस मत भूलना चोदना कम तड़पा जयदा है चाटना है पूरी बॉडी मेरी थूक से सान देना गला पर काट काट के खाना मुझे पसन्द है गले को कटवाना 

दीदी मेरे लंड पर आके बैठी सलवार मे घुसा जा राजा था आह आह आह राजा इतना मोटा इतनी दम तेरे लंड मे बैठे के रूम मे आ गयी कुनाल बहुत दिन बाद देखा है मै खाऊँगी तु हर टुकड़े को तुम्हारे लंड पर लगा कर प्रसाद समझ के खाऊँगी

मै – दीदी एक शॉट मार लेने दो रानी अब नही रहा जा रहा है 

दीदी – रात से पहले कुछ नही मुट्ठी मारना हो तो मार दो  मै वैसे अभी तक किसी का लंड नही चूसा है लेकिन तेरा इतना अच्छा तगडा लंड देख के लग रहा है की लालीपॉप की तरह चूसूंगी रात मे 

मैंने दीदी को लंड पर बिठाया और खाना खिलने लगा 

दीदी – पास आओ मै मुट्ठी मार दु तुम्हारी तभी ये संत होगा तेरा नही दीदी रात मे आप की बुर मे भर दूंगा पुरा दीदी तो इसको संत करो 

दीदी खड़ा रहने दो ना क्या मतलब है दीदी बोली नही राजा खड़ा देख के मै गर्म हो जाऊंगी की चोदने को तैयार है खा लू 

मै – तो दीदी खा लो 

दीदी – तेरे लिए सेज पर रगड़ कर धीरे कमरे ससिसकिया निकले

साम हो गयी मै रात का इंतजार करने लगा तब तक भईया के बच्चे स्कूल से आ गए साम के सात बज चुके थे मै बच्चो के साथ बाते कर रहा था 

मै – दीदी यहाँ आओ 

दीदी – हा कुनाल बोलो 

मै – दीदी कान मे बोला की दीदी खाना खिला दो बच्चो को नींद की गोली मिला देना खाने मे और बैग मे मेरे आप के लिए कुछ है 

दीदी ने भाग के बैग के खोला बैग मे ब्रा पैंटी देख दीदी इतनी खुश हुई मेरे पास आयी और बोली की कौन सी पनवोगे मुझे किस मे देखना है मै कान मे जवाब दिया लाल ब्रा लाल पहनो और पैंटी काली और मोजे लाल झनघो तक उपर से मैक्सी पहन के आना धीरे धीरे रात के ८ बज गए थे मैंने दीदी से बोला दीदी बच्चो को खाना खिलाओ हा कुनाल दीदी ने खाना लगया हम सब ने मिल के खाना खाना खाया भईया के दोनों बच्चे एक रूम मे पड़ते हुए कब सो गए पता ही नही चला दीदी अपना तैयार होने लगी लिपइस्टिक लगाई लाल मेरे बताई हुई ड्रेस पहनी मुझे सम्स किया अंदर आजो बच्चो के रूम को बाहर से लॉक कर दो जिस से कोई बाहर न आ सके मै झट से रूम मे गया तो देखा बेड पर गुलाब पड़े थे सेज सजी थी क्या बाजार था मेरा लंड सोच के फुफ्कारी ले रहा था मैंने दीदी को सम्स किया आजो कहाँ हो अरे बाबा पूरी रात है तुम्हारी इंतजार करो बस अब वो टाइम आ गया है 

३० मिनट बीत गए दीदी नही आयी मैंने आवाज मारी दीदी आओ नही तो लंड मेरा पिचकारी मार देगा दीदी अच्छा आ गयी गेट खोलो मै गेट खोल दिया दीदी ने लाइट जला दी दोस्तो क्या नजारा था दीदी के हाथ मे दो ग्लास दुध और विगोरा की गोली केला और बदाम थी यार मै देख कर पागल हो गया 

दीदी – क्या हुआ कुनाल क्या देख रहे हो 

मै – दीदी पहली बार इतनी सैक्सी पतली कमर ऐसी सजी लड़की जो मेरे लिए सुहागरात मनाने आई हो मेरा तो फेक देगा अब नही रहा जा रहा है मेरे से 

दीदी – बाबू फेक दो मै खड़ा कर लुंगी लो दूध पियो विगोरा खाओ ५०० और चड़ो अपनी रानी पर पूरी रात मेरी कसर निकल दो ३ साल की इतना चोदना दीदी को अपनी 

मैंने दूध पिया विगोरा खा लिया दीदी पास आ गयी और लेट गयी मेरी बहो मे कुनाल मेरे पति देव कितना तड़पाय है तुम ने मुझे मै मोबाइल मे तुम्हारी पिक को अपनी चटवाती थी और उगली डालती थी 

मैंने दीदी को आगोश भरा और अपने उपर् खीच लिया आई आराम से राजा फूलों की सेल है मैंने मैक्सी खोल दी दीदी की उफ़ दोस्तो छोटे बूब्स किसी ने नही दबाये थे मैन दीदी को गोद मे बिठाया और गले पर किस करने लगा उम्म उम्म उम्म चाटने लगा दीदी आँख बंद कर ली और मेरा मुह को दबने लगी उफ्फ्फ मेरे पति ऐसी ही चुदाई की भूखी हु आह आह मेरे लाल मै १० चाटने के बाद एक हाथ बूब्स पर रख कर सहलाने लगा अब दीदी जोस मे आने लगी उफ्फ्फ उफ्फ्फ मुझे आगोश मे भर कर अपनी तगो के बीच मे ले लिया खां लो आज मुझे राजा मै जोस मे चढ़ते हुए उफ्फ्फ मेरी रानी बूब्स को दबने लगा उफ्फ्फ उफ्फ्फ मेरे लाल आई आई निचोड़ लो मेरे बूब्स को होठों से होठो को मिला कर चाटने लगा दीदी अब चरम सीमा पर गर्म हो चुकी थी मैंने अब धीरे धीरे नीचे आने लगा दीदी आँख बंद कर के सिसकिया लेने लगी उफ्फ्फ उफ्फ्फ आह सी सी उफ्फ्फ आई मैंने बूब्स पर टूट पड़ा और ब्रा के उपर् से जोर जोर दबने लगा उफ्फ्फ आई मेरे लाल ब्रा से आजाद कर दो बूब्स को मेरे 

मैंने दीदी को हल्का उठाया बहो मे भर के हुक खोल दिया यार दोस्तो दीदी के निप्पल खड़े थे जो बता रहे थे की दीदी गर्म है मै लिटा कर दीदी को बूब्स पीना शुरू किया ३० मिनट तक बूब्स पीते हुए दीदी चिलालने लगी आई राजा कितना तड़पोगे मुझे चोद दो अब नही चाहिए कुछ भी आई आई राजा उफ्फ्फ उफ्फ्फ गीली हो रही हु झाड़ गयी हु आह उफ्फ्फ मै बूब्स पिता रहा 

दीदी – आह आह मेरे पति देव अहहा आआआअ हाईई में मर गइईईईई अहहा मम्मी…मम्मी…..सी सी सी सी.. हा हा हा …..ऊऊऊ ….ऊँ…ऊँ…उनहूँ उनहूँ..काट कर खा जाओगे क्या कल भी चोदना है   उफ्फ्फ 

मै समझ गया एक अब लोहा गर्म है तैयार खाने को दीदी जोस चड गया दीदी ने मुझे धक्का मार के गिरा दिया और लंड पर टूट पड़ी लंड निकला बाहर दीदी आई मेरे भूके पति जदियाल लंड है तेरा बोल कर मुह मे घुसा लिया आह उफ्फ्फ कितना मोटा है कहाँ से इतना बड़ा किया घुस भी नही रहा है मै जोस मे पहली चुदाई थी दीदी को अब मैंने धक्का मारा दीदी को बेड पर लिटा दिया और मुह खुला था दीदी का मैंने बाल पकड़े और मुह मे धास् दिया घोड़े को अपने आई राजा मर गयी मैंने मुह मे ५ मिनट तक घुसा के रखा दीदी के आशु आ गए साले इतना मोटा लंड है तेरा मैंने गांड पर चटा मारा जोर से उफ्फ्फ आई पिटाई मेरी गांड की गोरी गांड खा ले मेरी मैंने पैंटी उतरी उफ्फ्फ दोस्तो चूत देख कर गोरी चूत चूत पर लिपस्टिक लगी थी परफुम पड़ा खुशबू पूरे रूम मे फैल गयी सजी चूत देख कर मै पागल हो गया गुलाब सेज से उठा कर तोड़ कर चूत पर फैला के सजा दिया 

दीदी – क्या कर रहा मार दे चूत मे मोटा हथियार अपना सजा के क्या करेगा 

मै – दीदी तेरी चूत पिऊंगा रानी तेरी सजी चूत मेरे लिए लव यू रानी मेरी 

मैंने चूत पर मुह रखा दीदी तड़पने लगी आह राजा क्या करोगे आज मेरी चूत के साथ चिल्लाने लगी और रोने लगी आह राजा बस करो मेरे पति मुझे सुसु आने लगा है तेरे मुह लगते 

मै – तो कर दे सुसु पिला दे सुसु अमृत है पिला दे

दीदी – नही राजा तुम पति हो मै रंडी ठोरी हु हा लग रहा है आज तु रंडी बना देगा मुझे 

मै दीदी करो न सुसु मुझे पीना है सुसु 

दीदी – ठीक है मुह खोलो 

मैंने मुह खोल दिया दीदी आह आह ले पी ले मेरी सुसु तेरा अमृत मै सारा मूत पी गया चूत से मुह नही हटाया मैंने जीभ घुसने लगा चूत मे उफ्फ्फ आई आई आई राजा उफ्फ्फ बस करो उफ्फ्फ ओ ए क र् व उफ्फ्फ आई खा जायेगा क्या आज मार ले साले दीदी उठी मेरे मुह को अपनी चूत मे घीसाने लगी ले साले अब झाड़ रही हु उफ्फ्फ आह आह मेरे पति देव अहहा आआआअ हाईई में मर गइईईईई अहहा मम्मी…मम्मी…..सी सी सी सी.. हा हा हा …..ऊऊऊ ….ऊँ…ऊँ…उनहूँ उनहूँ..झाड़ दिया साले मुझे मै चूत पीता रहा उफ्फ्फ उफ्फ्फ मेरे लाल इतना प्यार मेरे चूत से उफ्फ्फ मेरे पति धीरे १ घंटा हो गया चाटते हुए मेरा लंड को विगोरा का अब भयंकर जोस चडा मैंने बाल पकड़े दीदी के खीच लिया और मुह मे लंड घुसा दिया और झटके मरने लगा उफ्फ्फ क्या जंनत मिल रही थी मेरा लंड थूक से सन गया था 

मैंने तागे जोस मे फैलाई और चूत पर लंड रख दिया दीदी पागल हो गयी लंड रखते मै लंड को रगड़ने लगा उफ्फ्फ उफ्फ्फ आई अम्मा आज मिली चुदाई का सुख तु मुझे पत्नी समझ के चोद चिलालने लगी घुसयेगा या तड़पा के मार देगा अब मै बी चूत के छेद पर थूक गिरा दिया और सेट किया दीदी मोटा है धीरे धीरे घुसना और आगोश मे आ जाओ चलो दीदी ने हाथ फैला दिया मैंने हल्का धक्का मारा दीदी उछल गयी उफ्फ्फ उफ्फ्फ आई मार दिया उफ्फ्फ निकल ले बाहर नही चुदना तेरे से उफ्फ्फ मार दिया मेरी चूत उफ्फ्फ मैंने एक नही सुनी और दूसरा धक्का हल्का मारा उफ्फ्फ साले फाड़ दी तूने उ उ आई उफ्फ्फ मेरे लाल मेरा लंड बीच मे रुका था मैंने दीदी की टागे हाथो मे जकड़ ली मैंने सोचा की दीदी दर्द सहन नही कर पायेगी उपर खिसकेगी जिस से लंड बाहर आ जायेगा उस से पहले मैंने टागे अपनी बहो मे भरी और लंड को पेल दिया दीदी रोने लगी छोड़ दे मेरे पति मार दिया तूने मुजग

दीदी – आह आह मेरे पति देव अहहा आआआअ हाईई में मर गइईईईई अहहा मम्मी…मम्मी…..सी सी सी सी.. हा हा हा …..ऊऊऊ ….ऊँ…ऊँ…उनहूँ उनहूँ..मर गयी आज राजा उफ्फ्फ मेरे पति चूत फाड़ दी तुने खुन आ रहा रहा निकाल ले बाहर 

मै दीदी बोलती चुप करने के लिए लंड घुसा के उपर लेट गया और होठों के दीदी को खाने लगा मुझे पता था दीदी चिलायेगी जब मै चोदना शुरू करूँगा मैंने होठों को चाटता रहा ५ मिनट तक दीदी संत हुई अब मैंने कमर चलने लगा दीदी ऊ उफ्फ्फ आई जैसी आवाज निकालने लगी मैने स्पीड बड़ाई दी दीदी जोर जोर चिलाने लगी मैंने होठो से होठों को लगाया और खाने लगा नीचे फच् फच् की आवाजे गुजने लगी दीदी झाड़ने लगी मेरा लंड गिला हो गया और आवाजे जोर जोर से आने लगी विगोरा का जोस मै होठों को कटने लगा और स्पीड इतनी तेज कर दी चुदाई की दीदी रोने लगी मै चोदता रहा दीदी के होठों को चुस्ता रहा दीदी चिल्ला नही पा रही थी मै चोदते हुए सांस नही ले रहा फटके मारता रहा ३० मिनट हो गया दीदी रोती रही मै दीदी को चुप करते जोस मे दीदी रोते हुए चुद रही थी बोल पा नही रही थी मैंने गले पर किस करने लगा उम्म उम्म उम्म और अब लंड को रोका और गले पर किस करने लगा फिर बूबस् को मुह मे भरा और जोर से झटका मारा दीदी आई आई अम्मा मार दिया तूने मुझे दीदी कमर उठने लगी मै समझ गया दीदी चुदने को राजी है मै झटके की स्पीड बड़ा दी फिर दीदी साले कब झंडेगा तेरा दीदी निकालने वाला है निकल दे चूत के अंदर मेरे मैंने स्पीड मे ५ झटके मारे और झाड़ गया अंदर ही और दीदी के उपर् लेट गया दीदी बाल को सहलने लगी उफ्फ्फ मेरे पति देव तु कितना जालिम मर्द है मै रो रही थी तु ठोक रहा था मुझे कितना भूखा है तु  हा दीदी बरसो बाद पहली बार चूत मारी है मेरा लंड दीदी की चूत के अंदर था दीदी की चूत ढीली हुई मेरा लंड बाहर आ गया हम दोनों नंगे बहो मे भर लिया 

दीदी – तु अब प्रोमिस कर ऐसे नही चोदेगा अब सिर्फ घुसा के मुझे छटेगा तड़पा तड़पा कर धीरे झटके मरेगा 

मै – ठीक है दीदी गांड मारने दोगी मुझे 

दीदी – चल साले चूत मार चूत की भूख पूरी करो गांड मिल जायेगी तुझे गांड किसी को नही दी है मैंने सिर्फ तुम्हारे लिए है ये सिर्फ मैंने दीदी को किस किया लव यू रानी 

लव यू टू बाबू मेरे पति देव हम दोनों एक दम नंगे एक दूसरे को आगोश बहो मे भरे  हुए प्यार की बाते करते रहे 

दीदी – राजा ऐसी बाते करो अपने लंड को चूत मे डाल कर धीरे धीरे चोदते हुए मेरी चूत मेरी चूत की भूख को धीरे धीरे मिटाओ ऐसे मत चोदो की मै रोती और तुम बेरहमी से चूत मरते रहो मै खुद जोर जोर से कमर चलूँगी पुरा जोश है मेरे अंदर 

मै – दीदी वर्जिन लंड खाने को मिला है जिसके लिए तुम तड़पी हो तो जोर जोर इस लिए चोदा की तुम्हारी भूखी चूत को फाड़ दिया 

दीदी – राजा तूने तो इतना रोते हुए चूत मारी मेरी उठने की हिम्मत नही है राजा मेरा सपना है अगर सच कर दो 

मै बोलो दीदी क्या सपना है तेरा 

दीदी – तु मुझे चूत मार मेरी इतना प्यार से ले की चूत के अंदर डाल के रख जब तक भैया और भाभी मम्मी आ न जाये मै तेरे लंड की चुदाई का दीवाना बना दिया रोती हुए चूदी हु लेकिन भूखी हु मै चाहती हु तेरे लंड से चूत को निकल मत घुसा के रख फिर गांड दूँगी वर्जिन गांड लेकिन आराम से घुसायेगा समझे अपनी बीवी की तरह लंड को ऑयल मे डाल कर बाबू घुसओगे मालिश कर के गांड मे मै तड़पु तेरे लंड के लिए 

मै – सच्ची दीदी 

मैंने बहो मे झकड लिया और पीना शुरू कर दिया दीदी बगल चाटने लगा उई उई आई राजा गुद गुदी होती है बहो मे दीदी लो आ गया दीदी टागे खोलो ले राजा खोल ले मेरी टागे मैं बेड पर बैठे गया दीदी ने टागे उठा दी लो राजा क्या प्लेन है राजा अलग तरह से चोदने का प्लेन है क्या राजा रानी परेसान न हो इतना प्यार से चोदुगा की चूत मेरे गर्म रोड को गली फच् फच् हो रानी उफ्फ्फ मेरे लाल मैंने दीदी की टागे खोल कर उठा दी और अपने कंधे पर रखी दीदी हाथ दो दीदी ने बाहों को फैला दिया ले राजा तेरी रानी मैंने हाथ पकड़े और दीदी को कंधे पर बिठा लिया उफ्फ्फ उफ्फ्फ मेरे शेर ऐसे कौन चूत चाटता है मैंने दीदी की चूत खाने लगा दीदी तड़पने लगी मै खड़ा हो कर दीदी को दीवाल के सहारे तड़पने लगा दीदी चिल्लाने लगी 

दीदी – उफ्फ्फ आई आई आई राजा उफ्फ्फ बस करो उफ्फ्फ ओ ए क र् व उफ्फ्फ आई खा जायेगा क्या आज मार ले साले  उफ्फ्फ आह आह मेरे पति देव अहहा आआआअ हाईई में मर गइईईईई अहहा मम्मी…मम्मी…..सी सी सी सी.. हा हा हा …..ऊऊऊ ….ऊँ…ऊँ…उनहूँ उनहूँ..बाबू कितना खायेगा मेरी चूत उफ्फ्फ मेरे शेर उतार नही तो झाड़ने वाली हु गिला हो जायेगा तेरा बदन 

मै – झाड़ दो लेकिन रोको मत आज खा लेने दो बुर तेरी उफ्फ्फ क्या टेस्ट है सुसु भी कर झाड़ते हुए दीदी ले कुत्ते तु चाहता है तो ले दीदी मेरा सर घुसने लगी और चिलाने लगी साले मार देगा तु आज उफ्फ्फ आई उफ्फ्फ ये मेरी मैया खा गया मेरी चूत का भूखा मेरा आदमी आह ले पी मेरे लाल ले दीदी झाड़ने लगी उफ्फ्फ मेरा मुह गिला होने लगा आऐ उफ्फ्फ  उफ्फ्फ आई आई आई राजा उफ्फ्फ बस करो उफ्फ्फ ओ ए क र् व उफ्फ्फ आई खा जायेगा क्या आज मार ले साले दीदी उठी मेरे मुह को अपनी चूत मे घीसाने लगी ले साले अब झाड़ रही हु उफ्फ्फ आह आह मेरे पति देव अहहा आआआअ हाईई में मर गइईईईई अहहा मम्मी…मम्मी…..सी सी सी सी.. हा हा हा …..ऊऊऊ ….ऊँ…ऊँ…उनहूँ उनहूँ..झाड़ गयी सुसु करने लगी दीदी ने सब कर मारा मै उपर से गिला हो गया अब तो उतार दे दीदी को उतार दिया नीचे फर उतर के कमर पकड़ी और उल्टा उठा लिया दीदी की बुर पर मेरा मुह और मेरे लंड पर दीदी का मुह दीदी को कस के जकड़े हुए हाथो मे भरा हुआ उफ्फ्फ मेरे पति देव कहाँ से सिख के आये हो आई गिरना मत मैंने नगी दीदी को उलाटा जकड़ लिया और दीवाल के सहारे मुहू खोल मेरी कुतिया लंड खड़ा है चूस मेरी लालीपॉप को उफ्फ्फ दीदी की बुर फिर चाटने लगा दीदी मेरे लंड को हाथो मे थाम कर मुह मे घुसने लगी आई राजा मोटा तेरा लंड क्या लंड है दीदी को दीवाल सहारे थी मुह खुला झटका मार दिया आई आई इतना मोटा उ ऊ उ ऊ पीने लगी दीदी अब झाड़ दूँगी तेरा पियूंगी मै भी चोद मेरे मुह को मै बुर चाटते हुए झटके मरने लगा तेरा लंड खा जाऊंगी दीदी गर्म फिर से हो गयी दीदी बाबू अव घुसा दो एक घंटे से जयदा हो गया है अब और मत तड़पाओ मुझे  दीदी आह मेरे लाल भूखे पति को मिली भूखी चूत मेरी उतार दे अब कितना खायेगा मेरी बुर को 

मैंने दीदी को उतरा और बेड पर दक्का मार दिया दीदी ने टागे और बहे खोल कर बुलाने लगी आजा मेरा भूखा पति टूट पड़ मेरी भूखी चूत पर दीदी अपनी बुर को रब कर रही गीली चूत दीदी की क्या नजारा था लाइट जला दीदी यार दीदी इतनी गोरी थी मेरा देख के खड़ा था उफ्कारी लेने लगा मै कूद कर बेड पर बैठ के दीदी की गोरी टागे एक पकड़ी और चाटना शुरू कर दिया पैरो को दीदी आँख बंद कर चूत को सहलाते हुए राजा कितना खाओगे मेरी टागे बुर को मेरी इतना चाटा है की इतने दिन मे कोई चाटता मेरी बुर को दीदी उफ्फ्फ उफ्फ्फ उपर आओ मेरे टागे खोल कर दीदी घोड़ी के जैसे धरवाने को चूत खोल दी मैंने फिर मुह लगा दिया अब दीदी बाल पकड़ लिया ले साले खा ले इसको यही चाहता है तु मेरी बुर को खाना खा आह आह आह आह आह उफ्फ्फ उफ्फ्फ आई आई पेलो राजा कितना करोगे मै जोस से पागल हो कर दीदी को उठा के पेट के बल पटक दिया अब गाड़ पर टूट पड़ा दोनो हाथो से सहलाते हुए चाटा मारते हुए गांड को चाटने लगा आह ये गांड बेबी तुम्हारी उफ्फ्फ राजा आई आई उफ्फ्फ चाटा मत मारो दर्द होता है मै चाटे मरते हुए बहो मे भरा और उठा के सीधा लिटा दिया चूत पर टूट पड़ा राजा कितना चटोगे झाड़ जाऊंगी तब डालोगे उफ्फ्फ उफ्फ्फ आई बालों को पकड़ के घुसने लगी चूत पर उफ्फ्फ आई राजा आई कितना जालिम मर्द है तु तड़पा रहा है मुझे मार देगा क्या मुझे लंड के तड़पती मारूंगी साले चोद मुझे अव नही रहा जा राजा है मैंने दीदी के जोस मे बाल पकड़े ले अब लंड खां मेरा घुसा दिया उफ्फ्फ मेरे पति देव कितना खिलोगे मुझे लंड को चूत को खिला मोटा केला अपना बूब्स दबने लगा साले चूत मे डाल कर बूब्स पी मेरे और धीरे धीरे बुर मार मेरी राजा मै जोस मे होस खो बैठा दीदी टागे खोली और गिला लंड दीदी के सुपडे पर रख कर रगड़ने लगा क्या दोस्तो जन्नत थी बुर उसकी दीदी गांड चलने लगी डाल साले

मैंने खड़ा लंड तिकाय और पेल दिया दीदी के छल से आशु आ गए मै समझ गया दीदी 

दीदी – आह आह मेरे पति देव अहहा आआआअ हाईई में मर गइईईईई अहहा मम्मी…मम्मी…..सी सी सी सी.. हा हा हा …..ऊऊऊ ….ऊँ…ऊँ…उनहूँ उनहूँ. साले हरामी एक दम से डाल दिया रंडी हु क्या तेरी मैं 

मैंने लंड घुसा के रोक दिया और दीदी को बहो मे जकड़ लिया आजो दीदी गुस्सा न हो मेरी रानी मैंने होठो पर किस किया आई राजा उफ्फ्फ मेरे पति देव ३ बार झाड़ चुकी हु ऐसे डाल कर मुझे इतना चाटो मेरे होठों को बूब्स को गीली करो मुझे मैंने लंड को घुसा के दीदी के गर्दन पर पहुँचा किस उम्मह उम्मह मेरे रानी दीदी इतनी गर्म आगोश मे भर कर झकड लिया पी मेरी जवानी मेरे पति देव भूखी हु मैंने धीरे से कमर चलने लगा उफ्फ्फ उफ्फ्फ आई राजा ऐसे मेरे लाल पियो उफ्फ्फ आई मेरे पति गले को चाटते हुए १० मिनट हो गया दीदी बहो मे जकड़े हुए छोड नही रही थी मै धीरे धीरे कमर चलने लगा आई राजा ऐसे पेलो मुझे ऐसे चुदना पसन्द है मेरे पति उफ्फ्फ कमर  ऐसे चलाओ की चूत भी चुदे तो मोटा लंड की थकोकर न लगे मैंने होठों को पीने लगा उडफ आई उफ्फ्फ आई उम्मह उम्मह उम्मह मेरे पति देव पियो मेरे लाल आई उफ्फ्फ ठुक चाटने लगा उम्म उम्म उम्म गिला कर दिया उफ्फ्फ आई मेरे लाल आई उम्म उफ्फ्फ धरे धीरे कमर तेज की उफ्फ्फ बस इतना तेज रखो चलते रहो उफ्फ्फ आई आई आई उफ्फ्फ होठों कटने लगा जोस इतना था दीदी को मार दु चोदते हुए उफ्फ्फ उफ्फ्फ दीदी तेज थी जकड़े हुए थी बहो मे मैंने कमर की स्पीड बड़ा दी आई आई आई उफ्फ्फ राजा घुसा के रोक रोक के चोदो लंड एक है पोजितिओं मे उफ्फ्फ आई आई बूब्स बड़ने लगा पीने लगा नीचे फटके मरने लगा अब ३० मिनट हो चुके थे दीदी झाड़ने वाला है मार ले तेज झटके झाड़ दे अंदर मेरे उफ्फ्फ मैं जोस मे दीदी की कमर पकड़ी फुल ताकत से झटका मार दिया 

आई आई मेरे लाल फाड़ दी तूने चूत उफ्फ्फ मेरे शेर तेज चुदाई स्टार्ट की रूम मे फच् फच् की आवाज आने लगी दीदी अपनी बतीजी की दिलवा दो मोटे बूब्स है उसके तुम से बड़े वर्जिन है वो लंड खिला दो मेरा साले मार देगा तु उसको रहने दे मै तेरे से बड़ी हु तो तुम मुझे मार दोगे तो उसका क्या हाल होगा मैंने झटके मरते झाड़ गया दीदी अब चूत नही दूँगी दम नही बची है मेरे 

मै – दीदी २ राउंड और मारूंगा दीदी 

दीदी – राजा नही माँ जाओ मेरे पति पूरे हफ्ते चोदना मुझे डेली एक दिन मे कसर मत पूरी कर आराम आराम से चोद कल गूगल से तरह तरह की पोजीसन सिख फिर चोद 

मै  – दीदी तुम सो जाओ मै तुम को स्लीपिंग बहन चुदाई कर लूंगा

राजा – पागल है क्या तु मेरी पीता बहुत है इस लिए परेसान हु तेरे से मेरी बुर को कटता है उसमे २ घंटे लगा दिये बुर बुर कितना पियेगा उपर पीने वाला होठ बूब्स वो खा ले नीचे ५ या १० मिनट बहुत है

मै – अच्छा ठीक है दीदी बहो मे आओ मेरे मेरी बिवी 

दीदी – आह राजा ले भर ले अपनी बीवी को नंगी लेटी है भर ले बहो मे आह तेरा लंड दीवाना बना दिया मुझे तूने 

मैंने दीदी को चिपका मै बोला दीदी आँख बंद करो ले मेरे पति देव बंद कर ली दीदी को बड़ी चोकलेट  दी खोलो आँख उफ्फ्फ मेरे पति देव लव यू 

दीदी – मेरे पति देव ये चोकलेट को मेरे नंगी शरीर पर रखो और भूके की तरह खाओ मेरे पति उफ्फ्फ 

मैंने दीदी को पकडा और भूखे की तरह टागे फैला दी और बुर पर लंड रगड़ते हुए दीदी के उपर आ गया अपने मुह मे चोकलेट दबाई और दीदी के होठों पर रगड़ने लगा उफ्फ्फ मेरे पति देव अपने होठों को खाओ मै भूके की तरह होठों को पीने लगा उफ्फ्फ दीदी क्या जवानी है तेरी आई  गर्म शरीर तेरा दीदी जोस मे गर्म चूत पर लंड रगते हुए खड़ा होने लगा उफ्फ्फ राजा तेरा तो तैयार हो गया है मुझे भी तैयार कर मेरी चूत लेगी कितना चोदेगा मुझे 

मै – दीदी सपने मे बहुत चोदा है आज जब लंड को चूत मिली है तेरी तो जम के चोदने दे आई राजा मै जोर जोर होठों को खाने लगा आई राजा उफ्फ्फ बेबी आई जकडो जितना दम हो 

मैंने बूबस् पीने लगा जोर जोर से दबने लगा आई आई उफ्फ्फ मेरे पति देव खा लो ओ आई उफ्फ्फ मेरे पति मैंने खाता रह बूब्स तन गए मेरा लौडा खड़ा हो गया उफ्फ्फ आई आई रे मेरे पति आई सी सी आआआअ हाईई में मर गइईईईई अहहा मम्मी…मम्मी…..सी सी सी सी.. हा उफ्फ्फ खा ले मेरी जवानी उफ्फ्फ मै भूखा लंड अब उठा दीदी के पेट पर बैठे गया अब दीदी मुह खोलो पेलना है आ आ पेलो राजा खा लुंगी काट कर मेरे पति रात के ३ बज रहे थे राजा अब ये लास्ट है पूरी दम लगा देनी है इस चुदाई मे ऐसा बना दे की कल सुबह मै चलने लायक न राहु इतना गर्म कर दे एक घंटे चूत मार मेरी फूल ताकत से दीदी बोल तो गयी गर्मी मे लेकिन उनके साथ क्या होगा जब मै एक घंटे लंड बजाऊंगा तो उनकी गांड बुर दोनों antarvasna की माँ बहन एक हो जायेगी मै फुल जोस से दीदी को उल्टा लिटा कर रगड़ने लगा  गांड की चाटने लगा आई  आई आह आह मेरे पति देव अहहा आआआअ हाईई में मर गइईईईई अहहा मम्मी…मम्मी…..सी सी सी सी.. हा हा हा …..ऊऊऊ ….ऊँ…ऊँ…उनहूँ उनहूँ. ओह आह आई दीदी उफ्फ्फ माँ खां जा आज आई 

मैंने दीदी जकड़ लिया बहो मे उफ्फ्फ आई अब क्या करोगे राजा मैंने दीदी गांड सहलाते हुए चाटे मार रहा था उफ्फ्फ कितना मरेगा ३ बज गया है जकड़ ले चोद डाल बुर और गांड मरेगा तो कंडम लगा के मरेगा कॉंडम मे ऑयल लगा के  अच्छे से तब पेलेगा मेरी गांड मे तेरा मोटा है मै गांड मे लेना चाहती हु और कल मेरे साथ नहाना 

मै जोस भरा मै बेरहमी बसे बाल पकड़े और बेड पर खीचते हुए लंड को दीदी के मुह पर मरने लगा आह राजा कितना मोटा है तेरा ले जी भर के मार ऐसे ही  तो चुदना था मुझे पता था की राजा मेरी बरसो की भूख को अपना वर्जिन लंड देगा  आई राजा मेरे पति अब और नही रहा जा रहा है दीदी ने धक्का मार दिया और मै बेड पर गिर गया दीदी मेरे खड़े लंड पर टूट पड़ी उफ्फ्फ मेरे छोटे  पति देव बहुत भूखे भो मुझे अपना जूस पिलवा दो मेरे छोटे पति दोस्तो मैंने कभी नही सोचा था की दीदी इतनी चुदकाकड़ निकलेगी दीदी खड़े लंड पर अपनी चूत लगा दी मै दीदी को चोदना नही चाहता था मै सुबह तक दीदी की विष पूरी करता चाट चाट के दीदी मोटा लंड खाने को सेट कर बैठे गयी लंड पर आई आई आह आह मेरे पति देव अहहा आआआअ हाईई में मर गइईईईई अहहा मम्मी…मम्मी…..सी सी सी सी.. हा हा हा …..ऊऊऊ ….ऊँ…ऊँ…उनहूँ उनहूँ. ले मेरे पति देव अब मै खुद कूद कूद कर खाऊँगी लंड तेरा दीदी कुदने लगी गांड घुमा घुमा के चिल्लाते हुए चोद राजा 

मै दीदी तुम को चोदना नही चाहता हु मै तुम को तड़पना चाहता हु रानी जब तु दिन लंड के बेताब हो जाए और मेरे लंड पर बैठे और मै तुझे पूरे घर मे हर जगह पेलू  बुर तेरी फाड़ दु पेल कर 

दीदी – आह राजा ले उतर जाती हु लेकिन एक राउंड तगडा सा मार दे मेरी चूत पर मेरी चूत फिर से गर्म हो गयी है वैसे मार जैसे तूने पहला राउंड मारा था मै रोती राहु और तु गली दे दे कर पेलता रहे मुझे एक राउंड राजा चूत मेरी बेताब है फिर लंड को बर मे डाल कर सो जान तुझे दिन मे मै सोने से नही रोकूंगी सो लेना बहो मे मै भी सोऊँगी तेरे बाथरूम मे चुदाई करना तेरे लंड पर बैठे के खाना बाउंगी और तेरे लंड पर बैठे कर खाऊँगी और तेरा लंड डाल कर सो जाऊंगी 

रात मे १२ बाजे फिर से हम बेड पर सेज पर तुझे दुगी 

मै – क्या दीदी इतनी भूखी है रानी तुम आजो रोकना मत मुझे अब जम के चोदना है मुझे 

दीदी – ले मेरे भूखे मर्द चडा दे घोड़े को अपनी घोड़ी के उपर और इतना पेल दे की मै मना करू और बेरहमी से पेलता रहे मुझे 

मै – आजा मेरी घोड़ी

दीदी दोनों घुटने और हाथो पर बेड पर चलते हुए मेरे तगो के बीच मे आ कर मेरे लंड पर मुह लगा दिया मै लेटा हुआ आँख बंद कर ली दीदी लंड को तैयार करने लगी आह मेरे पति कितना बे रहम है इतना पेलता है रुला देता है तु 

दीदी ने बूब्स पकड़े और बूब्स को को मेरे लंड के भीच मे रख कर बूब्स को चुदवाने लगी मानो जंनता मिल रही थी मेरा लंड इतना फुफ्कारी लेने लगा मैंने दीदी को बेड के किनारी पर घोड़ी बना दिया दीदी की गांड गोरी गांड को सहलाया और लंड पर थूक लगा के घोड़ी बनी दीदी के चूत पर सेट करने लगा दीदी डाल साले फाड़ दे अब मैंने ये बात सुनी तो जम जोर से झटका मारा मेरा लंड स्लिप हो गया दीदी हसने लगी साले चूत पर टिका सही से फिर इतनी ताकत लगा ला मै सेट करू दीदी घोड़ी बनी नीचे से लंड पकडा और सेट किया मार दे जम के फूल ताकत से पेल दिया एक ही बार मे पुरा बर मे घुस गया 

दीदी – आह आह मेरे पति देव अहहा आआआअ हाईई में मर गइईईईई अहहा मम्मी…मम्मी…..सी सी सी सी.. हा हा हा …..ऊऊऊ ….ऊँ…ऊँ…उनहूँ उनहूँ.  आह राजा निकल ले साले क्या खाता है इतना मोटा मार दिया सले 

मैंने दीदी की एक नही सुनी और कमर को जकड़ लिया और फूल ताकत से फटके मरने लगा 

आई आई उफ्फ्फ ये मेरे पति बस कर आह आह उफ्फ्फ मेरे प्रति आई आई आई सी आह आह मेरे पति देव अहहा आआआअ हाईई में मर गइईईईई अहहा मम्मी…मम्मी…..सी सी सी सी.. हा हा हा …..ऊऊऊ ….ऊँ…ऊँ…उनहूँ उनहूँ.  उफ्फ्फ ये बस कर मर गयी छोड बहन चोद बहन का भोसडा बना दिया आई बस कर 

दीदी – अब नही राजा बस करो सुबह बच्चो को स्कूल जन है स्कूल भेज के फिर चोद लेना 

मै  – नही बेबी बस यही शॉट मारूंगा बस लंड खड़ा है मेरा

दीदी – बस राजा बस करो लंड मुझे दो मै तेरा हिला दूँगी और पी लुंगी 

मै – नही रानी बहुत हिलाया बहुत सपने मे चोदा है तुम को रियल मे चोद रहा हु तो रो रही 

दीदी जोस से होठों को कटने लगी ले राजा भर ले अपनी भूख मैंने दीदी को गोद मे उठा हुआ किस लेने लगा दीदी गांड उठाने लगी उफ्फ्फ गांड सलने लगा उफ्फ्फ मेरे पति तु मिल जाता तो तेरा डेली खाती आह रहा तेरा लंड आड़ रहा मेरी गांड उफ्फ्फ आई अच्छा लो घुसा देता हु अंदर

मै – दीदी तेरी इतनी बेरहमी से मरता हु तेरे को खुश करने के लिए मेरी रानी की तु खुश हो जाए मेरा लंड ले कर इस लंड को पूरी जिन्दगी लेने का मूड बना राहे

दीदी – उम्म मेरे लाल राजा तेरा हक हमेसा रहेगा मेरी बुर पर शादी किसी से हो मेरी लेकिन ये अपनी ठुकाई हमेसा याद आयेगी और बुर को बेहाल मेरे पति ने किया था मेरा पति है तु तेरा लंड नही खाऊँगी तो किस का खाऊँगी  तु रोते हुए मेरे मुझे पेले तो वो तेरा हक है बेरहमी से पेले तेरा हक है वो बुर फाड़ दे तो मै तब भी तेरा खाऊँगी मेरी शादी होगी तो गलत मत सोचना मै जब भी तेरे बहो मे आऊँगी तुझे फ्रेश चूत मिलेगी मेरी जो तु मरेगा तो तुझे लगेगा खुद की दीदी बहुत दिन से जीजा का नही खाया है मै तो चाहती हु मेरा पति नामर्द हो फिर मै उसके सामने तेरा लंड खाऊँगी और तेरे से बच्चा लुंगी 

मै जोस मे अरे मेरी बीवी आह आज से तु मेरी बीवी है नीचे आओ अब मै तुम को सुहागन बना दु 

दीदी – सच्ची राजा 

मै – हा बेबी सिंदूर दो मुझे ममांग भर दु तुम्हारी 

दीदी सिंदूर ले आयी लो राजा मैंने दीदी के मांग मे सिंदूर लगा दिया दीदी ने आँख बंद कर ली 

दीदी के आँखों मे आशु आ गए 

मै – दीदी क्या हुआ रो क्यों रही हो पागल मै भी तुम को प्यार करता हु लो जो तुम चाहती थी तुम को दे दिया 

दीदी – कुछ नही पति देव मुझे आशिरवाद दो 

दीदी नीचे बैठे कर पैर छूने लगी अरे दीदी क्या कर रही हो पागल हो 

मैंने दीदी को बहो मे भर लिया अब खुश हो 

दीदी – आज मै बहुत खुश हु आज तुम्हारी बीवी बना लिया मेरे पति देव आज से दीदी नही बोलोगे समझे मै तुम्हारी बाबू  हु तुम मेरे बेबी 

ठीक है मेरी माँ बाबू अब खुश हो आजो अब मत रोकना मुझे चोदने से 

दीदी – राजा तुम को पहले ही कब रोकी थी अब मुझे अपनी बीवी की गांड मरो और मै पैजामा पहना देती हु क्यों की गांड ही वर्जिन पहले मुझे जी भर के बहो मे जकड के प्यार दो 

मै- दीदी जाओ अब पुरी सुहागन हो कर आओ मेरी आशिरवाद लो आके फिर गांड मारने दो मुझे 

दीदी – क्या पहनु जिस से तुम को सैक्सी लागु 

मै – सुहागन बनो 

दीदी – ठीक है पति देव रुको मैं बाथरूम मे जाके तैयार हो कर आती हु ३० मिनट दो मुझे तब तक तुम लंड पर ऑयल लगाओ खड़ा करो 

मै इंतजार करता रहा बाबू कहाँ हो आओ तुम्हारे राजा रेडी हो गए है 

दीदी – बेबी तुम्हारी गांड को सजा रही हु तुम्हारे लिए सील अच्छे से टूटे तोड़ना 

दीदी गांड पर ऑयल लगा के आयी और कॉंडम को पकड़े हुए आई 

क्या लग रही थी मैंने उठा और दीदी को भर लिया बहो मे और खाने लगा दीदी ब्लैक ब्रा और पैंटी मे आई थी मेरे कंट्रोल के बाहर हो गया अब दीदी की ब्रा खोल दी दीदी ने ब्रा को अपने मेरे लण्ड पर लपेट दी दीदी को बेड पर ले कर बहो मे होठों से होठों को जकड़े हुए  खाने लगा आह राजा अभी भी इतना जोस सील तोड़ने की खुशी है क्या 

मै –  दीदी मत रोको मुझे जकड़ लो जितना दम हो तुम्हारे 

 आह राजा आजा मेरे शेर उफ्फ्फ जालिम मर्द मेरा आह राजा दीदी सिसकिया लेने लगी राजा तुम्हारी गांड सजी है ऑयल से सहलाओ उसको और खाओ मैं दोनों पैरो

 को हाथो मे पकड़ के फैला दिया आह राजा आराम से बीवी हु हमेसा खाऊँगी लण्ड तुम्हारा दोस्तो दीदी गांड के पुट्ठे मोटे मैंने चाटा मारा आई आई राजा चाटो मेरी गांड और फिर सील तोड़ो गांड की मैंने गांड पकड़ी और मुह लगा दिया आआह्ह्म आआह्ह् राजा तु कितना जोसिला है मर्द है डेली खा ले इसको इतनी गर्म के डाल की गांड आग संत हो जाए आआह्ह्म राजा मै खाने लगा दीदी उफ्फ्फ ये जवानी दीदी उफ्फ्फ मेरे मर्द घोड़े जैसा तेरा 

मैंने अब दीदी को घोड़ी बना दिया और लंड को गांड रगड़ने लागा दीदी पागल हो गयी डाल साले मार देगा क्या अपनी बीवी को आई आई घोड़ी की तरह गांड हिलाने लगी मैंने लंड गांड के छेद पर लगाया क्या टाइट थी मै समझ गया दीदी रोने वाली है मैंने दीदी की कमर पकड़ी और थोरा सा अंदर घुसाया उफ्फ्फ आई राजा आई 

दीदी – उफ्फ्फ आह आआह्ह्म अाह्ह्ह् छोड़ दे नही ले पाऊँगी उफ्फ्फ आई आई आई उफ्फ्फ या उई आह आह आह ये मेरे शेर 

दीदी जोस भरी थी दीदी छुट्ने की कोसिस की लेकिन ना काम रही मैंने आपनी आगोश से कमर पकड़े था लंड का टोपा घुसा था दीदी सिसकिया लेती रही मै गांड सहलता रहा दीदी आह जान कितनी टाईट है बेबी 

दीदी – वर्जिन है गांड उफ्फ्फ राजा कितना घुसा है 

मै – बाबू लंड का टोपा बस आप को दर्द न हो तो रुक गया 

दीदी – आआह्ह्म राजा मुझे ऐसे पति चाहिए था जो टोपा घुसा के दर्द न हो सोच कर रुक जाए ले राजा आज इस बात पर दर्द तेरा पुरा लंगी 

दीदी खुद गांड को पीछे करने लगी आह आह घुसा लो राजा मेरी कुवारी गांड फाड़ लो चूत तो चुदी हुई मिली तुम को गांड मार लो कुवारी जम के पेल दो होने दो दर्द सील है टूटेगी रोऊंगी जभी तो लगेगा की बुर फटी का फील लुंगी सुहागरात काह और राजा तुम सोते रहना मै बाहर से लॉक कर के बच्चो को स्कूल भेज कर आऊँगी मुझे खड़ा किये मिलना सुबह सुबह तुम को चूत दूँगी ये लास्ट राउंड है पेल लो जी भर के उसके बाद अपनी आगोश मे हम दोनों नंगे सोयेंगे राजा कॉंडम चाड दु आराम से घुसेगा सुखा घुसा नही पाओगे 

मै खुशी हुआ दीदी लव यू लण्ड बाहर निकला लो रानी दीदी ने मैनफोस का कॉंडम फाड़ा और लंड को हिलाया और चडा दिया लो राजा मेरे छोटे पति मेरे गांड मे घुसने को राजी है दीदी मुह खोला और कॉंडम लगा लंड को मुह मे ले लिया आह राजा तेरा हथियार कितना मोटा है इतना मोटा आज तक किसी का नही मिला मै सपने मे बी नही सोचा था इतना मोटा है तेरा ले राजा तेरी घोड़ी तैयार है चडा दे घोड़े को अपने मेरे छोटे पति जो घोड़े जैसे तैयार है

यार दोस्तो दीदी की ऐसी बाते सुन कर मै पागल हो गया और दीदी घोड़ी बनी थी मैंने अपना घोड़ा सेट किया कमर पकड़ी और जोर से धक्का मारा दीदी फैल गयी आई आई आई आई उफ्फ्फ सी सी उफ्फ्फ अरे लाल मेरे इतना जोस ४ शॉट मे आह मार दिया आ आ आ अह्हह्हह. ..ईईईईईईई…ओह्ह्ह्हह्ह… .अई…अई..अई…अई…सी..सी ..उफ्फ्फ..” मार दिया आज तूने मत कर राजा इतना फाड़ दिया है कल और फाड़ देना 

मै – दीदी मत रोको मुझे आह ये तेरी जवानी गोल गांड आह आह बहुत मारी है आज मै चुदाई की स्पीड बड़ा दी ले मेरी जान 

दीदी – आ आ आ अह्हह्हह. ..ईईईईईईई…ओह्ह्ह्हह्ह… .अई…अई..अई…अई…सी..सी ..उफ्फ्फ.. “ओह्ह माँ….ओह्ह माँ…आह आह उ उ उ उ उ…अ अ अ अ अ….आआआआ राजा कितना चोदेगा आज उफ्फ्फ आई आई आई सी उफ्फ्फ मेरे पति झाड़ दो अब 

मैंने दीदी की पोगीसन चेंज कर टागे खोल नीचे तकिया लगा 

दीदी उठी तकिया लगाया और लेट गयी टागे खोल के ले राजा मैंने गांड पर टिकिया दोनों हाथो को से टांगों को पकडा फिर झटका मार दिया

दीदी – कितना जालिम मर्द है तु  “ओह्ह माँ….ओह्ह माँ…आह आह उ उ उ उ उ…अ अ अ अ अ….आआआआ उफ्फ्फ आई आई आई आई आई सीसीसीसीसीसीसी उफ्फ्फ मेरे पति ले मार दे आज चोदते हुए मारूंगी आज उफ्फ्फ आई आई

दीदी मेरा झाड़ने वाला है ३० मिनट हो चुके थे दीदी मुह मे लगी जूस मेरा

दीदी – राजा इतना मोटा लंड का जूस कौन नही पियेगा ला पिलवा दे मुझे 

मैंने लंड निकला कॉंडम फट गया था मैंने कॉंडम निकाल कर फेक दिया और दीदी के बाल पकड़े ले मेरी बेबी घोड़ा का अपने मैंने दीदी ने मुह खोल कर बैठी थी मेरी पिचकारी निकाली आह आह दीदी आह आह ले मेरी कुतिया दीदी के मुह फेस पर बीज बीज हो गया 

दीदी – आह आह राजा नाहला दिया तूने पिचकारी से उफ्फ्फ इतना रस निकलता है चूत तो भरी पड़ी

दीदी ने लंड और फेस का अपने बीज चाट कर साफ किया सुबह के ५ बज गए थे राजा आजो बहो मे मै थका हुआ दीदी की बहो मे लेट गया आह राजा मैंने दीदी को जकड़ लिया 

मै – दीदी कैसी लगी मेरी चुदाई मेरी बेबी 

दीदी – राजा आज सुहागन होने का अहस हुआ ऐसी चुदाई के डेली तड़पी हु राजा काश तुम मेरी सील तोड़ी होती मै तो सील पैक तुम को नही दे पाई माफ करना 

मैंने दीदी को किस किया उम्मह्म उम्मह्म उम्मह्म बेबी क्यों सड् हो गांड तो दी न तुम ने मुझे कोई बात नही

मैंने बहो मे जकड़ लिया दीदी एक शॉट और मार लू

दीदी – पागल हो गए हो कितना भूखे हो ७ दिन तुम को चोदना है दिन रात मुझे क्यों इतना गर्म हो एक दिन ठोरी पूरे घर मे नंगा कर भाग भाग कर कोने मे मेरी बुर मारोगे लंड बाहर नही बुर मे रखूंगी तुम्हारा पागल मेरा पति 

हम दोनों नंगे सो गए 

दोस्तो कुछ गलती हुई हो तो माफ करना अच्छी लगे तो कॉमेंट करे 

मेरी पत्नी की चूत की दुकान - Antarvasna Story

माँ और बेटी की चुदाई – 2 | Maa Aur Beti Ko Choda Kahani – AntarvasnaStory.co.in

अभी तक आपने पढ़ा कि कैसे मैं आकाश के पास जाकर अपनी माँ और आकाश के साथ चुदाई करता हूँ। ...
Read More
Best Wife Porn Action Story - बीवी को सड़क पर नंगी चलाया

सब्जीवाले से नंगी चुदाई 🌶 | Sabji Wale Se Chudai Kahani – AntarvasnaStory.co.in

जैसा की आपने पढा था की मा आमिर ओर शोकत से जमकर चुदाई करवा रही थी पिछले दो साल से ...
Read More
Porn Aunty Ko Choda - चाची की बहन ने बेटी के सामने चुदवा लिया

Hot Bhabhi Gand Porn Kahani – प्यासी भाभी की गन्दी चुदाई

Hot Bhabhi Ass Porn Story में, एक हॉट लड़की को अपने माली के मोटे लंड को अपनी कुंवारी गांड में ...
Read More
हमारी पहली चुदाई Part - 2 | Our First Time Fuck - XAtarvasna.com

कॉलेज में मैडम के साथ यादगार चुदाई – Antarvasna Story

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम सुनील है .और ये बात है कॉलेज की जब मई अपना बी कॉम डिग्री कम्पलीट कर ...
Read More
मेरी पत्नी की चूत की दुकान - Antarvasna Story

Valentine Day Sex Story | वैलेंटाइन डे की रोमांचक चुदाई कहानी

हम दोनों मौज-मस्ती करते हैं, आउटडोर सेक्स का अपना अलग तरह का नशा होता है। वह कूद जाती है और ...
Read More
हमारी पहली चुदाई Part - 2 | Our First Time Fuck - XAtarvasna.com

Desi Girl Xxx Chudai Kahani – मौसी की कुंवारी बेटी की चुदाई

देसी गर्ल की चुदाई कहानी में मैंने अपनी मौसी की जवान बेटी की चुदाई की। जैसे ही मेरी कामुक निगाहें ...
Read More

Leave a Comment