College Sex Xxx Girl Kahani – मुट्ठ मार के लंड चूसा फिर फड़वाई बुर

कॉलेज सेक्स Xxx गर्ल स्टोरी मेरी ही है. कॉलेज में मुझे एक मस्त रंडी समझा जाता है। एक दिन मेरा सहपाठी मेरे घर आया। मैंने उसका लंड चूसा और अपनी चूत भी चुसवाई.

सुनिए ये कहानी.


मेरा नाम अलका है.
मैं इस वक्त 22 साल की हूं, खूबसूरत हूं, हॉट हूं और मोटी भी हूं।
मैं किसी से नहीं डरती, मैं अपने मन की रानी हूं… मैं वही करती हूं जो मुझे पसंद है और मुझे किसी की परवाह नहीं है।

कॉलेज में मुझे एक मस्त रंडी समझा जाता है।
मेरे पास किसी की फालतू बातें सुनने का बिल्कुल भी समय नहीं है.
मैं काम के लिए सुनता हूं और कुछ नहीं।

मैं कसम खाकर बहुत खुश हूं.
मैं यह शौक अपने दोस्तों, अपने स्कूल के लड़के-लड़कियों और अपने करीबी रिश्तेदारों के साथ करता हूं।
लड़के मेरी गालियाँ सुनने के लिए मेरे आगे पीछे घूमते है।

मैं खुलेआम किसी की माँ बहन चोदता हूँ और मुझे रोकने वाला कोई नहीं!

एक बात और बता दूँ दोस्तो कि मुझे सेक्स का बहुत शौक है।
मुझे सेक्स करना, सेक्स कहानियाँ पढ़ना, सेक्स फिल्में देखना और सेक्स के बारे में बात करना पसंद है।

यह कॉलेज सेक्स Xxx गर्ल स्टोरी मेरी अपनी चूत चुदाई के बारे में है।

अगर कोई मुझसे घंटों तक सेक्स के बारे में बात करता रहे तो मैं कभी नहीं थकूंगा, लगातार बातें करता रहूंगा.
मुझे तो लण्ड, बुर, चूत, भोसड़ा, चोदा चोदी, पेला पेली की बातें बहुत पसंद हैं।
मुझे लन्ड पकड़ना, चूमना, चाटना और लन्ड चूसना जैसी चीज़ें पसंद हैं।
मैं घंटों तक बिना रुके लंड मुठ मारने की बात कर सकता हूँ!

मुझे लन्ड मुठ्ठ मारने का बहुत शौक है।
मैं मुठ मारते समय नल जरूर पीता हूँ।

मैं आज से नहीं बल्कि 19 साल की उम्र से लंड की मुठ मार रहा हूँ.
मैं लड़के को नंगा खड़ा करके उसके सामने स्टूल पर बैठ जाती हूँ तो उसका लौड़ा मेरे मुँह के सामने आ जाता है।

फिर मैं एक हाथ से लन्ड पकड़ती हूँ और दूसरे हाथ से बड़े प्यार से लन्ड अपनी मुठ्ठी में लेती हूँ। फिर मैं लंड को ऊपर नीचे करने लगा.

मैंने अपने बड़े बड़े स्तन उसके सामने खोल दिये।
फिर मैं गंदी-गंदी, गंदी-गंदी बातें करते हुए मुक्का मारना शुरू कर देता हूं।

मैंने लंड के सामने अपना मुँह खोला, लंड का वीर्य अपने मुँह में गिरने दिया और उसे निगल लिया।
फिर मैंने लंड के टोपे को चाट कर लाल कर दिया.

जब से मैं लौड़ा पी रही हूँ तब से मैं कभी बीमार नहीं पड़ी।
मुझे स्वयं कभी बुखार नहीं हुआ!

मैं बिल्कुल ठीक हूं.

मेरे निपल्स का आकार दोगुना हो गया है और दिन-ब-दिन बढ़ रहे हैं।
मेरे चेहरे पर निखार आ गया है और मेरी खूबसूरती भी बढ़ रही है.
लौड़ा पीना मेरे लिए टॉनिक है।

दोस्तों, मैं आपको एक बहुत ही दिलचस्प बात बता रहा हूं कि मुर्गे की आंखें होती हैं, मुर्गे के कान होते हैं, मुर्गा अपने आप में एक जीवित इंसान होता है!
इसीलिए मुझे हर एक मुर्ग़ा पसंद है।

मैं आपको बता दूं कि मैं मुंबई में एक फ्लैट में रहता हूं और यहीं पढ़ाई करता हूं।
मेरा परिवार नागपुर में रहता है.

एक दिन अचानक किसी ने दरवाजे की घंटी बजाई.
मैंने दरवाज़ा खोला तो सामने एक लड़का खड़ा था.
तो मैंने देखा कि मेरा सहपाठी राजेश बाहर खड़ा है।

मैंने कहा- हाय यार, बहुत दिनों बाद दिखे हो राजेश, अन्दर आओ।
मैं उसे देखकर बहुत खुश हुआ.

मैंने अन्दर से व्हिस्की ली और हम दोनों पीने लगे.
अब तक मैंने सोच लिया था की आज मैं इसका लौड़ा पकड़ कर जरूर देखूंगी।
आज मैं मुठ्ठ मार कर लन्ड पीना चाहती हूँ।

मैं उससे बहुत प्यार से बातें करने लगा.
मैंने पूछा- राजेश तुम मर्द हो? आपको कॉलेज में सबसे अच्छी लड़की कौन लगती है?
वो बोला- वैसे तो बहुत सारी लड़कियाँ हैं लेकिन मुझे नेहा, रूपा और पूजा ज्यादा पसंद हैं। इन सब से बेहतर तो तुम मुझे लगते हो दोस्त!

आय हाय… मुझे खुशी है कि कोई मुझे चाहता है।

“अरे… तुम ‘किसी’ की बात करती हो… लड़के तुम्हारा नाम लेकर तुम्हें सहलाते रहते हैं।”
क्या सहलाते रहते हो? खुल कर बताओ यहाँ कौन भोसड़ी वाला बैठा है। तुम शर्मीले क्यों हो?
“अरे यार वो अपना लंड सहलाता रहता है और क्या?”

“तो सिर्फ लालच दे रहे हो या कुछ और भी कर रहे हो?”
“और कर भी क्या सकते हो? रात को तो सब साले लड़कियों का नाम लेकर लंड पेलते हैं। तुम्हारे नाम पर सड़क पर गाड़ी चलाते हैं और सुबह सबको बता देते हैं। विशाल ही सड़क पर ज्यादातर आता है।”

“तुम मुठ क्यों नहीं मारते?”
“हाँ यार, मैं मुठ भी मारता हूँ!” मैं लड़कियों का नाम लेकर मुट्ठ भी मारता हूँ. मैं तुम्हारा नाम और लूंगा.

“ठीक है, अगर ऐसी बात है, तो आज मैं तुम्हारे लंड की मुठ मारने जा रही हूँ… मैं मुठ मार कर लंड का वीर्य पीने जा रही हूँ! आज मैं देखूँगी कि तुम्हारा लंड कितना स्वादिष्ट है!”

“एक बात कहूँ अलका?” विभा मेम भी खूब पीती है लन्ड। वो मेरा लंड पीती है!

“अच्छा तो क्लास में कौन लड़कियाँ पीती हैं तेरा लौड़ा?”
“रिहाना और मरियम दोनों मेरा लंड पीती हैं!”

फिर मैं अपने आप को रोक नहीं सका.
मैं उठी और राजेश से लिपट गई और उसके कपड़े खोलने लगी और अपने कपड़े भी उतारने लगी।

हम दोनों बहुत नशे में थे.

जब उसका लंड मेरे हाथ में आया तो मैं उछल पड़ी.
मेरे मुंह से निकला – वाओ, क्या लौड़ा है तेरा भोसड़ा ? घोड़े जैसा लंड लग रहा है. इसे मुठ मारने में बहुत मजा आएगा!

मैं बार बार लन्ड चूमती रही और बड़े ध्यान से देखने लगी और पेल्हड़ भी चूमने का मज़ा लेने लगी।

उसने भी मेरे स्तनों को छुआ और बोला- यार, तुम्हारे स्तन तो विभा से बड़े हैं और सुडौल भी!

मैंने प्यार से लंड को अपने पूरे नंगे बदन पर फिराया.
मेरी प्यास बढ़ती जा रही थी.
मैंने उसे टेबल पर बिठाया और खुद कुर्सी पर बैठ गया.

तभी मेरा मुंह उसकी जांघों के बीच में घुस गया और मैं मजे से लंड चूसने लगा.
उसकी झाँटें एकदम साफ़ थीं इसलिए मुर्गा बहुत सुन्दर लग रहा था।

उसके बाद मैंने बायें हाथ से पेल्हड़ पकड़ा और दायें हाथ से लन्ड पकड़ लिया और सड़का मारने लगी।
मतलब मुट्ठ मारने लगे!

मैंने धीरे-धीरे अपनी स्पीड बढ़ानी शुरू कर दी और वह सिसकारियाँ भरने लगा।
मैंने कहा- वाह… तुम्हारा लंड टाइट तो कमाल का है. बोल्ड भी और हार्ड भी!

मैं खुद ही लण्ड से बातें करने लगी।
मैंने कहा – लंड मियां, अब निकाल भोसड़ी के अपना मक्खन… अपनी बहन की बुर!

बीच बीच में मैं लंड पर मुठ मारने लगा तो वह बोली- हाय मेरे राजा, तू तो बड़ा हरामी है. जल्दी से सामान हटाओ नहीं तो तेरी माँ चोद दूँगा. मुझे अब और चोट मत पहुँचाओ! अगर तुमने मुझे ज्यादा परेशान किया तो मैं तुम्हें अपनी चूत में डाल कर भून दूंगी.

मैंने स्पीड बढ़ानी शुरू कर दी और चप्पा चप्पा, पच पच पच की आवाज आने लगी, उसके टोपे से लार टपकने लगी.
मैंने अपनी जीभ निकाली और उसे चाटने लगा.

मेरी नज़र लंड के ऊपर थी.
वो बोला- अरे रे… अब मैं चलता हूँ यार! आ हो हे हां… और तेज तेज मारो रोडा… और कारी कारी करो यार! मेरी बुरचोदी अलका… तेरी माँ का भोसड़ा… तू बिल्कुल भोसड़ी वाली कुतिया है। तू बिल्कुल रंडी है. वाह ओ हो हाय हाय… उं हो ये हो हाय रे… ओ ही हो आ… अहा उई होआ हां हो हां। ले बुर चोदी ले मेरा लंड!

उसके लंड ने सारा वीर्य मेरे मुँह में उगल दिया.. जिसे मैंने तुरंत निगल लिया और सुपारा चाटने लगी।
फिर मैं सावधानी से उसे टॉयलेट में ले गया.

मैं उसे कपड़े नहीं पहनने देता था, बल्कि नंगा रखता था.
मेरे निपल्स पहले से ही खुले हुए थे!

फिर मैंने अपना पेटीकोट उतार दिया और उसके सामने पूरी नंगी हो गयी.

हम दोनों ने नंगे ही खाना खाया और मस्ती से खूब गन्दी गन्दी बातें कीं.
इसी बीच उसका लंड फिर से खड़ा होने लगा.

मैंने उसे बुलाया, हिलाया, चूमा, फिर उसका लंड फैलाया और फिर से हंसने लगा।
फिर मैंने कहा- राजेश, अब तुम्हारा लंड मेरी गांड फाड़ना चाहता है!

राजेश ने मुझे अपने नंगे बदन से चिपका लिया.
मैं उसे बिस्तर पर ले गया.

वो मेरी चिकनी गांड चाटने लगा और मैं फिर उसका चिकना लंड चाटने लगी.

कुछ देर बाद मैंने कहा- यार राजेश, अब मुझसे बर्दाश्त नहीं होता. अब मेरी चूत में दो लंड डालो और मेरी गांड फाड़ दो!

उसका मासिक धर्म शुरू हो चुका था… उसने अपना लंड छेद से घुसा दिया और चोदने लगा।

मैंने पूछा- क्या तुम मरियम और रिहाना की गांड भी इसी तरह चोदते हो?
वह बोला – अरे यार, दोनों मेरा लन्ड पीती हैं, मुझे चोदती नहीं हैं। वह तो लौड़ा पीकर भाग जाती है। क्या किसी और से होगी चुद्वाती?

मैंने कहा- तो तुमने अभी तक किसी को नहीं चोदा?
उसने कहा- हाँ बिलकुल नहीं! अभी तक किसी को नहीं चोदा. पहली बार तुम्हें चोद रहा हूँ अलका!

मैंने कहा- तुमने चुदाई करना कहाँ से सीखा?
उन्होंने कहा- ये सब पोर्न फिल्मों से सीखा है और कहानियां पढ़कर सीखा है. तुम्हें पता है कि क्या बचा है, यार?
मैंने कहा- मैं तुम्हें सब कुछ सिखा दूंगी मेरे राजा.

मैं उत्साहित था और वह भी!

फिर हम दोनों लगभग एक साथ ही झड़ गये.

तो दोस्तो, आपको मेरी Xxx गर्ल स्टोरी कॉलेज में कैसी लगी?
हमें टिप्पणियों और ईमेल में बताएं।
[email protected]

इस लेखक की पिछली कहानी थी: चुदक्कड़ अम्मी ने बेटियों को मुर्गों से खुश किया

मौसी को अपनी बीवी बना के चोदा चोदी की

कैसे हो प्यारे दोस्तो? मुझे उम्मीद है कि आप लोग सब मजे कर रहे होगे. आपके इसी मजे को बढ़ाने ...

शादी के बाद भी कुंवारी रही लड़की की चुदाई की कहानी

प्यारे दोस्तो … मेरा नाम आशीष है भीलवाड़ा राजस्थान से हूँ. मैं XXXVasna का पुराना पाठक हूँ. काफी दिनों से ...

गांड मारकर गुड मॉर्निंग कहा- Sexy Bhabhi Ki Chudai

मैं काम के सिलसिले में मुंबई चला आया क्योंकि हमारा शहर बहुत छोटा है और वहां पर मुझे ऐसा कुछ ...

भैया बन गए सैंया- Bhai Behen ki Chudai

मेरे 12वीं के एग्जाम नजदीक आने वाले थे और मैं बहुत घबराई हुई थी क्योंकि मैंने इस वर्ष अच्छे से ...

पापा अपनी छमिया के साथ- Romantic Sex Story

हेलो दोस्तो। मेरा नाम पारुल (उम्र २०) है। मैं अपनी ज़िन्दगी की पहली कामुक कहानी आप लोगों को पेश कर ...

कामवाली के साथ रंगरेली मनाई- Kaamvali Ki Chudai

कामुक कहानी पढ़ने वाले दोस्तों को मेरा नमस्कार। मेरा नाम मोहन गुप्ता (उम्र २२) है। मैं नोएडा में रहता हूँ। ...

Leave a Comment