गर्मियों की रात में मौसी को छत पर ठोका–3

कहानी के दूसरे भाग में आपने पढ़ा कि किस तरह मैंने मौसी को बुरी तरह से चोद दिया था। अब कहानी आगे……..

मौसी के बूब्स चूसकर मै फिर से मौसी की चूत बजाने वाला था। अब मैं मौसी के लोवर का नाड़ा खोला और लोवर को खोलकर फेंक दिया। अब मैंने मौसी की टांगो को फिर से फोल्ड कर दिया और लंड मौसी की चूत में ठोक दिया। अब मैं। मौसी की फिर से ताबड़तोड़ चुदाई करने लगा। गर्मियों की रात में मौसी को छत पर ठोका–3

मौसी– आह आह आईईईई आईईईई अहा अहा आह।
मैं– ओह मौसी आज मेरे लन्ड को शांति मिली है।
मौसी– ओह आह आह आईईईई आईईईई तूने मुझे चोद ही दिया।
मैं– हां मौसी, मुझसे रहा ही नहीं गया।
मौसी– हां मै तेरी भावनाओ को समझ सकती हूं। बहुत बड़ा लंड है यार तेरा।इतना बड़ा कैसे हो गया?
मैं–बस आप जैसी सेक्सी मालों की मेहरबानी है।
मौसी– ओह आह आह आह आईईईई आईईईई।अच्छा!
मैं– हां मौसी।

मैं झमाझम मौसी की चूत में लंड ठोक रहा था। तभी मौसी फिर से झड़ गई। उनकी चूत में माल फिर से भर गया। अब तक मेरा लन्ड मौसी की चूत का भोसड़ा बना चुका था। अब मैंने मौसी से घोड़ी बनने के लिए कहा तो मौसी चुपचाप घोड़ी बन गई। अब मैंने मौसी की चूत में लंड टिकाया और मौसी को घोड़ा बनकर पेलने लगा। Aunty Sex Story

मौसी– आह आह आईईईई आईईईई आह आह आह।
मैं– ओह मौसी बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा है। आहा आह।
मौसी– ओह ओह आह आह आह ओह रोहित तू तो बड़ा खिलाड़ी निकला यार।
मैं– हां मौसी ,अब आपको समझ में आ चुका है।
मौसी– आह आह आईईईई आईईईई आह आह आईईईई।ओह रोहित। हिला दिया तूने तो मुझे।
मैं–ओह मौसी, अभी तो पूरी रात हिलाऊंगा आपको।
मौसी– ओह मर गई मैं तो। आह आह आह आईईईई आईईईई आह आह आईईईई।

मेरा लन्ड मौसी की चूत में लगातार अंदर बाहर हो रहा था। मौसी को छत पर घोड़ी बनाकर चोदने में मुझे बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था। मौसी घोड़ी बनकर अच्छी तरह से चुद रही थी। मैं मौसी की चूत में बुरी तरह से धक्के लगा रहा था।

मौसी– आह आह आईईईई आह आह आईईईई।

मैं गांड़ हिला हिलाकर मौसी को जमकर बजा रहा था।फिर मैंने बहुत देर तक घोड़ी बनाकर जमकर बजाया। अब मैंने मौसी को ऐसे के ऐसे ही उल्टा गद्दे पर पटक दिया। अब मैं मौसी के जिस्म पर चढ गया। अब मैं मौसी के बालो को हटाकर उनकी गर्दन के पीछे किस करने लगा।

मौसी चुपचाप गद्दे पर पसरी हुई थी। मैं मौसी के ऊपर चढ़ा हुआ था। मैं पीछे से मौसी के कानों और कंधो को चूम रहा था। मुझे मौसी के कंधो पर किस करने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था। मैं बीच बीच में मौसी को काट भी रहा था।फिर मैं मौसी को किस करता हुआ मौसी की पीठ पर आ गया और फिर मौसी की पीठ पर ताबड़तोड़ किस करने लगा। मौसी चुपचाप गद्दे पर पड़ी हुई थी। मैं मौसी के सेक्सी जिस्म को चूम रहा था। मुझे मौसी की चिकनी पीठ पर किस करने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था।

अब मैं मौसी की पीठ पर किस करता हुआ मौसी की गांड़ पर आ गया और मौसी के गौरे गौरे चूतड़ों पर किस करने लगा।आह! क्या मस्त चूतड थे मौसी के! आह मज़ा आ रहा था यारो। मैं मौसी के चूतड़ों को बुरी तरह से किस कर रहा था। बीच बीच में मै मौसी के चूतड़ों को काट भी रहा था।फिर मैंने बहुत देर तक मौसी के चूतड़ों को किस किया। अब मैं मौसी के चूतड़ को बजाने लगा। Desi Sex Story

मैं– ओह मौसी,बहुत सेक्सी चूतड़ है यार।आह।
मौसी– आईईईई आईईईई आऊ आह आह।

फिर मैंने थोड़ी देर मौसी के चूतड़ों को बजाया। अब मैंने फिर से मौसी को गांड़ ऊपर करने के लिए कहा। अब मौसी ने गांड़ थोड़ी सी ऊपर उठा दी और मैंने तुरंत मौसी की गांड़ में लंड सेट कर दिया। अब मैं मौसी से चिपक गया और आराम से मौसी की चूत में लंड डालने लगा। गर्मियों की रात में मौसी को छत पर ठोका–3

मौसी– आह आह आह ऊंह आह्व आह आह।
मैं गांड़ हिला हिलाकर मौसी की चूत में लंड ठोक रहा था। मौसी सिसकारियां भर रही थी।
मैं– ओह मौसी बहुत मज़ेदार माल हो आप।
मौसी– आह आह आह आह आईईईई आह आह।

मैं दे दना दन मौसी की चूत को बजा रहा था।आज तो मेरा लन्ड मौसी को चोद चोदकर तृप्त हो रहा था।मेरे लन्ड की बहुत दिनों की प्यास आज बुझ रही थी। मौसी की सिसकारियां मुझे बहुत ज्यादा मज़ा दे रही थी।फिर मैंने थोड़ी देर मौसी को ऐसे ही चोदा। अब मैंने मौसी को पलट कर सीधा कर लिया।

अब मैं फिर से मौसी के बूब्स चूसने लगा।आह! मौसी के बूब्स का टेस्ट मुझे बहुत ज्यादा मज़ा दे रहा था। मैं दे दना दन मौसी के बूब्स चूस रहा था। मौसी मुझे प्यार से बूब्स चुसवा रही थी। मैं आज मौसी के बूब्स को रगड़कर चूस रहा था।फिर मैंने थोड़ी देर मौसी के बूब्स को चूसा।

अब मैं मौसी के ऊपर चढ गया और मौसी के मुंह में लंड डाल दिया। अब मैं मौसी के मुंह में लंड अंदर बाहर करके मौसी के मुंह को चोदने लगा। मौसी मेरे लंड को अच्छी तरह से मुंह में ले रही थी। छत पर मौसी के मुंह में लंड डालने में मुझे बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था।

मैं– ओह मौसी बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा है।आह आह आह ओह।

मौसी के थूक से मेरा लन्ड पूरा गीला हो चुका था। मैं झमाझम मौसी के मुंह में लंड डाल रहा था।फिर मैंने थोड़ी देर मौसी को ऐसे ही पेला। अब मैं गद्दे पर लेट गया और मौसी से मेरा लन्ड चूसने के लिए कहा।

अब मौसी मेरे ऊपर चढ़ गई और मेरे होंठो को चूसने लगी। मौसी भूखी शेरनी की तरह मेरे होंठो पर टूट पड़ी थी। मैं भी मौसी के होंठो पर टूट पड़ा और अब हम दोनों ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए होंठो को खाने लगे। मौसी बहुत ज्यादा चुदासी लग रही थी।ऐसा लग रहा था जैसे मौसी कई दिनों से चुदी नहीं हो।

कुछ देर बाद मौसी मेरी चेस्ट पर किस करने लगी। मौसी गरम होकर मेरी चेस्ट को काट रही थी। मैं मौसी के बालो को संवार रहा था।फिर मौसी किस करती हुई मेरे लन्ड पर पहुंच गई और मेरे लन्ड को मसलने लगी। मौसी लंड को मसल कर मेरी तरफ देख रही थी। गर्मियों की रात में मौसी को छत पर ठोका–3

मैं– मौसी मेरा लंड आपका ही है।खा लो।
मौसी– हां रोहित।

तभी मौसी ने मेरे लन्ड को पकड़ा और लॉलीपॉप की तरह मौसी लंड लंड चूसने लगी। मौसी पूरी सेक्सी होकर मेरे लन्ड को चूस रही थी। मैं मौसी की सेक्सी अदा का दीवाना हो गया। पहली बार मुझे लंड चुस्वाने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था। मौसी लपक लपककर मेरे लन्ड को चूस रही थी। New Hindi Sex Story

मैं– आह आह ओह आह आह ओह मौसी बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा है।आह आह।

मौसी के थूक से मेरा लन्ड गीला हो चुका था। मौसी भूखी शेरनी की तरह मेरे लन्ड को खा रही थी।फिर मौसी ने बहुत देर तक मेरे लन्ड को चूसा।

अब मौसी मेरे लंड पर बैठ गई और लंड को चूत में सेट कर लिया।अब मौसी गांड़ उचका उचकाकर चूदने लगी।

मौसी– आह आह आह ओह रोहित , बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा है।आह आह।
मैं– आह आह और चूदो मौसी।आह आह।
मौसी– अहा आह आईईईई ओह ,मै पहली बार छत पर चुद रही हूं।बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा है।
मैं– मै भी पहली बार छत पर चोद रहा हूं मौसी।

मौसी उछल उछल कर चुद रही थी। मेरा लन्ड मौसी की चूत में सीधा घुस रहा था। मौसी को चुदाने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था।तभी मेरा लन्ड अंतिम चरण में पहुंच गया और मैंने मौसी को रोक दिया।फिर कुछ ही पलों में मेरे लन्ड का माल निकल गया। मेरा लन्ड अभी भी मौसी की चूत में अटका हुआ था।

अब मौसी वापस मेरे लन्ड को मसलने लगी। धीरे धीरे मेरे लन्ड में फिर से करंट लगने लगा और फिर कुछ देर बाद मेरा लन्ड फिर से खड़ा हो गया। अब मौसी ने मेरे लन्ड को फिर से चूसा। अब मैंने मौसी को फिर से गद्दे पर पटक दिया और उनकी सेक्सी टांगो को फोल्ड कर दिया। अब मैंने लंड को मौसी की चूत के छेद में रखा और ज़ोर से मौसी की चूत में लंड ठोक दिया।

गर्मियों की रात में मौसी को छत पर ठोका–3

मौसी– आईईईई अहा। अहा।

अब मैं फिर से झमाझम मौसी की चूत में लंड ठोकने लगा। मैं गांड़ का पूरा ज़ोर लगाकर मौसी को पेल रहा था। मौसी फिर से सिसकारियां भरने में बिजी हो गई।

मौसी– अहा आह आह आईईईई अहा आह आह।

फिर मैंने मौसी को थोड़ी देर ऐसे ही पेला। अब मैं मौसी की गांड़ मारना चाहता था। अब मैंने मौसी से फिर से घोड़ी बनने के लिए कहा। मौसी अब मेरा इरादा समझ गई थी।

मौसी– यार रोहित, गांड़ में बहुत ज्यादा दर्द होगा और अगर बच्चे फिर से जाग गए तो मुश्किल हो जाएगी।
मैं– अरे मौसी कुछ नहीं होगा। आप चिंता मत करो।
मौसी– अरे यार,बहुत ज़िद्दी है तू।

अब मौसी छत की दीवार पकड़कर घोड़ी बन गई। अब मैंने मौसी की गांड़ के सुराख में लंड सेट कर दिया।

मौसी– थोड़ा धीरे धीरे डालना।ज़ोर से डालेगा तो मेरी चीख निकल पड़ेगी।
मैं– ठीक है मौसी।

तभी मैंने मौसी की गांड़ में लंड ठोक दिया। मौसी को बहुत ज्यादा दर्द हुआ लेकिन मौसी ने दर्द को दबा लिया।मेरा लन्ड मौसी की गांड़ को फाड़ता हुआ सीधा मौसी की गुफा में प्रवेश कर चुका था।

मौसी– आईईईई आईईईई ओह रोहित।आह आह। बहुत दर्द हो रहा है। बाहर निकाल लंड।
तभी मैंने मौसी की गांड़ में से लंड बाहर निकाल लिया और फिर से ज़ोर से मौसी की गांड़ में लंड ठोक दिया। मौसी फिर से चीख पड़ी। गर्मियों की रात में मौसी को छत पर ठोका–3

मौसी– आईईईई आईईईई आईईईई
अब मैं मौसी की कमर पकड़कर मौसी की गांड़ मारने लगा। मुझे मौसी की टाइट गांड़ मारने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था। मौसी धीरे धीरे चीख रही थी।

मौसी– आह आह आह आह आईईईई ओह आह आह आईईईई। रोहित मै मर जाऊंगी यार।बहुत ज्यादा दर्द हो रहा है।
मैं– ओह मौसी कुछ नहीं होगा।आप चिंता मत करो।
मौसी– मेरी जान निकल रही है यार।आईईईई आईईईई
मैं– अरे मौसी बस थोड़ी देर दर्द होगा।
मैं मौसी की गांड़ में धमधम लंड पेल रहा था। दर्द से मौसी की गांड़ फटकर हाथ में आ रही थी। मुझे मौसी की गांड़ मारने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था।
मौसी– आह आह। आह आह आईईईई आईईईई आह आह ओह।
मैं– ओह मौसी बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा है।बहुत मस्त गांड़ है आपकी।अहा आह।
मौसी– आईईईई मम्मी मर गई।आह आह आईईईई।
मौसी को गांड़ मरवाने में बहुत ज्यादा दर्द हो रहा था।वो बहुत ज्यादा मचल रही थी। मैं मौसी की गांड़ मारने का मजा ले रहा था।
मौसी– आह अहा ईईईईई आईईईई। अहाः आह ओह रोहित बस कर यार।
मैं– ओह मौसी अभी तो शुरू ही हुआ हूं।

मौसी दर्द से तड़प रही थी और मैं मौसी की ताबड़तोड़ गांड़ मार रहा था। मौसी छत की दीवार को पकड़े हुए थी। गर्मियों की रात में मौसी को छत पर पेलना बहुत ही ज्यादा मजेदार था। मेरा लन्ड लगातार मौसी की गांड़ में लहरा रहा था। मौसी मेरे लंड के सामने नतमस्तक हो चुकी थी। मैं मौसी की गांड़ मारे जा रहा था। Antarvasna

मौसी– आह आह आईईईई अहा अहा आईईईई।

फिर थोड़ी देर मौसी की गांड़ की धमा धम ठुकाई के बाद मौसी कांप उठी और उनकी चूत में से लावा नीचे बहने लगा। मौसी पूरी पसीने से लथपथ हो चुकी थी।मेरा लन्ड लगातार मौसी की गांड़ की कसावट को ढीला कर रहा था।

मैं– ओह मौसी आह अहा बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा है।आह आह।
मौसी– ओह मर गई आज तो।आह आह आईईईई।बस अब तो बहुत हो गया यार।
मैं– मौसी थोड़ी देर और।
मौसी– आह आह आह आईईईई ओह रोहित तेरे घोड़े का लंड मेरी हालत खराब कर रहा है।
मैं– लेकिन मज़ा भी बहुत आ रहा है मौसी। मुझे आज आपको दिल खोलकर चोद लेने दो।

मौसी आज बहुत ज्यादा थक चुकी थी।अब मौसी के जिस्म का कतरा कतरा ढीला पड़ चुका था। अब मौसी सिर्फ मेरा साथ मात्र दे रही थी।मेरा लन्ड अभी भी मौसी की जमकर खबर लेे रहा था।इसी बीच मौसी एकबार फिर झड़ गई।आज तो मौसी बहुत ज्यादा चुदवा चुकी थी। गर्मियों की रात में मौसी को छत पर ठोका–3

फिर मैंने मौसी की बहुत देर तक गांड़ मारी। अब मैंने मौसी को वापस गद्दे पर पटक दिया और मौसी की टांगो को मेरे कंधो पर रख लिया। अब मैंने फिर से मौसी की चूत में लंड डाल दिया और मै मौसी को बजाने लगा।

मौसी– आह आह अहा आईईईई आह आह आह आह।
मेरा लन्ड सकसक मौसी की चूत में घुस रहा था। मौसी निढाल होकर मेरा लन्ड चूत में ले रही थी। मैं मौसी की जबरदस्त ठुकाई कर रहा था।
मौसी– आह। आह ओह आईईईई आह अहा आईईईई।

अब मेरे लन्ड के कहर को झेल पाना मौसी की बस की बात नहीं थी।वो बुरी तरह से थक चुकी थी। अब मुझे भी मौसी को चोदते हुए बहुत देर हो चुकी थी। अब मेरा लन्ड लास्ट ईयर में पहुंच चुका था। अब मैंने मौसी को बाहों में कस लिया और फिर मेरे लन्ड का पूरा माल मौसी की चूत में भर दिया। अब मैं निढाल होकर मौसी से चिपक गया। अब हम दोनों थोड़ी देर ऐसे ही पड़े रहे।फिर मैं मौसी के उपर से हटा।

आज मैं मौसी को चोदकर बहुत ज्यादा खुश था। मौसी को चोदना मेरे लिए बड़े सौभाग्य की बात थी। मौसी ने भी आज मेरे लन्ड के बहुत ज्यादा मज़े लिए।

अब मौसी उनके कपड़े ढूंढने लगी।फिर मैं मौसी के कपड़े उठाकर लाया। अब मैंने मौसी को पैंटी पहनाई और फिर मौसी को लोवर पहनाकर नाड़ा बांध दिया। अब मौसी ने टीशर्ट पहन ली। अब मैंने भी मेरे कपड़े पहन लिए। गर्मियों की रात में मौसी को छत पर ठोका–3

मौसी– चल अब सो जाते है।आज बहुत खतरनाक ठुकाई कर दी तूने मेरी। बहुत ज्यादा थका दिया।
मैं– मज़ा भी बहुत दिया है मौसी।
मौसी– हां हां। चल सो जा अब।

अब मैंने मौसी के पास ही गद्दा लगा लिया। अब मैं मौसी से चिपक कर सो गया।फिर सुबह होते होते मैंने मौसी को एकबार फिर बजाया। रातभर मौसी को चोदने का मज़ा कुछ अलग ही था यारो।

आपको मेरी ये कहानी कैसी लगी मुझे मेल करके जरूर बताएं– rohit24xx@gmail.com

पैसेवाले बॉस की जवान बेटी की बुर चुदाई की कहानी

दोस्तो, मेरा नाम आर्यन है. मैं दिल्ली में रहता हूँ. अभी मेरी उम्र 34 साल है. मेरी हाइट 5 फुट ...
Read More
गर्लफ्रेंड की बहन की चूत में उतारा लंड

गर्लफ्रेंड की बहन की चूत में उतारा लंड का खंजर!

दोस्तो, मैं अंश राजस्थान से हूँ. यहां  ये मेरी पहली देसी कॉलेज सेक्स कहानी है. यह एक सच्ची सेक्स कहानी ...
Read More
पापा ने अपनी साली मेरी मौसी को चोदा

पापा ने अपनी साली मेरी मौसी को चोदा – हिंदी कहानी

दोस्तो, मेरा नाम रोहित है और  मैं आपको मेरी असली जीजा साली की चुदाई कहानी सुनाता हूं जो कुछ साल ...
Read More
विधवा पड़ोसन भाभी को चोद के खुश किया

लोकडाउन में विधवा पड़ोसन भाभी को चोद के खुश किया

दोस्तो, मेरा नाम हितेश है और मैं गुजरात में रहता हूँ. मेरी उम्र 35 साल है और जॉब के कारण ...
Read More
देसी अम्मी को चोदा पराये आदमी ने

देसी अम्मी को चोदा पराये आदमी ने – चीटिंग सेक्स कहानी

मेरे घर में अम्मी अब्बू के अलावा मैं और मेरे दो छोटे भाई बहन भी हैं. अब्बू की एक छोटी ...
Read More
पड़ोसन भाभी रूबी को चोदा कोरोना लोकडाउन में

पड़ोसन भाभी रूबी को चोदा कोरोना लोकडाउन में

दोस्तो, इस हॉट पड़ोसन की चुदाई स्टोरी में मैंने करोना काल में चुदाई की मस्ती का रस भरने की कोशिश ...
Read More