होली में भाभी की चुदाई

ये कहानी इस साल की होली की हैं। मेरे घर के बगल में एक मस्त भाभी रहती हैं, जिनका पति बिज़नेस करता हैं और वो बिज़नेस के सिलसिले में ज़्यादा टाइम बाहर रहता हैं।
भाभी का नान रीना हैं ओर उनका साइज 34″ 30″ 34″ हैं। भाभी एकदम कंटाप माल लगती हैं। भाभी की नई -नई शादी हुई है। उनकी उम्र लगभग 25 होगी और अंकल की उम्र 45 है।
अंकल की पहली पत्नी मर गयी थी, इसलिए अंकल ने फिरसे शादी की। क्योकि वो बगल में ही रहते थे,इसलिए मेरी मम्मी से पहले ही बात शुरू हो गयी थी। फिर धीरे धीरे हम लोग एक दुसरे के यहाँ आने जाने लगे।
पैसे की कमी के चलते भाभी ने अपने से दुगनी उम्र वाले से शादी की थी। भाभी गाँव की थी। पर जो भी कहो, वो लगती एकदम ज़बरदस्त माल है। जो भी उनको देखे, उसका 20 सेकंड में लंड खड़ा हो जाये और मेरी उम्र 20 साल है, इसलिए जवानी तुरंत चढ़ जाती है।
मै उनके यहाँ एक दिन गया था, तब वो एक पिंक कलर के बाथिंग गाउन में दरवाज़ा खोलने आई। उनके बूब्स (boobs) साफ़ साफ़ दिख रहे थे मुझे और रीना भाभी की मटकती हुई बड़ी सी गांड मुझे अपनी ओर खींच रही थी।
अंकल जॉब पे गए हुए थे। मैं अपने आप को रोक नहीं पाया और मैंने भाभी को पीछे से जाके पकड़ लिया और बोलै :-
मैं :- भाभी मैं आपका दीवाना हूँ।
फिर मैंने भाभी का फेस अपनी तरफ घुमाया और उन्हें किस (kiss) करने लगा होंठो पे मममऊआआ। भाभी ने मुझे कुछ नहीं कहा और ऐसे कर रही थी, जैसे कुछ हो ही न रहा हो। अब किस करते हुए 10 मिनट हो गए थे। तभी अचानक से दरवाज़ा खाट – खटने की आवाज़ आई।
भाभी :- लगता हैं तुम्हारे भईया आ गए हैं।
मैं :- ओह शिट !
मैं आगे कुछ नहीं कर पाया। मैंने उसी वक़्त ही सोच लिया था, की इस होली पे भाभी की चुदाई करके, इनकी चुत फाड़ के भोंसड़ा बना दूंगा।
होली के दिन सुबह करीब 11 बजे मैं उनके घर पहुंचा। भाभी लाल साड़ी में थी और एक दम माल लग रही थी। काले ब्लाउज के ऊपर उभरते चुचे साफ़ दिख रहे थे। मेरी नज़र उनके चुचो से हट ही नहीं रही थी। कितनी भी कोशिश कर लू, मैं नज़र उनके चुचो से हटा ही नहीं पा रहा था।
भाभी :- क्या देख रहे हो राहुल?
मैं :- सोच रहा हु,की रंग कहा लागू आपको?
भाभी एक-दम खुल्ले विचारो की थी। फिर वो मुझे अंदर ले गई और दरवाज़ा बंद कर दिया। अब मैं डाइनिंग हॉल में था। भाभी में खाने में पकोड़े और पूरी दी।
भाभी :- जूस लोगे?
मैं :- जो भी आप पीला दो, मैं थोड़ी ना मना करूँगा। आप अपनी ही भाभी हो।
मैं :- भाभी पहले होली खेल लो, बाद में खाऊंगा।
भाभी :- पहले आराम से खा लो।
मैं :- आप अपने हाथो से खिला दो।
भाभी :- खुद खा लो मैं जा रही हूँ, रसोई में कुछ काम हैं।
मैं :- फिर मैंने 2-3 पीस खा लिए।

भाभी रसोई में थी। मैंने अपने हाथ में रंग लगा कर भाभी को पीछे से पकड़ा और उनके मुँह पे रंग लगा दिया। मैं भाभी के पीछे सटा हुआ था और मेरा लंड खड़ा हो गया और ऊपर से मैं अपना हाथ आगे से भाभी की जांघो में ले गया और भाभी की चुत को अपने हाथ से सहलाने लग गया।
भाभी :- ये क्या सारे कपडे ख़राब कर दिए तुमने।
मैं :- भाभी, अभी तो चेहरे पे ही लगाया हैं और अभी तो ये शुरुआत हैं।
भाभी :- ये लाल रंग तो आराम से छूट जायेगा।
मैं :- भाभी बच्चे कहा है आपके?
भाभी :- बाहर गए है रंग खेलने।
फिर मैंने हरा रंग निकाल के भाभी के फेस पे लगाया और उनके हाथ पे भी लगाया। भाभी भी अंदर से अपना रंग लेके आयी और मुझे लगाया। मैंने अब भाभी के चेहरे के साथ पूरे हाथो पे और कमर पे भी लगाया और धीरे -धीरे उनके चुचो को भी मसल के रंग लगाया।
भाभी :- ये क्या कर रहे हो राहुल ?
मैं :- रंग लगा रहा हूँ भाभी, आपने ही कहा था, की आराम से छूट जायेगा फेस का रंग।
भाभी :- तुम्हारी गर्लफ्रेंड नहीं है क्या ?
मैं :- आप बन जाओ ना भाभी, मुझे बस आप ही चाहिए हो।
भाभी :- अगर तुम पहले मिले होते, तो तुमसे ही शादी कर लेती मैं।
मैं :- अभी भी देर कहा हुई हैं भाभी।
भाभी :- चुप नालायक।
अब भाभी कुछ नहीं बोल रही थी। फिर मैंने धीरे से भाभी की साड़ी में हाथ दाल कर छूट में रंग लगाया और पीछे भाभी के गले पे किस करके चूमने लगा और उनके हाथ को भी चूमा।
अब दोनों आहें भरने लग गए थे और आह.. आह.. की आवाज़े आ रही थी। अब मैं फ्रिज से चॉकलेट लेके आया और भाभी के होंठ पे लगा के चूमने लगा। भाभी भी ठीक ऐसा ही करने लगी और अब मैं उनके गले पे चॉकलेट दाल के चूसने लगा।
भाभी :- आह आह जान आह i love you मेरी जान।
भाभी भी पूरा मज़ा ले रही थी हर चीज़ का। अब मैंने भाभी का ब्लाउज उतार दिया और पूरे चॉकलेट को पागलो की तरह चूसना शुरू कर दिया और धीरे धीरे काटना शुरू कर दिया।
भाभी :- आह उम्म्म हहह आह्ह…
अब मैं उनके एक बूब पे चॉकलेट लगा कर चूसने लगा और दूसरे हाथ से उनका दूसरा बूब दबाया। भाभी सिसकिया ले रही थी और अब मैंने उनकी साड़ी खोल के उन्हें नंगा कर दिया था।
फिर मैं उनकी चुत के पास गया। उनकी चुत पे हलके बाल थे और मुझे हलके बाल पसंद हैं और मैंने जीभ बाहर निकाल के उनकी चुत को चाटना शुरू कर दिया।

पैसेवाले बॉस की जवान बेटी की बुर चुदाई की कहानी

दोस्तो, मेरा नाम आर्यन है. मैं दिल्ली में रहता हूँ. अभी मेरी उम्र 34 साल है. मेरी हाइट 5 फुट ...
Read More
गर्लफ्रेंड की बहन की चूत में उतारा लंड

गर्लफ्रेंड की बहन की चूत में उतारा लंड का खंजर!

दोस्तो, मैं अंश राजस्थान से हूँ. यहां  ये मेरी पहली देसी कॉलेज सेक्स कहानी है. यह एक सच्ची सेक्स कहानी ...
Read More
पापा ने अपनी साली मेरी मौसी को चोदा

पापा ने अपनी साली मेरी मौसी को चोदा – हिंदी कहानी

दोस्तो, मेरा नाम रोहित है और  मैं आपको मेरी असली जीजा साली की चुदाई कहानी सुनाता हूं जो कुछ साल ...
Read More
विधवा पड़ोसन भाभी को चोद के खुश किया

लोकडाउन में विधवा पड़ोसन भाभी को चोद के खुश किया

दोस्तो, मेरा नाम हितेश है और मैं गुजरात में रहता हूँ. मेरी उम्र 35 साल है और जॉब के कारण ...
Read More
देसी अम्मी को चोदा पराये आदमी ने

देसी अम्मी को चोदा पराये आदमी ने – चीटिंग सेक्स कहानी

मेरे घर में अम्मी अब्बू के अलावा मैं और मेरे दो छोटे भाई बहन भी हैं. अब्बू की एक छोटी ...
Read More
पड़ोसन भाभी रूबी को चोदा कोरोना लोकडाउन में

पड़ोसन भाभी रूबी को चोदा कोरोना लोकडाउन में

दोस्तो, इस हॉट पड़ोसन की चुदाई स्टोरी में मैंने करोना काल में चुदाई की मस्ती का रस भरने की कोशिश ...
Read More