Hot Dost Sex Ki Kahani – बेस्ट फ्रेंड के साथ ही मचा ली चोदमपट्टी

हॉट फ्रेंड सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कॉलेज में पढ़ाई के दौरान मेरी दोस्ती एक बहुत ही हैंडसम लड़के से हो गयी. जब मैं बीमार हो गया तो वह मुझे डॉक्टर के पास ले गए। रास्ते में क्या हुआ?

सुनिए ये कहानी.


दोस्तो, मैं वंशिका हूं, पहले मैं आपको अपने बारे में बता दूं।
मेरी उम्र 21 साल है.
अगर मैं अपने फिगर की बात करूँ तो मैं एक बहुत ही कामुक शरीर वाली लड़की हूँ। मेरा साइज 36-34-38 है. उसके बहुत भरे हुए स्तन और बड़ी गांड है.
अगर कोई लड़का मेरी तरफ देखता है तो कुछ मिनटों तक मुझे देखता ही रह जाता है.

मैं रोज अन्तर्वासना सेक्स कहानियाँ पढ़ती हूँ, अपनी चूत में उंगली करती हूँ और रस निकालती हूँ।

एक दिन ऐसी ही एक सेक्स कहानी पढ़ते समय मुझे लगा कि मुझे भी अपनी सच्ची घटना एक हॉट फ्रेंड सेक्स स्टोरी के रूप में लिख कर आप सभी को बतानी चाहिए.

यह घटना मेरे साथ एक साल पहले घटी जब मैं कॉलेज में था।
फिर मैं किसी से ज्यादा बात नहीं करता था.

एक दिन मेरी मुलाकात एक लड़के से हुई.
गलती उसकी थी इसलिए उसने मुझसे सॉरी कहा.
मुझे नहीं पता कि जब मैंने उसे देखा तो मुझे स्वचालित रूप से उससे बात करने की इच्छा क्यों हुई।

मैंने उससे कहा- ओह सॉरी, मत करो. मैं भी दोषी था.
इस तरह मैंने भी उससे थोड़ा हैलो हैलो करके बात की.

फिर हम दोनों अपने-अपने रास्ते चले गए और एक-दूसरे के बारे में थोड़ा-बहुत जाना।
उस दिन मैं यूनिवर्सिटी की लाइब्रेरी में बैठा था, तभी अचानक वह फिर मेरे सामने आ गया।

उसने भी मेरी तरफ देखा. जब हमारी नजरें मिलीं तो मैं मुस्कुराया।
वह तुरंत मेरी मेज के करीब आ गया।

फिर हम दोनों ने बातें कीं, एक-दूसरे के बारे में बहुत कुछ जाना।
उसके बाद कुछ ऐसा हुआ कि हम दोनों साथ में पढ़ने लगे और साथ में लंच करने लगे.

मुझे पता ही नहीं चला कि क्लास के बाद मैं कब उसके साथ जाने लगी, मुझे होश ही नहीं रहा.
धीरे-धीरे हम दोनों बहुत अच्छे दोस्त बन गये।

मुझे अपनी सहेलियों को उस सहेली के बारे में बताना चाहिए ताकि उनकी चूत में भी उत्तेजना पैदा हो जाए.
उनकी हाइट 6 फीट 4 इंच है, उनकी जिम बॉडी है, वो दिखने में बहुत अच्छे लगते हैं. कोई भी लड़की उसके साथ एक मिनट में सेट हो सकती है जैसे मैं थी।

फिर एक दिन मेरी तबीयत अचानक खराब हो गई तो मुझे अस्पताल में भर्ती कराया गया।
मैंने उसे फोन करके बताया- ऋषभ, मेरी तबीयत अचानक खराब हो गई है.

उसने सारी जानकारी की और वह तुरंत अपनी कार लेकर आया।
अब मेरी तबीयत ठीक थी, फिर भी वो नहीं माने.

वह मुझे दूसरे डॉक्टर के पास ले गया.
वहां से सब कुछ ठीक होने के बाद वो मुझे वापस ले जाने लगे.

जब हम वापस आये तो उसने अचानक कार के ब्रेक लगा दिये.
जैसे ही मैं आगे गिरी, उसने मुझे बचाने के लिए अपना हाथ मेरी छाती के सामने रख दिया।
उसके हाथ से मेरे स्तन दब गये.

मैंने पहले कभी उसे इस तरह नहीं देखा था, लेकिन फिर मेरे अंदर की इच्छा जाग उठी.
उसके अंदर भी कुछ हुआ था, लेकिन मैंने कुछ नहीं कहा.

हम दोनों ने उस बात को नजरअंदाज कर दिया.

जब वह कार का गियर बदल रहा था तो वह कभी मेरे स्तनों को छू रहा था तो कभी मेरी जांघों को छू रहा था।
मेरे अंदर पहले से ही बहुत तीव्र कामेच्छा थी और लंड लेने की इच्छा और भी प्रबल हो गई थी।

उसने मुझे पागल करना शुरू कर दिया.
मैंने भी सोचा कि क्यों ना मौके का फायदा उठाया जाए. अगर मुझे यह पसंद है तो मैं इसे करता हूं। अगर मैंने उसके साथ सेक्स किया तो मेरा क्या होगा?

अब मैंने मन बना लिया था और उसे नहीं रोका.
बल्कि मैंने भी अपना हाथ उसकी जाँघ पर रख दिया जैसे मुझे उसके सहारे की ज़रूरत हो।
अगर दोबारा ब्रेक लगाने पर झटका लगता है तो इसकी मदद से मैं खुद को गिरने से रोक सकता हूं।

जैसे ही मेरा हाथ उसकी जांघ पर गया, वो समझ गया.
कुछ दूर तक कार चलाने के बाद उसने एक सुनसान जगह पर कार रोक दी.

मैंने उसकी तरफ देखा और हल्का सा मुस्कुराया.
वो भी मुस्कुराया और मुझे हाथ में पकड़ कर अपने पास खींच लिया और मुझे चूमने लगा.

मैंने भी उसका समर्थन किया.
चूमते-चूमते कभी वो मेरे मम्मे दबाता, कभी मेरी गांड सहलाता।
मैंने उसे पागलों की तरह चूमा और उसके बालों में हाथ फिराया।

कुछ पल बाद ऋषभ बोला- वंशिका उठो और मेरी गोद में आ जाओ.
मैं गेट खोलकर उसके पास गया तो उसने मुझे अपने ऊपर बैठा लिया.

उसने अपनी सीट पीछे की ओर फैला रखी थी.
मैं उसके चेहरे के सामने अपना चेहरा रख कर बैठ गया.

हम दोनों होंठों पर किस करने लगे.
कभी वो एक दूसरे के गालों पर किस कर लेते थे.. तो कभी एक दूसरे के गालों को काट लेते थे. कभी मैं उसकी गर्दन को चूमती.. तो कभी वो अपने हाथों से मेरे दूध दबा देता था।

मुझे अच्छा महसूस हुआ।

बीच-बीच में उसने मेरी गांड भी मारी.

कुछ देर बाद ऋषभ उठा और मुझे पीछे की सीट पर ले गया।
उसने मुझे सीट पर बिठाया और मेरी शर्ट उतार दी.

काली ब्रा में मेरे स्तन हिल गए।
काली ब्रा में कसे हुए मेरे गोरे गोरे स्तन देख कर वो पागल हो गया.

आप भी सोचिए कि एक जवान लड़की के 38 साइज़ के गोरे स्तन काली ब्रा में कैसे दिखेंगे… लंड खड़ा होगा या नहीं!

ऋषभ बोला- वंशिका मैंने आज तक तुम्हें ऐसे कभी क्यों नहीं देखा… तुम क्या हो यार… तुम तो हर दिन का मजा ले सकती थी.
मैंने उसका चेहरा खींच कर अपने स्तनों पर रख दिया और कहा- अब मजा लो मेरी जान.

मैंने उसके मुँह को अपने स्तनों के बीच रगड़ा और उसने मेरे दोनों स्तनों को दोनों हाथों से बहुत ज़ोर से भींच लिया।

दर्द तो मुझे भी हो रहा था लेकिन मजा उससे भी ज्यादा था.
मेरे मुँह से सीधा निकला, ‘आह आह आह ऋषभ आराम से…’।

लेकिन वह नहीं रुके.
मेरे कसे हुए कसे हुए मम्मे उसके हाथ में आ गये थे, उसे वह कहाँ छोड़ने वाला था।

फिर उसने मेरे स्तनों को ब्रा से बाहर निकाला और एक को चूसने लगा और दूसरे को मसलने लगा।
वो एक एक करके मेरे दोनों मम्मों का हलवा बना रहा था और मेरे निपल्स को मुँह में भर कर खींच रहा था.

दोस्तो, जब किसी लड़की के दूध चूसे जाते हैं तो उसकी चूत से रस टपकने लगता है। मेरी दोनों टांगों के बीच यही हुआ. चूत से निकलने वाला रस चड्डी को भिगोने लगा और मेरे मुँह से बस आह आह ऋषभ की आवाज निकल गई.
बीच-बीच में उसने मेरे मम्मों को भी चूमा.. और होंठों को भी।

हम दोनों की जीभ पर भी मजा आ गया.

तभी अचानक एक कार के तेज़ रफ़्तार से निकलने की आवाज़ आई।
वो कार थोड़ा आगे जाकर वापस आई और उसमें से आवाज आई कि भाई तुम्हें मेरी जरूरत हो तो बताना.

तब तक हम दोनों शांत हो गये और अलग हो गये।

वह कार तुरंत चली गई।

एक मिनट तक हम दोनों बैठ कर नाश्ता करते रहे, फिर एक दूसरे को देख कर हंसे.
अब मैंने अपने कपड़े पहन लिये. जब मैंने अपनी शर्ट उतारी तो वह थोड़ी फट गई थी, लेकिन वह पहनने के लिए बिल्कुल उपयुक्त थी।

ऋषभ ने कार स्टार्ट की.

लेकिन अब तक मेरी चूत जल रही थी.
मैं उसके लंड के लिए तरस रही थी. उसका लंड भी बहुत टाइट हो गया था, वो मेरी पैंट से साफ़ दिख रहा था.

मुझसे रहा नहीं गया और मैं अपना हाथ उसके लंड पर फिराने लगी.
वो भी पागल हो रहा था.

फिर मैंने उसकी पैंट खोली और उसके अंडरवियर से उसका लंड बाहर निकाला.

मैं उसका लंड देख कर डर गयी.. इतना मोटा और लम्बा.. कम से कम 7 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा रहा होगा।

उसने लंड बाहर निकाला और पहले उस पर अपना हाथ ऊपर नीचे किया.

फिर ऋषभ ने मुझसे लंड चूसने को कहा.
इससे पहले कि मैं कुछ कह पाती, उसने मेरा सिर पकड़ कर अपने लंड पर दबा दिया.

मैंने भी झट से उसका लंड अपने मुँह में ले लिया.
अब उसने कार चलायी और मैंने उसका लंड चूसा.

मनोरंजन में उसकी आँखें भी बंद हो गईं; उसके मुँह से भी आह निकल गयी.
उसने एक हाथ से मेरा सिर दबा दिया.

मैंने उसका पूरा लंड अपने मुँह में ले लिया.
मुझे उसका टेस्ट इतना पसंद आया कि आज भी जब मैं उसके लंड के बारे में सोचती हूं तो मेरे मुंह में उसका टेस्ट याद आ जाता है.

फिर हम एक दोस्त के कमरे पर पहुँचे।
उसका दोस्त कहीं बाहर गया हुआ था.
दोस्त ने बताया कि चाबी गमले के नीचे है.

हम दोनों वहां पहुंच गये.
अपार्टमेंट में कोई नहीं था.

हम दोनों मौके का फायदा उठाकर अंदर चले गये.
मैं बिस्तर पर लेट गया; वह जल्दी से गेट बंद करके अंदर घुस गया।

अंदर जाते ही उसने मुझे किस किया और हम दोनों एक दूसरे के कपड़े उतारने लगे.
एक दूसरे के शरीर को चूमने लगे.

उसने मेरी ब्रा भी उतार दी.

उसने मेरे दोनों स्तनों को अपने कब्जे में लेकर उनसे खेलना शुरू कर दिया.
एक को मुँह से चूसा और दूसरे को मसला।
मैं सिर्फ पैंटी में थी.

मैंने उसकी चड्डी भी उतार दी और वापस उसका लंड चूसने लगी।
मैंने उसे अपनी गांड हिला कर दिखाई.

वो बार बार मेरी गांड पर थप्पड़ मार रहा था. अगर वो कभी मेरी चूत में उंगली डाल देता तो मैं और जोर से उसका लंड चूसने लगती.

फिर हम दोनों 69 की अवस्था में आ गये.
उसने मुझे अपने पास ले लिया.
उसने मेरी चूत चाटी और मैंने उसका लंड चूसा.

कुछ देर बाद उसने मुझे सीधा लिटाया और मेरे ऊपर आ गया, आते ही किस करने लगा।
तो पता नहीं कब उसने मेरी चूत में लंड डाल दिया.

मेरे मुँह से बहुत तेज़ चीख निकली, लेकिन वो चूमता रहा.

मैं रोने लगा.
उसने धक्का नहीं दिया.

जब मैंने रोना बंद किया तो उसने धक्का देना शुरू कर दिया.
वह जोर जोर से धक्के मारने लगा.
मेरे मुँह से आह आह आह ऋषभ की आवाज निकली.

वो मेरे दूध चूसते हुए मुझे चोदना चाहता था.. और तेज धक्के लगाते हुए मेरी चूत को मोटा करना चाहता था।
थोड़ी देर बाद हम दोनों शांत हो गये और नंगे ही एक दूसरे से लिपट कर सो गये.

करीब एक घंटे बाद जब मेरी आंख खुली तो उसने मेरी चूत को चाटा.
फिर से शुरू हो गई हॉट फ्रेंड सेक्स.

इस बार उसने मुझसे अपने लंड की सवारी करने को कहा.
मुझे लंड की सवारी करने और अपने प्रेमी को अपने स्तन पिलाने में मजा आया।

उस दिन की चुदाई के बाद मैं न जाने कितनी बार ऋषभ से चुद चुकी हूँ।
आपको मेरी हॉट फ्रेंड की सेक्स स्टोरी कैसी लगी, कृपया कमेंट में बताएं.
[email protected]

मौसी को अपनी बीवी बना के चोदा चोदी की

कैसे हो प्यारे दोस्तो? मुझे उम्मीद है कि आप लोग सब मजे कर रहे होगे. आपके इसी मजे को बढ़ाने ...

शादी के बाद भी कुंवारी रही लड़की की चुदाई की कहानी

प्यारे दोस्तो … मेरा नाम आशीष है भीलवाड़ा राजस्थान से हूँ. मैं XXXVasna का पुराना पाठक हूँ. काफी दिनों से ...

गांड मारकर गुड मॉर्निंग कहा- Sexy Bhabhi Ki Chudai

मैं काम के सिलसिले में मुंबई चला आया क्योंकि हमारा शहर बहुत छोटा है और वहां पर मुझे ऐसा कुछ ...

भैया बन गए सैंया- Bhai Behen ki Chudai

मेरे 12वीं के एग्जाम नजदीक आने वाले थे और मैं बहुत घबराई हुई थी क्योंकि मैंने इस वर्ष अच्छे से ...

पापा अपनी छमिया के साथ- Romantic Sex Story

हेलो दोस्तो। मेरा नाम पारुल (उम्र २०) है। मैं अपनी ज़िन्दगी की पहली कामुक कहानी आप लोगों को पेश कर ...

कामवाली के साथ रंगरेली मनाई- Kaamvali Ki Chudai

कामुक कहानी पढ़ने वाले दोस्तों को मेरा नमस्कार। मेरा नाम मोहन गुप्ता (उम्र २२) है। मैं नोएडा में रहता हूँ। ...

Leave a Comment