होटल में बहन की चुदाई

हैलो, दोस्तो कैसे हो आप लोग। मेरी पिचली कहानी को कफी लोगो ने पसंद किया और मुझे धर सारे ई-मेल मिले। आज मैं आप लोगो को एक दुसरी कहानी सुनाने जा रहा हूं। पिचली कहानी मैं आप लोगो को बता चुका हूं की मेरी 2 बहनें है। पहली बहन जिस्का नमिता है और वो 21 साल की है। दोस्तो मैंने अपनी पिचली कहानी मैं बताया की मैंने कैसे अपनी बड़ी बहन नमिता की चुदाई की लेकिन इस बार मैं आप लोगो को अपनी छोटी बहन सौम्या की चुदाई की दास्तान सुनने जा रहा हूं।

ऐसा नहीं है की मैं सौम्या को शुरू से पसंद करता था, मैं तो नमिता को पसंद करता था लेकिन हमलोगो के साथ ऐसा संतृप्ति बन गया की मैंने सौम्या के साथ भी चुदाई हो गया। दोस्तो ये कहानी एक बांध असली है अगर आप को अच्छी लगे तो जरा मुझे ई-मेल के द्वारा बतायेगा। अखिर ये सब बताते मैं आप लोगो के साथ ही बंट सकता हूं और किसी के साथ तो नहीं बंट सकता तो दोस्तो मैं अपनी कहानी शुरू करता हूं। ये तब की घाटा है जब मैंने नमिता को छोड चुका था।

ये घाटना करीब 5 महिने पहले की है। दसरी बहन जिस्का नाम सौम्या है वो 16 साल की है। दोस्तो मैं 25 साल का हूं और मैं कानपुर मैं रहता हूं। मेरी बहन सौम्या (16 साल की) जो की हॉस्टल मैं रह कर पढती है। कानपुर से करीब 200 किमी दूर है। सौम्या की चुटिया शुरू होने वाली थी लिए वो घर आने वाली थी। उसे फोन कर के बताया की वो अपने दोस्त के साथ ट्रेन से आ जाएगी। वैसा हमेश जब सौम्या की चुटिया होती थी तो मैं ही लेन जाता था।

जिस दिन सौम्या आने वाली थी उस दिन मैं घर पर ही था और उसके आने का इंतजार कर रहा था, तबी फोन आया की सौम्या ट्रेन से नहीं आ रही है क्योंकि उसे दोस्त अपने किसी रिश्तेदार के पास चली गई है। इस लिए मुझे सौम्या को लेन जाना होगा। उस वक्त करीब 3 बज रहे थे और सौम्या का हॉस्टल घर से करीब 200 किमी दूर था। अब अगर मैं ट्रेन से जाता से देर हो जाती और हॉस्टल में ही उस दिन रहना पदा, इस लिए मैंने मां से कहा की मैं कार से चला जाता हूं, सौम्या को लेन, मां ने मुझे इज्जत दे दी।

फिर मैं कार लेकर निकल पड़ा। करीब 4 गंटे लग गए, मुझे नमिता के हॉस्टल पहुचने मैं। उस समय करीब 7 बज रहे थे। मैं जैसे ही वहा पहूँचा तो देखा की मेरी प्यारी बहन सौम्या हॉस्टल के बहार खादी होकर मेरा इंतजार कर रही थी क्योकी हॉस्टल की सभी लड़की चली गई थी। मेरे पहले ही उसे आकार मुझे गले लगा लिया और बोली की “भैया मुझे लगा की आप नहीं आओगे।” मैंने कहा की “मैं तो आने ही वाला था लेकिन तुमने ही तो मन कर दिया और तुमने बोला था की तुम किसी सहेली के साथ आओगी, फिर उसे सॉरी बोला मैंने फिर उससे गले से लगा लिया।

[maxbutton id=”1″]

जब सौम्या मुझे गले लगी थी तब उसकी चुचि मेरे सिने से सात हुआ था, मैंने महसूस किया की सौम्या एक बांध मल बन गई है उसकी एक बांध टाइट और बड़े बड़े लग रहे थे। मेरा टू लैंड खड़ा होने लगा था। फिर जल्दी से मैंने हॉस्टल से सौम्या का भीख लेकर कार में रखा और हॉस्टल वदेन से अनुमति लेकर हम लोग घर की तरफ निकल गए। सौम्या ने उस दिन पूरी स्कर्ट और हाफ टॉप पाना था, जिस करन से वो गजब की सुंदर लग रही थी।

Antarvasna Story

समय की चुची तो एक बांध से उसके ऊपर मैं दबी थी जिस करन वो एक बांध तेते लग रही थी। अब हम लोग 50 किमी हाय गए की रोड पर जाम लगा हुआ था, मैंने जकर पुचा की ये जाम क्यो लगा है तो वहा के लोगो ने बताया की उम्र एक ट्रैक और बस मैं तकर हो गया है और रोड जाम हो गया है ये रास्ता करीब 4 या 5 गांते खराब ही खुलेगा। अब मैंने सोचा की लगता है की आज रात यही कहीं गुजरी होगी।

फिर मैंने जकर ये बात सौम्या को बता और फोन पर माँ और पिताजी को भी बता दिया। उन्होन कहा की आज वही पर कहीं अगर होटल मिला है तो रुक जाओ वैसा भी कफी रात हो गया है और कल सुबह वहा से चल देना, मैंने कहा की ठीक है और मैंने कार वापस मोड कर वही के पास के लिए मुख्य होटल खोजा। उस समय करीब 9 बजे थे, जल्द ही हम एक छोटा मोटा होटल दिखा अब हम रुकना था इस लिए कैसा भी होटल चलता।

मैंने वहा जकार रूम के लिए पुचा और हम एक रूम मिल गया वैसा वह लड़कों के साथ जाने की मनाही थी लेकिन जब मैंने कहा की वो मेरी बहन है तो कुछ नहीं कहा। फिर मैंने बेग कार से उत्तर कर और सौम्या के साथ होटल के कमरे में चला गया। मैंने सौम्या से कहा की तुम फ्रेश हो लो तब तक मैं कुछ खाने के लिए देखता हूं। होटल मैं जकार मैंने खाने के लिए बोला लेकिन छोटा होटल होने के करन उन कहा की वहा खाना नहीं मिला है।

इस लिए मैं खाना लेन चला गया, मार्केट से मैंने कुछ खाना लिया और मैंने अपने लिए एक जिन (वाइन) लिया और साथ ही साथ मैं एक लिम्का की बोतल ली क्योकी मैं बना कोल्ड ड्रिंक के जिन नहीं पिता था। मैंने कमरा मैं आकार दरवाजा खुलवाया तो मैंने देखा की सौम्या फ्रेश हो चुकी थी और बाथ लेने के करन उसके बाल गिले द और उसे स्लीवलेस एक बांध पाटली नाइटी पनी थी, जिसे उसे पैंटी और ब्रा हल्के देख रहे थे।

मैंने जैसा ही उससे देखा मेरा जमीन खड़ा होने लगा सोचा लगा की यार मेरी बहन मेरी जी/मित्र क्यो नहीं है, तबी मुझे एक विचार आया मैंने सोचा की क्यो ना आज की रात अपने जमीन में प्यार सौम्या से बुझाई जाए। फिर मैंने टेबल पर खाना रख कर फ्रेश होने चला गया और वापस लौट कर खाना खाने बैठा गया। मैंने सौम्या को नहीं बताया था की मैंने जिन (श्रब) भी लाया हूं और मैंने कभी कभी श्राब भी पिता हूं इस लिए मैं चुपके से बहार जकार जिन की एक पग बना कर पाई ली और भीतर आ गया फिर हमदोनो सौम्या से पानी लेन को कहा और मैंने तुरंत उसके कोल्ड ड्रिंक मैं एक पग जिन दाल दी।

पैसेवाले बॉस की जवान बेटी की बुर चुदाई की कहानी

दोस्तो, मेरा नाम आर्यन है. मैं दिल्ली में रहता हूँ. अभी मेरी उम्र 34 साल है. मेरी हाइट 5 फुट ...
Read More
गर्लफ्रेंड की बहन की चूत में उतारा लंड

गर्लफ्रेंड की बहन की चूत में उतारा लंड का खंजर!

दोस्तो, मैं अंश राजस्थान से हूँ. यहां  ये मेरी पहली देसी कॉलेज सेक्स कहानी है. यह एक सच्ची सेक्स कहानी ...
Read More
पापा ने अपनी साली मेरी मौसी को चोदा

पापा ने अपनी साली मेरी मौसी को चोदा – हिंदी कहानी

दोस्तो, मेरा नाम रोहित है और  मैं आपको मेरी असली जीजा साली की चुदाई कहानी सुनाता हूं जो कुछ साल ...
Read More
विधवा पड़ोसन भाभी को चोद के खुश किया

लोकडाउन में विधवा पड़ोसन भाभी को चोद के खुश किया

दोस्तो, मेरा नाम हितेश है और मैं गुजरात में रहता हूँ. मेरी उम्र 35 साल है और जॉब के कारण ...
Read More
देसी अम्मी को चोदा पराये आदमी ने

देसी अम्मी को चोदा पराये आदमी ने – चीटिंग सेक्स कहानी

मेरे घर में अम्मी अब्बू के अलावा मैं और मेरे दो छोटे भाई बहन भी हैं. अब्बू की एक छोटी ...
Read More
पड़ोसन भाभी रूबी को चोदा कोरोना लोकडाउन में

पड़ोसन भाभी रूबी को चोदा कोरोना लोकडाउन में

दोस्तो, इस हॉट पड़ोसन की चुदाई स्टोरी में मैंने करोना काल में चुदाई की मस्ती का रस भरने की कोशिश ...
Read More

Leave a Comment