कोमल और उसकी सेक्सी कामनाये

हेलो दोस्तों कैसे हो आप लोग अन्तर्वासना स्टोरी में ये मेरी तीसरी कहानी है, यदि किसी ने मेरी पुरानी कहानी “मेरी बीबी और उसकी सेक्सी कामनाये” और ” वेदिका और उसकी सेक्सी कामनाये” नहीं पढ़ी तो उसे भी पढ़ ले वो कहानिया काफी सेक्सी है, मेरी पिछली कहानियो को पढ़कर मुझे कई मेल आये है लोगो ने मेरा काफी उत्साहवर्धन किया, जैसा की मैंने पिछली कहानी में जिक्र किया था की मेरी एक छोटी बहन भी है जिसका नाम कोमल है कोमल मुझसे १ ही साल छोटी है।

आप में से लगभग सभी ने मुझे कोमल की चुदाई की कहानी भी लिखने के लिए बहुत रिक्वेस्ट की तो आप लोगो की इच्छा का सम्मान करते हुए मैं ये कहानी लेकर आया हूँ ये कहानी उस समय की है जब वेदिका की शादी हो गयी थी और मनु भाई जिन्होंने वेदिका की सील तोड़ी थी वो कोई कोर्स करने २ साल के लिए कनाडा गए थे, मैं कालेज के प्रथम वर्ष में था और कोमल १२वी में थी कोमल पढ़ने में काफी होशियार थी।

यहाँ मै कोमल के बारे में विस्तार से बताता हूँ, कोमल थोड़ी सांवली सी लड़की थी पर उसके नैन नक्श तीखे थे, वो एवरेज बॉडी की जरूर थी पर उसकी चुचिया और गांड काफी बड़ी थी, ऐसे जैसे कोई शादीशुदा खूब चुदी हुयी औरत के रहते है कनाडा जाने के पहले मनु भाई ने कोमल की सील भी तोड़ दी थी, पर वो उसे दो या तीन बार ही चोद पाए होंगे ये कहानी मनु भाई और कोमल के बारे में नहीं है बल्कि मेरे जिगरी दोस्त शोएब और कोमल के बारे में है।

मैंने कहानी में पहले मेरे दोस्त शोएब का भी जिक्र किया था शोएब १२वी में फेल हो गया था और अब वो कोमल की क्लास में था, इस उम्र तक आते तक न जाने उसने कितनी लड़कियों की चुदाई कर दिया था, उसकी नजर कोमल पर १०वी क्लास से ही थी चूँकि अब कोमल और शोएब एक ही क्लास में थे तो शोएब ने कोमल से दोस्ती कर लिया था, शोएब  १२वी गणित और फिजिक्स में फ़ैल हो गया था तो उसने गणित को बदल के बायो विषय लिया था, जबकि कोमल का भी सब्जेक्ट बायो ही था।

ये बात फरवरी के मध्य की है मेरी एग्ज़ाम अप्रैल मई मे थी जबकि कोमल और शोएब की एग्ज़ाम मार्च से चालू होने वाली थी, शोएब ने मुझसे रिक्वेस्ट की यदि कोमल उसे फिजिक्स और बायो थोड़ा समझा दे तो वो इस बार पास हो जायेगा, मैं उसे मन नहीं कर सका मैंने कोमल से बात की तो वो सहर्ष राजी हो गयी, मैं और कोमल रात में छत के ऊपर बने रूम में बड़ा सा बिस्तर लगाकर उसपर ही पढ़ते और नींद आने पर सो जाते थे, बिस्तर ३-४ लोगो के सोने के लिए पर्याप्त था।

दूसरे दिन से शोएब ने भी हमको ज्वाइन कर लिया कोमल और शोएब दोनों एक साइड में पढ़ते थे जबकि मैं दूसरे साइड में पढ़ता था मेरी एग्ज़ाम लेट थी इसलिए मै ग्यारह – साढ़े ग्यारह तक सो जाता था जबकि वो दोनों रात एक बजे तक पढ़ते थे, एक रात करीब दो बजे मेरी नींद खुली तो मैंने देखा की शोएब और कोमल भी पढ़ते हुए सो गए थे, कोमल बेसुध होकर खर्राटे ले रही थी  उसकी स्कर्ट जांघो के ऊपर तक हो गयी थी।

शोएब उसके करीब सोया हुआ था और उसका हाथ कोमल की के स्कर्ट के अंदर से उसकी गांड को हलके हलके सहला रहा था मैं सोने का नाटक करके सब देखने लगा की शोएब आगे क्या करता है, मुझे पक्का शक था की शोएब कुछ न कुछ जरूर करेगा, कोमल अभी भी गहरी नींद में सोयी थी कोमल जब सोती थी तो घोड़े बेचकर सोती थी, फिर चाहे उसके सामने कोई ढोल ही क्यों न पिटे वो उठती नहीं थी  शोएब ऐसा मौका हाथ से नहीं गवाना चाहता था. वो शोएब की तरफ पीठ करके सोयी थी।

शोएब ने अपना सर उठा कर मेरी तरफ देखा मैं सोने का नाटक कर रहा था शोएब ने फिर कोमल के चेहरे के तरफ देखा जब उसे तस्सली हो गयी की हम दोनों गहरी नींद में है तो उसने कोमल के स्कर्ट को कमर तक उठा दिया अब मुझे कोमल की चड्डी नजर आने लगी उसने नीली कलर की जालीदार जी- स्ट्रिंग चड्डी पहनी थी जो बमुश्किल उसकी गांड के छेद को और चुत ढाक पा रही थी, शोएब ये देख कर और उत्तेजित हो गया और उसने अपना ७ इंच लम्बा और २ इंच लंड को निकाल लिया।

फिर उसने कोमल की चड्डी को हल्का सा सरका दिया और उसकी सुन्दर गांड को निहारने लगा जबकि एक हाथ से वो अपना लंड मुठियाने लगा और अपनी एक ऊँगली उसकी गांड में  घुसाने लगा, कोमल हल्का सा हिली तो उसने तुरंत ही उसकी गांड से ऊँगली निकाल लिया कोमल पेट के बल पलट कर सो गयी उसका स्कर्ट अभी भी कमर के ऊपर ही था जबकि उसकी चड्डी जांघो में फंसी थी, शोएब करीब पांच मिनट का वेट किया जब उसे लगा की कोमल जगी नहीं है।

तब उसने अपने दोनों हाथो से कोमल की गांड को थोड़ा सा फैलाया और अपनी जीभ से उसके छेद को हल्के हल्के चाटने लगा और एक हाथ से मुठ मारने लगा करीब १० मिनट बाद उसके लंड ने पिचकारी मार दी, फिर वो अपने वीर्य को अपनी दो उंगलियों में लेकर कोमल के गांड के छेद में अंदर डालने लगा लगभग दो चम्मच वीर्य कोमल की गांड के अंदर डालकर उसने कोमल की चड्डी को ऊपर किया और स्कर्ट को निचे कर करके मेरे करीब आकर सो गया।

ऐसे ही ७-८ दिन बीत गए शोएब का ये रोज का ही काम हो गया था, पर वो इससे आगे नहीं बढ़ रहा था ज्यादा से ज्यादा वो उसकी गांड में अपना लंड घिसता.  एक रात कोमल को उसको बायो का मानव जनन से संबंधित विषय समझाना था, कोमल मेरी उपस्थिति में हिचक रही थी तब मैं सोने का नाटक करते हुए बिस्तर पर लुढ़क गया और झूट मुठ के खर्राटे लेने लगा।

जब कोमल और शोएब को लगा की अब भैया सो गया तो उसने शोएब को वो चेप्टर विस्तार से समझाने लगी की कैसे आदमी बच्चे पैदा करने के लिए अपने लंड को औरत की चुत में डालकर उसे  चोदता है (वो उसे बायोलॉजिकल भाषा में समझा रही थी), उसने उसे डायग्राम द्वार आदमी और औरत के जनन अंग दिखाए ये देखकर शोएब का लंड तन गया उसने अपनी गोदी में तकिया रख लिया।

ताकि कोमल उसके तने लंड को ना देख सके और उसने भोले बनते हुए पूछा – ” कोमल ये डायग्राम में तुमने जो आदमी का शिश्न दिखाया  ये औरत की योनि के अंदर कैसे चले जाता है क्योकि मेरा भी पर वो तो निचे लटका रहता है और तुमने ये भी बताया की उसके अंदर से शुक्राणु कैसे निकलते है, तब कोमल हसकर बोली – अरे बुद्धू ये तुम अभी नहीं समझोगे, जब तुम्हारी शादी हो जाएगी और तुम अपनी बेगम की योनि को देखोगे तो वो लम्बा और बड़ा हो जायेगा।

तब शोएब ने फिर पूछा – तो क्या आदमी के लिंग जाने के बाद ही बच्चा पैदा हो जाता है, तब कोमल ने अपने माथे को पीटते हुए बोली – नहीं रे पागल आदमी औरत के योनि में अपना लिंग डालके जब उसकी चुद…(कोमल चुदाई बोलते बोलते रुक गयी)  सारी झटके मारता है और अपना वीर्य उसकी योनि में छोड़ देता है जिससे उन दोनों को बहुत मजा भी आता है, तब शोएब ने पूछा की – क्या ये शादी के बाद ही करना होता है, तो वो बोली – नहीं मजे लेने के लिए शादी के पहले भी कई लोग करते है।

बल्कि इससे औरत आदमी को बहुत ही ज्यादा मजा आता है, पर इसे शादी के पहले गलत माना जाता है,कोमल भी अब थोड़ी उत्तेजित हो गयी थी और उसकी सांसे हलकी सी तेज चलने लगी थी तब शोएब बोला – क्या तुमने भी कभी ऐसा काम किया है कोमल थोड़ा सकपका गयी और हड़बड़ाते हुए बोली – मुझे नींद आ रही है अब बाकि कल बताउंगी, तुम भी चुपचाप सो जाओ. शोएब कुछ ना बोला और मेरे बगल में आ के सो गया मुझे मालूम था की शोएब आज कुछ ना कुछ करेगा इसलिए मैं सोने का नाटक कर रहा था।

उधर थोड़ी देर में कोमल भी सो गयी, कोमल आज चित सोयी थी उसकी नोकदार बड़ी बड़ी चूचिया जोर जोर से साँस लेने के कारन हिल रही थी, शोएब धीरे से उठ कर उसके करीब जा कर लेट गया और उसने उसके स्कर्ट को कमर के ऊपर कर दिया, फिर उसने कोमल की चड्डी को धीरे धीरे उतार दिया मैं कनखियों से ये सब देख रहा था, शोएब ने कोमल के पैरो को विपरीत दिशा में फैला दिया जिससे उसकी चुत खुल के सामने आ गयी, कोमल की चुत काली थी और उसके ऊपर काले काले घने बाल थे।

कुछ भी कहो चुत शानदार थी और शोएब उसे देख कर पागल हो गया उसने उसे थोड़ा फैला कर अपनी ऊँगली उसके अंदर कर दिया ऊँगली आसानी से अंदर चली गयी, साथ ही कोमल की चुत काफी चिपचिपी भी थी शोएब ने उसे थोड़ी देर चाटा और फिर मुठ मारने लगा जब वो झड़ गया तो उसने अपना वीर्य अपनी ऊँगली से कोमल की चुत के अंदर कर उसको चड्डी पहना कर सो गया.

दूसरे दिन मैं और शोएब पार्क में घूम रहे थे तो मैंने अचानक शोएब से पूछा – क्यों बे तू रात को मेरी बहन के साथ क्या करता है, शोएब हड़बड़ा कर बोला – कककुछ तो नहीं, मैं झूट मुठ का गुस्सा होते हुए बोला  – साले झूट मत बोल मैं बहुत दिनों से तुझे देख रहा हूँ, अब शोएब के पास कोई चारा नहीं था तो वो बोला – सॉरी भाई अब से मै वो नहीं करूँगा, प्लीज मुझे घर आने से मना मत करना वरना मै फिर फ़ैल हो जाऊंगा।

मैं मुस्कुराते हुए बोला – अबे फटटू हमने वेदिका की चुदाई साथ साथ देखि है, और तू तो उसके नाम की मुठ भी मारता था मुझे नहीं पता था की तू कोमल को भी चोदना चाहता है साले पर तू गांडू है, इतने दिन से बस तू उसकी गांड में ऊँगली ही कर  रहा है, तब शोएब रिलैक्स होते हुए बोला – भाई मै तो डर ही गया था, मै तो तेरे कारन ही रुका था अब देख आज तेरी बहन की क्या हालत करता हूँ और तेरेको मामा बनाता हूँ।

मै बोला – तेरेको जो करना है कर पर मुझे लाइव दिखाना जरूर, वो बोला – साले वैसे ही तो तू देखेगा ही वैसे भाई तेरी बहन की सील टूटी हुयी है, मुझे कल ही पता चला तब मै बोला – भाई मनु भाई ने वेदिका से वादा किया था कोमल की सील तोड़ने का वो तेरे लिए थोड़ी ना छोड़ने वाले थे फिर हम दोनों हसने लगे.

रात के ९ बजे शोएब आया, रात करीब १० बजे मैंने कोमल को बोला – कोमल शोएब बोल रहा था की मेरे खर्राटे तुमको पढ़ने में डिस्टर्ब होता है, तो आज मै बगल के रूम में जाकर सो जाता हूँ, दोनों ने मुझे इजाजत दे दी, मैं दूसरे कमरे में जाकर लाइट बंद कर दिया फिर मैं खिड़की के पास आकर दोनों के कमरे में देखने लगा, मेरे जाते ही शोएब ने कोमल से कहा की – कल जो तुमने मुझे मानव जनन के बारे में बताई तो उस टॉपिक में मुझे बड़ा मजा आया।

मैंने अपने एक दोस्त से इस बारे में पूछा तो उसने बताया की इसको चुदाई कहते है, तुम्हारे पास वाली को चुत जबकि जो मेरे पास है उसे लंड क्या ये सही है, शोएब के इतना ओपन बोलने से कोमल थोड़ी झेंपते हुए बोली – अरे बुद्धू हां सही बात है पर अपन ऐसे तो पढ़ लिख नहीं सकते न. शोएब बोला – कोमल तू मुझे सिंपल भाषा में ही समझा न जैसे लंड, चुत चुदाई ऐसे ही मुझे आसानी से समझ आ जायेगा. तब कोमल बोली – धत! ऐसे मैं कैसे बताऊ, मुझे ये थोड़ा गन्दा लगता है।

शोएब बोला – तो क्या हुआ वैसे भी हम बायो वाले है इसमें गंदा क्या है, प्लीजजज तब कोमल बोली – ठीक है पर ये बात किसी को मत बताना देख जब औरत १३-१४ की होने लगती है तो उसके दूद बड़े हो जाते है, उसकी चुत पर बाल आ जाते है और उसे माहवारी चालू हो जाती है, मतलब वो चुदाई के लिए तैयार हो जाती है, जबकि आदमी १५-१६ साल का होने पर चुदाई के लिए तैयार हो जाता है, जब एक आदमी औरत को पूरी नंगी करता है तो उसका लंड तन जाता है।

फिर वो उस औरत की चुत में अपना लंड फसा कर जोर जोर से धक्के लगाता है जिससे उसका वीर्य निकल जाता है, जिसे आम भाषा में झड़ना कहते है, चुदाई के दौरान अगर पुरुष दमदार तरह से चुदाई करे तो स्त्री भी झड़ती है, चुदाई सिर्फ बच्चा पैदा करने के लिए नहीं होती बल्कि इसमें पुरुष और स्त्री को बहुत मजा आता है, आज कल के लड़के लड़किया शादी के पहले भी कई बार चुदाई का मज़ा ले लेते है।

यहाँ तक की लड़किया १५-१६ साल में ही अपनी सील तुड़वाकर चुदवाने लगती है, और शादी तक तो उनकी चुत काफी बड़ी हो जाती है, शोएब ने पूछा – तो क्या तुम भी किसी से चुद चुकी हो, तब कोमल बोली – किसी से कहना मत पर मनु भाई ने मेरी सील तोड़ दी है, उन्होंने कनाडा जाने से पहले मेरी  ३ बार चुदाई की है. फिर थोड़ा रुक कर कोमल बोली – शोएब तू मुझे क्या चूतिया समझता है, जो दो  दिन से ये विषय इंट्रेस्ट ले कर समझ रहा है।

मैं इतनी बेवकूफ नहीं हूँ, और ना ही इतनी नींद में सोती हूँ की तू रात में जो करता है पता ना लगे, वैसे मै जानबूझकर तुझे ऐसे ये चेप्टर समझा रही थी मै जानती हूँ की तुझे चुदाई का फुल एक्सपीरियंस है, जिस सपना की तूने सील तोडा था और १ बार प्रेग्नेंट किया था वो मेरी सहेली की मौसी की लड़की है, मैं तेरे बारे में सब जानती हूँ, अरे मुझे तो उसी दिन से पता है।

जब पहली बार तूने मेरी गांड चाटा था और अपना माल मेरी गांड के अंदर डाला था, पर कर रात जब तूने मेरी चुत चाटकर अपना माल मेरे अंदर डाला तो मैं पागल हो गई अरे इतना नाटक करने की जरुरत ही नहीं थी मैं खुद ही तुझ से चुदने के लिए तड़प रही थी ये सुनकर शोएब दंग रह गया, उसने कोमल को अपनी बाहो में भर लिया और उसके ओठो से अपने ओठ चिपका दिया, दोनों ने करीब ५ मिनट तक लम्बा किस किया फिर उसने तुरंत ही कोमल को अपनी बाहुपाश में ले लिया और उसके गाल और गले के आसपास किस करने लगा।

दोनों तुरंत ही बेड आ गए शोएब ने कोमल को चित लिटा दिया और उसके ऊपर छा गया वो उसके पुरे बदन के चुम रहा था जबकि कोमल जोर जोर से सांसे ले रही थी अब शोएब ने कोमल की टी शर्ट को ऊपर उठा कर निकल दिया, आश्चर्य कोमल ने टीशर्ट के अंदर कुछ नहीं पहना था कोमल की सांवले रंग की बड़ी बड़ी चूचिया आजाद हो गई, शोएब आंखे फाड़कर कोमल की चूचिया देख रहा था कोमल ने पूछा – क्या हुआ मेरे मेहबूब?

शोएब बोला – कोमल मैं कई लड़किया चोद चूका हूँ पर ऐसे थन मैंने आज तक नहीं देखे तुझे चोदने में वाकई बहुत मजा आएगा, अब आज के बाद तेरे अलावा किसी लड़की को नहीं चोदुंगा और मैं तुझसे ही निकाह करूँगा ये बोलकर वो उसे जोर जोर से चूमने काटने लगा साथ ही उसने कोमल की एक चूची अपने मुँह में लेकर बच्चो की तरह चूसने लगा जबकि दूसरी चूची को वो आटे की तरह गूंध रहा था, कोमल के मुँह से अब कामुक सिसकारी निकल रही थी वो भी शोएब का भरपूर साथ दे रही थी।

शोएब ने अब अपना कुरता उतार दिया अब वो भी ऊपर से नंगा था,उसने कोमल को अपने सीने से चिपका लिया, कोमल की चूचिया शोएब के चौड़े सीने से दबकर रह गयी, कोमल को भी अब सेक्स चढ़ गया था उसने भी शोएब को जगह जगह चूमना चालू कर दिया, अब शोएब ने कोमल को लिटा दिया और उसकी स्कर्ट को निकल फेंका अब कोमल सिर्फ चड्डी में लेटी हुयी थी शोएब चड्डी के ऊपर से ही कोमल की चुत को चूमने लगा।

कोमल की चड्डी गीली हो गई थी इसका मतलब कोमल अब चुदने के लिए पूरी तरह तैयार थी, शोएब ने कोमल की चड्डी को निकाल फेंका, शोएब और मैं ये देखकर सरप्राइज हो गए की कोमल ने आज अपनी चुत को क्लीन सेव कर लिया था मतलब उसे भी पता था की आज शोएब उसे चोदने वाला है, बिना झांटो की चुत और भी सुन्दर लग रही थी शोएब की तो दसो उंगलिया घी में थी, वो अपने हाथो से चुत के ओठो को फैलाते हुए उसकी चुत के दाने को चाटने लगा।

कोमल अब जोर  जोर से आआआआह उउउउउउउउउ इस्स्स्सस एआईईईई कर रही थी अचानक शोएब ने हमला तेज किया और वो उसके चुत के दाने को अपने दांतो से काटने लगा, ये हमला कोमल बर्दाश्त नहीं कर पायी और भरभरा कर शोएब के मुँह में झड़ने लगी, शोएब ने भी मुँह खोल कर कोमल के माल का स्वागत किया और उसका सारा का सारा माल पि गया, कोमल झड़ कर निढाल पड़ी थी, शोएब ने मौका देख कर अपना पैजामा और चड्डी को उतार कर रख दिया शोएब का ८ इंच लंड फनफनाता हुआ बहार आ गया।

शोएब और मनु के लंड में १९-२० का ही फर्क था, अब दोनों ही मादरजात नंगे थे, उसने अपना लंड कोमल के मुँह के पास लहरा दिया जबकि वो फिर से उसकी चुत चाटने लगा दोनों ६९ की पोजीशन में आ गए कोमल भी शोएब के लंड को लॉलीपॉप की तरह चूस रही थी, साथ ही वो जल्दी ही गरम होने लगी, मेरी बीबी और वेदिका की तरह कोमल में भी काफी सेक्स भरा था और वो भी जल्द तैयार हो गई शोएब अब चित लेट गया उसका ८ इंची लंड छत की ओर तना हुआ था।

उसने कोमल से कहा – आओ मेरी जान तुम मेरे ऊपर मेरी सवारी करो तो तुम्हे जन्नत में पंहुचा दूँ कोमल मुस्कुराते हुए शोएब की ऊपर आ गयी, उसने शोएब के लंड को अपने हाथो में लिया और उसकी चमड़ी को निचे करके सुपाड़े को अपनी चुत के ओठों को फैलाकर उसे छेद पर सेट किया,  शोएब ने आव देखा ना ताव और निचे से एक जोर का धक्का लगाया, कोमल बहुत जोर से चीखी क्योकि शोएब का लंड उसकी चुत को चीरते हुए आधा अंदर घुस गया।

हालाँकि मनु का लंड शोएब के लंड से भी बड़ा और मोटा था पर करीब ६ महीने बाद कोमल चुद रही थी, इसलिए शायद उसे दर्द हुआ था, कोमल के चीखते ही शोएब ने तुरंत ही अपना हाथ उसके मुँह पर रख दिया और लंड निकालने को हुआ पर कोमल ने उसकी कमर को पकड़ कर उसे लंड निकालने से मना कर दिया और बोली की धीरे धीरे धक्के मारो, शोएब ने कोमल से कहा की तुम ही लंड पर कूदो।

शोएब की बात मान कर कोमल हल्का सा ऊपर होकर निचे हुयी जिससे उसकी चुत में शोएब का पूरा का पूरा लंड चला गया शोएब ने कोमल के कूल्हों को पकड़ लिया अब कोमल शोएब के लंड पर ऊपर निचे होने लगी कोमल के शोएब के लंड पर इस तरह से कूदने के कारण कमरा  टप-टप पट-पट की आवाजों से गूंजने लगा.करीब १५ मिनट बाद इसी तरह धक्के लगाने के बाद कोमल की चुत ने जवाब दे दिया और उसकी चुत की दीवारों से चिपचिपा सा पानी निकल कर शोएब को लंड पर लग गया।

शोएब कोमल की चूचियों को अपने हाथो से दबाये जा रहा था अचानक कोमल का बदन ऐंठने लगा और वो जोर जोर से आआआआह उउउउउफ एसससससससस आईईईई इस तरह की आवाजे निकालते हुए फिर से झड़ने लगी वो धम शोएब के सीने पर गिर गयी उसकी चूचिया शोएब के चौड़े सीने से दब गई, हालांकि कोमल झड़ गयी थी पर शोएब अभी तक झड़ा नहीं था, उसका लंड अभी भी कोमल की चुत में ही था कोमल के चुत से निकला कामरस शोएब के लंड और अंडो को भीगा रहा था शोएब को शायद कोमल पर बहुत प्यार आ रहा था।

वो उसको अपने सीने से चिपकाये हुए ही उसकी नंगी पीठ को सहलाते हुए उसके गालो और माथे पर किस कर रहा था, कोमल दो बार झड़ने से  थक गयी थी और उसे हल्की सी नींद भी आ गई थी, शोएब  अपने एक हाथ से अपने लंड को पकड़ कर उसे कोमल की चुत से निकालने को हुआ तो कोमल कुनमुनाते हुए बोली थोड़ी देर फंसा रहने दो ना फिर थोड़ी देर निकाल बाद लेना शोएब ने करीब १० मिनट कोमल की चुत के अंदर लंड को रखा अब उसका लंड थोड़ा ढीला होकर खुद ब खुद ही कोमल की चुत सा बहार आ गया।

शोएब ने कोमल को धीरे से अपने से अलग किया और अपने बगल में लिटा दिया, कोमल सो चुकी थी शोएब उसे बड़े प्यार से निहार रहा था शायद वो उसे सच्चा प्यार करने लगा था क्योकि वो खुद अभी तक ठंडा नहीं हुआ था पर फिर भी वो कोमल के साथ कोई जबरदस्ती नहीं कर रहा था उसने उसे अपने से चिपकाया और उसके ओठों पर किस करने लगा अचानक कोमल की नींद खुल गयी और वो भी शोएब की भावनाओ को समझ गयी और वो भी जोरो से उसे किस करने लगी।

शोएब भी अब उसके पुरे बदन को चूमने लगा वो उसकी चूचियों को भी चूमने काटने लगा कोमल जोर जोर से सिसकारियां ले रही थी अब उसने कोमल को चित लिटा दिया और उसकी दोनों टांगो को विपरीत दिशा में फैला दिया कोमल की चुत अब खुलके सामने आ गयी थी एक बार लंड अंदर लेने के कारण चुत बड़ी हो गई थी, शोएब ने कोमल की गांड के निचे एक तकिया लगा दिया और अपने हाथ से कोमल के चुत को फैलाते हुए अपने लंड का सुपाड़ा उसकी चुत के छेद पर रखा और एक हल्का सा धक्का लगाया।

कोमल के मुँह से आआआह की आवाज निकल गई शोएब ने कोमल की चूचियों पर किस किया और फिर से एक जोरदार धक्का लगाया इस और कोमल के चीखने के पहले ही उसके ओठों से अपने ओठ भिड़ा दिया कोमल की चीखे दब कर रह गई, शोएब ने फिर अपने लंड को थोड़ा खींचा और फिर से एक धक्का लगाया इस धक्के से उसका पूरा का पूरा लंड कोमल की चुत के अंदर समां गया और उसने अब धक्को में तेजी ला दी वो अब कोमल की चुत में ताबड़तोड़ धक्के लगा रहा था।

उसका हर धक्का कोमल की बच्चेदानी तक चोट कर रहा था पट पट पट पट टप टप टप टप की जोरो की आवाज से कमरा फिर गूंजने लगा शोएब अब कोमल को काफी तेजी से चोदने लगा अब  कोमल भी चुदाई का मजा लेने लगी थी वो अब सिसकारियों की जगह जोर जोर से आआआहहहह उफ्फ्फ्फ़ एसससस फ़क मी हार्ड और जोर से छोड़ो इस तरह से शोएब का उत्साहवर्धन कर रही थी।

अचानक शोएब ने धक्को की स्पीड दुगुनी कर दी शायद वो झड़ने के करीब था और इधर कोमल का बदन भी फिर से ऐंठने लगा और वो आआआआह ऊऊऊह्ह्ह करते हुए झड़ने लगी और इधर शोएब के लंड ने भी वीर्य की पिचकारी कोमल की चुत में मारना चालू कर दिया दोनों साथ साथ झड़ने लगे शोएब के वीर्य ने कोमल की बच्चेदानी को वीर्य से सरोबार कर दिया, शोएब के वीर्य से कोमल की चुत लबालब भर गयी, आखिरी की ३-४ धक्के लगाने के बाद शोएब कोमल के ऊपर ही लुढ़क गया।

दोनों करीब १५ मिनट ऐसे ही पड़े रहे फिर शोएब ने कोमल की चुत से अपना लंड निकाला, लंड के चुत के निकलते ही दोनों के प्यार की निशानी उनका कामरस निचे की ओर बहने लगा, शोएब और कोमल दोनों एकदूसरे को देखकर हसने लगे, शोएब कोमल से बोला – जान तुमको चोदने के बाद अब मैं किसी की चुदाई नहीं करूंगा और अब तुमसे ही निकाह करूंगा. वैसे मेरी बड़ी तमन्ना थी की मै तुम्हारी सील तोडू पर शायद ये मेरी किस्मत में नहीं था।

तब कोमल बोली – सॉरी जान मुझे पता होता की तुम मुझसे इतना प्यार करते हो तो मै अपनी सील कभी भी मनु भाई से नहीं तुड़वाती, खैर हमारे घर की  औरतो की सिले तो मनु भाई ही तोड़ते है, वेदिका की सील भी उन्होंने ही तोड़ी थी और जब जतिन भाई की शादी होगी तो शायद भाभी की भी सील वही तोड़ेंगे पर तुम दुखी मत होना सुहागरात में तुम मेरी कुंवारी गांड मारकर उसकी सील तोड़ देना ये कह कर उसने उसे किस कर लिया उसके बाद उन्होंने २ बार कर चुदाई की।

एक बार उसने उसे घोड़ी बनाकर भी चोदा और दोनों नंगे ही चिपक कर सो गए, दूसरे दिन शोएब मुझसे मिला और उसने मुझे कोमल की शादी की बात की जिसे मै मना नहीं कर सका उस रात के बाद शोएब कोमल को जब चाहे तब चोदने लगा रात में तो वो दोनों नंगे ही रहते थे, शोएब ने कोमल को दो बार गर्भवती भी कर दिया था पर शादी न होने के कारन उन्होंने बच्चा गिरा दिया, एक बार वेदिका मायके  आयी थी और अपनी चुत की खुजली के चलते  मनु  के ना होने के कारन उसने शोएब को ब्लेकमैल कर चुदवा लिया।

जिसकी कहानी मैं अगली कहानी में लिखूंगा, दुर्भाग्य से एक दिन शोएब की बाइक को ट्रक ने टक्कर मार दी और उसकी मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई, खैर उसके कुछ दिनों बाद मेरी और कोमल की भी शादी हो गई.

तो दोस्तों आपको ये कहानी कैसी लगी अगर किसी महिला ने ये कहानी पढ़कर अपनी चुत का पानी निकाला होगा तो वो मुझे जरूर जरूर मेल करे साथ ही आप अपनी प्रतिक्रिया मेरे मेल पर भेज सकते है, आप मेरा इसी तरह उत्साह वर्धन करते रहे मेरा मेल आई डी है – jatin.1198@protonmail.com

धन्यवाद

आपका जतिन

पैसेवाले बॉस की जवान बेटी की बुर चुदाई की कहानी

दोस्तो, मेरा नाम आर्यन है. मैं दिल्ली में रहता हूँ. अभी मेरी उम्र 34 साल है. मेरी हाइट 5 फुट ...
Read More
गर्लफ्रेंड की बहन की चूत में उतारा लंड

गर्लफ्रेंड की बहन की चूत में उतारा लंड का खंजर!

दोस्तो, मैं अंश राजस्थान से हूँ. यहां  ये मेरी पहली देसी कॉलेज सेक्स कहानी है. यह एक सच्ची सेक्स कहानी ...
Read More
पापा ने अपनी साली मेरी मौसी को चोदा

पापा ने अपनी साली मेरी मौसी को चोदा – हिंदी कहानी

दोस्तो, मेरा नाम रोहित है और  मैं आपको मेरी असली जीजा साली की चुदाई कहानी सुनाता हूं जो कुछ साल ...
Read More
विधवा पड़ोसन भाभी को चोद के खुश किया

लोकडाउन में विधवा पड़ोसन भाभी को चोद के खुश किया

दोस्तो, मेरा नाम हितेश है और मैं गुजरात में रहता हूँ. मेरी उम्र 35 साल है और जॉब के कारण ...
Read More
देसी अम्मी को चोदा पराये आदमी ने

देसी अम्मी को चोदा पराये आदमी ने – चीटिंग सेक्स कहानी

मेरे घर में अम्मी अब्बू के अलावा मैं और मेरे दो छोटे भाई बहन भी हैं. अब्बू की एक छोटी ...
Read More
पड़ोसन भाभी रूबी को चोदा कोरोना लोकडाउन में

पड़ोसन भाभी रूबी को चोदा कोरोना लोकडाउन में

दोस्तो, इस हॉट पड़ोसन की चुदाई स्टोरी में मैंने करोना काल में चुदाई की मस्ती का रस भरने की कोशिश ...
Read More

8 thoughts on “कोमल और उसकी सेक्सी कामनाये”

  1. कहानी पढ़ कर मज़ा आ गया, काश मै भी कोमल कोई चोद पाता

    Reply
  2. ये इस वेबसाइट की सबसे सेक्सी कहानी हैं, इस कहानी कोई पढ़कर मैंने दो बार अपना पानी निकाला.

    Reply

Leave a Comment