Maa Aur Driver Ki Chudai Kahani | Driver Sex Story – AntarvasnaStory.co.in

सभी पाठकों को मेरा प्यार, मुझे आशा है कि आप लॉकडाउन में हैं मां की सेक्स स्टोरी आपको पढ़ने में मज़ा आना चाहिए। मुझे लगता है कि सेक्स लाइफ के बिना हमारी लाइफ बेकार है इसलिए हर किसी को सेक्स के बारे में थोड़ा खुला होना चाहिए। मेरी तरह, आपने भी अपनी माँ को चोदना चाहा होगा या चाहते होंगे, अन्यथा आप अपनी सहमति से ही कर सकते हैं, क्योंकि सहमति के बिना सेक्स बलात्कार बन जाता है।

इसलिए, उसकी सहमति से, आप किसी के भी साथ सेक्स कर सकते हैं और अपनी आपत्तियां उठा सकते हैं। मैं Xantarvasna.com टीम को मेरी व्यक्तिगत कहानी प्रकाशित करने और इसे आप तक पहुँचाने के लिए धन्यवाद देना चाहता हूँ। अब यह मेरी माँ की हिमायत ड्राइवर मालकिन और की चुदाई कहानी हां, यह पूरी कहानी पढ़ने में मजेदार है, अंत में मां के साथ धोखा होता है और मां कट जाती है।😂😂

जैसा कि आपने अभी तक पढ़ा है, मेरी माँ राजधानी में आ गई और शहर की हाई-फाई जीवनशैली में रहने लगी, लेकिन वह फिर से बिल्ली की आग के सामने बेबस हो गई और एक बार फिर से माँ एक मुर्गा ढूंढ रही थी। . जो अपनी चूत में आग बुझाता है।

जैसा कि आप जानते हैं कि अब तक मेरी मां सिर्फ गांव की तरह ही सेक्स करती थीं, यानी वह उनके लंड को नहीं चूसती थीं और न ही उनकी चूत को चाटती थीं। मैं 10 साल की हूं और मेरी बड़ी बहन 12 साल की है। मॉम हमें स्कूल बस में छोड़ने के लिए डेनिम टॉप पहनती थीं और फिर हमारे घर आने के बाद वह अपना काम करती थीं। पिताजी ने कार पर एक ड्राइवर रखा था पायलट का नाम सलीम रहा है।

सलेम 35 साल के थे। सलीम बहुत ही सुंदर और जवान आदमी था। सलीम के चार बच्चे थे। सलीम छोटी चौपड़ का रहने वाला युवक था। आज सलीम का काम का पहला दिन था। जब सलीम पिता को छोड़ने घर आया तो पिता ने उसे उसकी मां से मिलवाया। सलीम को देखकर मां को अपना अगला शिकार मिल गया।

सलीम ने भी अपनी माँ के पजामे और टी-शर्ट को देखा और उसके पूरे शरीर को छुआ और हँसते हुए नमस्ते कहा, जब उसकी माँ ने सलीम से चाय और पानी माँगा तो सलीम ने मना कर दिया। सलीम कार लेकर अपने घर चला गया.सुबह सलीम नौ बजे कार लेकर घर पहुंचा.मां ने देखा तो पिता के लिए चाय बना चुकी थी और सलीम और सलीम बाहर खड़े थे.

तो उसने अंदर आवाज देकर कहा, “सलीम, गली में मत रहो, बाहर के कमरे में जाकर बैठो।” सलीम चुपचाप अंदर घुसा और बैठ गया। 40 साल मैंने दर्शन किए। चुचियो को देखते ही सलीम ने अपने होठों पर जीभ फेर कर अपने इरादे जाहिर कर दिए। सलीम ने चाय पी और पिता के साथ दुकान पर चला गया।

अब पिता ने कहा – सलीम दोपहर को भोजन करने आयेगा और सलीम भी यहीं भोजन करेगा।

यह सुनकर मां ने कहा- ठीक है

लेकिन मैंने पापा के सामने अपना सर कर लिया तो ऐसा लगा कि वो खुश नहीं हैं लेकिन अंदर ही अंदर मेरी माँ बहुत खुश थी, जैसे ही वो मेरी माँ को खाना पका कर छोड़कर नहाने चले गए। माँ ने काली जींस और लाल रंग का टॉप पहना हुआ था और आँखें खोलीं। लिपस्टिक लगाकर सलीम को रिझाने के लिए मां ने पटाखे की तरह कमर कस ली।

दोपहर में दरवाजे की घंटी बजी तो मां बाहर आई और दरवाजा खोलकर सलीम को देखा हंस ने दे दिया सलीम ने भी मां का अभिवादन किया और टिफिन लाने को कहा,

तो माँ ने कहा – तुम ही यही खाओ, मैं उनका खाना टिफिन में रख देती हूँ।

यह सुनकर सलीम अंदर आकर कमरे में बैठ गया। माँ सलीम के लिए खाना लेकर कमरे में गई और झुक कर थाली मेज पर रख दी, ऊपर से माँ के दूध के छींटे फूट पड़े। इतना दूध देख सलीम की आंख छलक आई, मां गई रोटी लाने।

🧡 इसे भी अवश्य पढ़ें – पारिवारिक सेक्स कहानी हिंदी में सेक्सी संग्रह🔥

इस प्रकार तीन-चार बार माँ ने सलीम को अपना दिया चुचियो की दृष्टि सलीम के लिंग ने उसके पेट में एक उभार भी बना लिया था। जिसे देखकर माँ की चूत में खुजली होने लगी। खाकर सलीम टिफिन लेकर चला गया।

शाम को..

जब सलीम पिता को छोड़ने आया तो माँ ने चाय बनाकर पिता को दी और सलीम को चाय पिलाने के बहाने फिर से सलीम को माँ ने दूध दिखाया, अब सलीम गाड़ी लेकर चला गया।

अगली सुबह..

सलीम 9 बजे घर आया और आकर कमरे में बैठ गया, माँ ने चाय पी और सलीम को दी, फिर माँ ने खुद को पोंछा और माँ की टी-शर्ट पहन कर कमरे में आ गई। स्तन का दूध सलीम का लंड लटकता देख मेरा पेट फूल गया. तो माँ ने अपनी गांड सलीम की तरफ घुमाई और टेबल और सोफे के नीचे पोंछने लगी।

आज सलीम ने पहली बार माँ की मोटी गांड देखी। पजामा माँ की मोटी गांड के बीच घुस गया था। यह देख सलीम अपने लंड को रगड़ने लगा.माँ ने सलीम की इच्छा को भड़काया और बाहर साफ करके अंदर आ गई. कुछ देर बाद सलीम अपने पिता के साथ दुकान पर गया, उसके जाते ही उसकी मां खाना बनाकर नहाने चली गई।

आज माँ ने झाड़ू साफ की और बगल के बाल भी साफ किए। आज माँ ने एकदम काले रंग की पोशाक पहनी थी और ब्रा या पेटी नहीं पहनी थी। माँ ने सलीम को अपना शरीर दिखाया। कामवासना एक धक्का था।

दोपहर को जब सलीम खाना लेने आया तो माँ ने दरवाजा खोला, माँ को पारदर्शी ड्रेस में देख सलीम माँ की लाश देखने लगा। यह देख मां की चूत में खुजली होने लगी. सलीम सोफे पर बैठ गया। माँ दिन में पहले ही पानी ले आई और खाना डालने को कहने लगी, सलीम ने गिलास लेते समय माँ की उँगलियाँ छू लीं।

सलीम की इस हरकत पर माँ हँसी और उसे खुला निमंत्रण दिया, माँ वहाँ पानी पी रही थी और सलीम भी पानी पीते हुए माँ का दूध देख रहा था। माँ ने सलीम से फिर खाने को कहा,

तो सलीम ने कहा – आज मेरे सिर में हल्का सा दर्द है, चाय पिला दो, तुम चाय बहुत अच्छी बनाती हो! मैं बाद में दुकान पर खा लूंगा…

मामा ने कहा- चलो

तभी मां अंदर से बाम ले आई और बोली- इसे सिर में लगाकर मालिश करो।

सलीम ने कहा- मुझे मसाज करना नहीं आता और मैंने कभी बाम नहीं लगाया।

तो मामा ने कहा- मैं कुछ भी कर लूं

सलीम ने कहा- तुम मुझे जीने दो.. सेठानी जी…

माँ बोली – क्यों ? क्या हुआ?! सिरदर्द बंद हो गया?

तो सलीम ने कहा- नहीं, सर में दर्द बहुत तेज हो रहा है।

तो माँ ने कहा- चुपचाप बैठ जाओ

और माँ सलीम के सामने खड़ी थी, अब सलीम को माँ की चूत भी दिखाई दे रही थी, माँ ने बेडरूम की खिड़की को ढक कर ट्यूब चालू कर दी ताकि पोशाक के अंदर से माँ के गुप्तांग दिखाई दे रहे थे। माँ ने कुछ बाम निकाला और सलीम के सर पर लगाया और मालिश करने लगी।

सलीम की टाँगें क्रॉस हो चुकी थीं, माँ सलीम को अपने ऊपर झुक कर मसलने लगी थी, माँ का दूध सलीम के मुँह को छू रहा था। जैसे ही चलता हुआ दूध सलीम के मुँह में लगा माँ ने नीचे देखा और सलीम के गर्भ में खड़े लिंग को निहारने लगी। सलीम ने धीरे से माँ की कमर पर हाथ रखा और माँ की तरफ देखा तो माँ ने हँसकर सलीम की बात मान ली।

सलीम की गांड फट रही थी और वह बस यही सोच रहा था अंतरवासन सेक्स स्टोरी मैं पढ़ता और मरता था। यह देखकर सलीम ने बड़ी बहादुरी से मां की गांड पर हाथ फेरा और उनकी गांड पर हाथ फेरना शुरू कर दिया. आह! एक आह निकलते ही सलीम ने माँ को खींच कर गले से लगा लिया और माँ के होठों पर अपने होंठ रख कर उन्हें चूमने लगा।

सलीम ने अपने हाथ से ड्रेस को साइड में सरका दिया, ड्रेस को कमर तक उठा लिया और दोनों हाथों से मां की निप्पल को सहलाने लगा. माँ की चूत kamukta आग ने विकराल रूप धारण कर लिया था। माँ सलीम के होठों को चूम रही थी, पाँच मिनट तक चूमने के बाद माँ की चूत से रस निकलने लगा, जिससे माँ की ड्रेस भर गयी और सलीम का पेट भी गीला हो गया।

लेकिन उन दोनों को इससे कोई फर्क नहीं पड़ा और वे ऐसा ही करते रहे।माँ ने उठकर सलीम को अन्दर आने को कहा। कपड़े उतारना बिस्तर पर सो गया। सलीम ने भी जल्दी से अपने कपड़े खोले और कच्छा पहन कर माँ के ऊपर लेट गया, चूमने लगा और दूध पीने लगा, माँ से ये बर्दाश्त नहीं हुआ।

माँ ने अब सलीम के अंडरवियर में हाथ डाला पर माँ की सारी खुशी धूल में मिल गयी, सलीम का ही लंड वह केवल 5 इंच और 2 इंच मोटा था यह था.🤣 😂😂

माँ अब तक सहजन के आकार का लंड खाती आ रही थी। मेरा प्रत्येक सेक्स कहानी मैं और हर बार अब तक माँ की चूत भोसा ही बनती है। तो उसे ये कैसा लगा 😑 तभी सलीम ने अपनी पैंटी उतार कर अपनी माँ की टांगें फैला दीं और अपना लंड उनकी चूत में डाल दिया.

माँ को पता भी नहीं चला कि सम्भोग करने के दस मिनट के भीतर ही माँ फिर से गिर पड़ी और कपड़े पहनने के लिए दौड़ पड़ी और सलीम को खाना खिलाकर दूर भगा दिया।

मम्मी ने रात में पापा के साथ सेक्स किया और सलीम को मना लिया कि वो उन्हें काम से निकाल दे और इस तरह तीन दिन बाद सलीम मेरी माँ की चूत चाट कर हमेशा के लिए चला गया। तो आप मेरी माँ से कैसे प्यार करते हैं और चालक सेक्स कहानी क्या आपको यह पसंद आया? लेकिन इस अधूरी चुदाई का माँ सेक्स और प्रज्वलित। आगे पढ़िए और मेरे साथ जुड़े रहिए यह जानने के लिए कि उसके बाद माँ ने अपनी इच्छा पूरी करने के लिए क्या किया !!

कहानी प्रेषक – रोहित कुमार – [email protected]

🧡इसे भी अवश्य पढ़ें – एक 8 इंच मुर्गा के साथ खूबसूरत मालकिन और नौकर

🧡इसे भी अवश्य पढ़ें – माँ की दोस्त कमबख्त

🧡इसे भी अवश्य पढ़ें – मैंने अपनी माँ को चोदा और उसे माँ बनाया!!

🧡इसे भी अवश्य पढ़ें – पोर्न आंटी की चुदाई – एक लस्ट स्टोरी !! 💘

आपको कहानी कैसी लगी?

मौसी को अपनी बीवी बना के चोदा चोदी की

कैसे हो प्यारे दोस्तो? मुझे उम्मीद है कि आप लोग सब मजे कर रहे होगे. आपके इसी मजे को बढ़ाने ...

शादी के बाद भी कुंवारी रही लड़की की चुदाई की कहानी

प्यारे दोस्तो … मेरा नाम आशीष है भीलवाड़ा राजस्थान से हूँ. मैं XXXVasna का पुराना पाठक हूँ. काफी दिनों से ...

गांड मारकर गुड मॉर्निंग कहा- Sexy Bhabhi Ki Chudai

मैं काम के सिलसिले में मुंबई चला आया क्योंकि हमारा शहर बहुत छोटा है और वहां पर मुझे ऐसा कुछ ...

भैया बन गए सैंया- Bhai Behen ki Chudai

मेरे 12वीं के एग्जाम नजदीक आने वाले थे और मैं बहुत घबराई हुई थी क्योंकि मैंने इस वर्ष अच्छे से ...

पापा अपनी छमिया के साथ- Romantic Sex Story

हेलो दोस्तो। मेरा नाम पारुल (उम्र २०) है। मैं अपनी ज़िन्दगी की पहली कामुक कहानी आप लोगों को पेश कर ...

कामवाली के साथ रंगरेली मनाई- Kaamvali Ki Chudai

कामुक कहानी पढ़ने वाले दोस्तों को मेरा नमस्कार। मेरा नाम मोहन गुप्ता (उम्र २२) है। मैं नोएडा में रहता हूँ। ...

Leave a Comment