Sexy Maa Beti Chudai Kahani – अम्मी और मैंने एक दूसरी की चूत चुदवाई

सेक्सी मॉम बेटी की चुदाई की कहानी में, मेरी मॉम ने मुझे उसकी सहेली से चोदवाया और मैंने अपनी रैंडी मॉम को अपनी गर्लफ्रेंड का लंड दिलवाया।

मेरा नाम रेहाना है दोस्तों!

यह कहानी मेरे एक प्रशंसक पाठक महनूर की है, उसने मुझे अंतरवासना में अपनी त्रासदी प्रकाशित करने के लिए भेजा था।
पढ़िए पूरी सेक्सी मां बेटी की चुदाई की कहानी उसी महनूर बेगम की जुबानी।

मेरा नाम महनूर बेगम है। मैं वर्तमान में एक बड़ी कंपनी में काम करता हूं।

मेरी अम्मी जान का नाम नबीहा बेगम है! वह भी एक निजी कंपनी में काम करती है।

मेरे बचपन के दिन बेहद गरीबी में गुजरे।
मैं उस समय छोटा था क्योंकि मेरे पिता ने एक छोटी सी बात पर अम्मी जान को तलाक दे दिया था और दूसरी महिला से शादी कर ली थी।

उसने अम्मी जान को घर से निकाल दिया।
उस कुत्ते को भी मुझ पर दया नहीं आई और अम्मी जान मुझे बाहर निकाल कर चली गईं।

अम्मी ने मुझे अपने सीने से लगा लिया। अम्मी चाहती तो किसी और से शादी कर सकती थीं, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया, क्योंकि उन्हें डर था कि दूसरी शादी के बाद उनका नया पति उनकी बेटी को अच्छी परवरिश नहीं दे पाएगा और उनकी बेटी को भी उसके साथ बहुत सारी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। सकना

अम्मी जान ने शुरुआत में घर-घर जाकर काम करना शुरू किया और मुझे पढ़ाना भी शुरू किया।
फिर धीरे-धीरे किसी की मेहरबानी से मेरी मां को एक कंपनी में नौकरी मिल गई और हमारी आर्थिक स्थिति में सुधार होने लगा।

मैंने पढ़ा और तैयार हो गया। अब मैं 22 साल का हूँ और एक बड़ी कंपनी में काम करता हूँ।

मेरी अम्मी जान बेहद खूबसूरत हैं, उनके चेहरे पर गजब का सेक्स अपील है और अभी भी बहुत हॉट हैं।
कल्पना कीजिए कि वह पहले कितनी हॉट रही होगी?

अम्मी बुर्का नहीं पहनती हैं। उन्हें साड़ी और स्लीवलेस ब्लाउज़ पहनना पसंद है।
मैं भी एक जैसे कपड़े पहनना पसंद करती हूं, लेकिन जींस और टॉप ज्यादा पहनती हूं।

एक दिन अम्मी जान अच्छे मूड में थीं, बोलीं- बेटी महनूर, आज मैं तुम्हें अपनी जिंदगी की कुछ बातें खुलकर बताना चाहती हूं। अब तुम बच्चे नहीं, समझदार हो गए हो। माशाअल्लाह तुम काफी जवान हो गए हो! पहले बताओ, क्या मेरी बातें सुनकर तुम्हें शर्म आएगी?

मैंने कहा- नहीं अम्मी डियर, मुझे शर्माना नहीं है। मैं बहुत बेशर्म हूं।
उसने फिर कहा- फिर से सोच, महनूर, क्या तुम मेरी बात मानोगे? क्या आप शर्मिंदा नहीं होना चाहते हैं? वैसे भी, अब शरमाओ मत। यदि आप शर्मीले हैं, तो क्या आप यौवन का आनंद नहीं उठा पाएंगे?

मैंने फिर गुस्से में कहा- शरमाती की माँ की चूत… मैं बुरचोड़ी लौड़ा लेकर बैठ जाता हूँ, चुत, भोसड़ा सब हो गया अम्मीजान… मुझे शर्माना बिल्कुल नहीं है। मुझे बताओ कि तुम क्या बताना चाहते हो।

फिर मां ने कहा- देखो बेटी, जब तुम्हारे पापा ने मुझे तलाक दिया था तब मैं बहुत छोटी थी। मेरी चूत में आग तो नहीं थी, लेकिन आग की लपटें निकलती रहती थीं. तलाक के बाद कुछ दिनों तक मुझे लंड नहीं मिला। मुझे लंड की लालसा थी। मैं अपनी चूत में घोड़े और गधे का लंड डालना चाहता था! कुछ न मिले तो मैं अपनी चूत में कुत्ते का लंड घुसाना चाहता हूँ… पर कुछ कर नहीं पाता था.

अम्मी ने आगे कहा- मेरे दिन ऐसे ही गुजरने लगे। अचानक एक दिन मुझे एक मौलाना मिल गया। वो कमीना लड़कियों को चोदता था और लड़कियों की माँओं को भी चोदता था। मैं उसके संपर्क में आया। मैं अपने शरीर की आग को बुझाना चाहता था इसलिए मैंने उसे किस करना शुरू कर दिया। उसका लंड मोटा और मजबूत था, लेकिन वो जल्दी गिर जाता था. मैं भाभी रहती थी। तब मैं दूसरे के पास जाकर अपनी प्यास बुझाता था। धीरे-धीरे मुझे 2-3 लंड और मिल गए, जिससे मैं अपने शरीर में लगी आग को बुझाने लगा। इस तरह मुझे चुदाई की आदत हो गई।

और अम्मी कहती रहीं- मैं अब भी कुछ लोगों को किस करती हूं। पहले वो आपको छुप छुप कर किस करती थी लेकिन अब वो ऐसा नहीं कर सकती क्योंकि अब आप जवान हो गए हो। अब मैं तुमसे कुछ नहीं छिपा सकता, इसलिए मैं तुम्हें सब कुछ बता दूंगा। मेरी उम्र 43 साल है। मैं बहुत छोटा हूं और लंड के बिना नहीं रह सकता. अब तेरे सामने किसी से चुदाई हो जाए तो किसी के लण्ड का लुत्फ़ उठाइए, बुरा मत मानना ​​बेटी महनूर!

मैंने कहा-देखो मां प्यारी, मैं भी जवान हूं। मेरी भी एक चूत है। तेरी चूत की आग से ज्यादा मेरी चूत की आग जलती है। अगर मैं तुम्हारे सामने किसी को चूम लूं तो बुरा मत मानना, किसी के लंड से खेलो!

वो बोली- हाय दइया… तो क्या तुम भी चुदाई करने लगी हो?
मैंने कहा- हाँ अम्मीजान ने चोदना शुरू कर दिया है! मैं पिछले दो साल से चुदाई कर रहा हूं।

उसने कहा- अच्छा, तुम मुझे अपने सामने दिखाओ… मैं तुम्हें अपने सामने दिखाऊंगा।
मैंने कहा- तो चलो दोनों एक दूसरे के सामने चुदाई करते हैं. जिसे चोदोगे उसका लंड मेरे छेद में दबा दो, मैं जिसे चोदूँगा उसका लंड तुम्हारी मुट्ठी में ठूँस दूँगा।

वह बोली- हाय बुरचोदी महनूर, तूने मेरे मुंह से शब्द छीन लिए पगली। यही हमें चाहिए।
मैंने कहा- तो आज रात तुमने अपने दोस्त का लंड मेरी चूत में डाल दिया. मुझे अपने दोस्त का लंड तुम्हारी चूत में डालना है. क्या यह ठीक रहेगा, मेरी हरामी माँ? अभी तक आपने अपनी चूत की चुदाई मुश्किल से करवायी थी, अब आज से अपनी चूत को ज्यादा से ज्यादा चोदिये और अपनी जवानी का लुत्फ उठाइये. अब मौज-मस्ती करने के दिन हैं, बेबी!

अम्मी ने मुझे गले से लगा लिया।

शाम को मेरा बॉयफ्रेंड नबी आया जबकि अम्मीजान का दोस्त रफ़ी आया।

मैंने नबी को अम्मी से मिलवाया और अम्मी ने अपने दोस्त रफ़ी को मुझसे मिलवाया।

फिर हम चारों बैठ गए और बातें करने लगे।

अब अधिकता में एक छोटी सी शुरुआत होनी चाहिए।
जैसे ही अम्मी जान ने व्हिस्की का इंतजाम किया हम सब उसका आनंद लेने लगे।

माँ ने पूछा – बेटी महनूर, तुम नबी से कैसे मिलीं?
मैंने कहा- नबी मेरे दोस्त राफा के पति हैं। मैंने राफा के साथ एक सौदा किया। डील ये है कि अब मैं उसके पति को चोदती हूँ और जब मेरी शादी होगी तो वो मेरे पति को चोदेगी। ये सिलसिला मैंने उसके हनीमून से शुरू किया है तो वो भी मेरे हनीमून से शुरू करेगी। यानी मेरे हनीमून पर वो मेरे सामने मेरे पति से चुदाई करेगी.

अम्मीजान बहुत खुश हुईं और उन्होंने ताली बजाकर अपनी खुशी का इजहार किया।
फिर उसने कहा- मेरा दोस्त रफी मेरी शादी से पहले ही मुझे चोद रहा है। मैंने अपनी शादी से पहले कई लोगों के साथ सेक्स किया लेकिन सबसे ज्यादा मैंने रफी ​​के साथ सेक्स किया। मुझे उसका लंड बहुत पसंद है।

मैंने अम्मीजान का हाथ पकड़ कर नबी के लंड पर रखा, फिर उन्होंने मेरा हाथ पकड़ कर रफ़ी के लंड पर रख दिया.

जैसे ही मैंने रफी ​​के लंड को बाहर निकाला देखा तो मेरे होश उड़ गए.
मैंने कहा- यार नबीहा, तेरे सीने को चोदने वाला लंड बड़ा कमाल का है. अरे देखो तो लंड कितना मोटा, मजबूत और सुंदर लग रहा है!

इतने में अम्मी ने जब नबी का लिंग निकाल कर देखा तो बोलीं- हाय महनूर, जो लंड तुम्हारी गांड को चोद रहा है, वह बहुत तगड़ा है. तेरी माँ का भी पेट फाड़ डालेगी बेटी।

अम्मी मेरी सहेली का लंड चाटने लगी और मैं उसकी सहेली का लंड चाटने लगा.

फिर हम दोनों ने भी एक-एक करके अपने कपड़े उतारे।

जब उसने हमें नंगा देखा तो दोनों मुर्गे गंदगी की तरह आसमान की ओर देखने लगे।
हम सब वासना में डूबे, कामवासना के मजे लेने लगे।

जब मुझे एक डिक मिलता है, तो ऐसा लगता है जैसे मुझे पूरी दुनिया मिल गई है।
मेरे मन में मुर्गा है तो लगता है मेरी लॉटरी खुल गई है।

हम दोनों एक दुसरे के दोस्त के लंड में खो गए.

मेरा दोस्त नबी मेरी माँ के नंगे जिस्म से खेलने लगा और माँ का दोस्त रफ़ी मेरे नंगे जिस्म से खेलने लगा!
He started enjoying my pussy, my breasts and my ass, started licking my ass and said – Nabiha Bhabhijan, your daughter’s pussy is very cool, very tasty and very beautiful.

उधर मेरे दोस्त नबी-महनूर ने कहा, तेरी माँ की छाती बड़ी सेक्सी, गरम और स्वादिष्ट है। यह तो मेरी मौसी के भोसड़े से भी ज्यादा कामुक है। मेरी बुआ भोस्दा मेरे परिवार में बहुत प्रसिद्ध हैं। हर कोई उसके सीने में लंड रगड़ता है।

इस तरह की बातों ने माहौल को और गरमा दिया।

और फिर नबी ने अपना लंड अम्मी की चूत में डाल दिया और रफी ने अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया!
हम दोनों एक दूसरे की गर्लफ्रेंड को खुलकर किस करने लगे।

यह हमारी अय्याशी का पहला कदम था।
मैंने अपनी माँ की छाती को चूमा और माँ ने अपनी बेटी की गांड को चूमा।

फिर हम दोनों ने पीछे से चुदाई की और वो भी लंड पर बैठे हुए.
मुझे अभी भी सेक्सी मां बेटी याद है।

हम दोनों एक साथ उनके झूलते लंड को चाटने लगे।
फिर हमने रात का खाना नंगा खाया और वे दोनों वापस चले गए।
हमारी खुशी की कोई सीमा नहीं थी।

अम्मी ने मुझे गले से लगा लिया।

प्रिय पाठकों, महनूर की यह सेक्सी माँ बेटी की चुदाई कहानी आपको कैसी लगी?
मुझे मेल और टिप्पणियों में बताएं।
[email protected]

लेखक की पिछली कहानी थी: सारी रात खालू के लंड का मज़ा लिया

मौसी को अपनी बीवी बना के चोदा चोदी की

कैसे हो प्यारे दोस्तो? मुझे उम्मीद है कि आप लोग सब मजे कर रहे होगे. आपके इसी मजे को बढ़ाने ...

शादी के बाद भी कुंवारी रही लड़की की चुदाई की कहानी

प्यारे दोस्तो … मेरा नाम आशीष है भीलवाड़ा राजस्थान से हूँ. मैं XXXVasna का पुराना पाठक हूँ. काफी दिनों से ...

गांड मारकर गुड मॉर्निंग कहा- Sexy Bhabhi Ki Chudai

मैं काम के सिलसिले में मुंबई चला आया क्योंकि हमारा शहर बहुत छोटा है और वहां पर मुझे ऐसा कुछ ...

भैया बन गए सैंया- Bhai Behen ki Chudai

मेरे 12वीं के एग्जाम नजदीक आने वाले थे और मैं बहुत घबराई हुई थी क्योंकि मैंने इस वर्ष अच्छे से ...

पापा अपनी छमिया के साथ- Romantic Sex Story

हेलो दोस्तो। मेरा नाम पारुल (उम्र २०) है। मैं अपनी ज़िन्दगी की पहली कामुक कहानी आप लोगों को पेश कर ...

कामवाली के साथ रंगरेली मनाई- Kaamvali Ki Chudai

कामुक कहानी पढ़ने वाले दोस्तों को मेरा नमस्कार। मेरा नाम मोहन गुप्ता (उम्र २२) है। मैं नोएडा में रहता हूँ। ...

Leave a Comment