Sexy Nangi Bahan Ki Chudai Kahani – कुंवारी बहन की बुर की गर्मी

मेरी दूर के रिश्ते की बहन ने मुझे सेक्सी नंगी बहन की चुदाई का मजा दिया. वह मेरे भाई की शादी के लिए हमारे घर आई थी। उसकी हरकतों से पता चल रहा था कि उसकी चूत लंड मांग रही है.

नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम शुभम (बदला हुआ) है, मेरी उम्र 20 साल है।
मेरा लिंग 7.5 इंच लंबा और 2.5 इंच मोटा है।

यह मेरी पहली सेक्स कहानी है और मुझे उम्मीद है कि आप सभी को पसंद आएगी.

सेक्सी नंगी बहन की चुदाई कहानी मेरे और मेरी दूर की रिश्तेदार बहन रितिका (बदला हुआ नाम) के बीच यौन संबंधों के बारे में है।

रितिका 19 साल की है और उसका शरीर भरा हुआ था.
उसका फिगर 32-28-34 रहा होगा.

हम दोनों एक दूसरे को पहले से जानते थे लेकिन अभी तक हमारे बीच ऐसा कुछ नहीं था जिससे सेक्स जैसी कोई घटना हो.

एक बार मेरे बड़े भाई की शादी हुई.
रितिका को उस शादी में शामिल होना था।
वह शादी से 7 दिन पहले हमारे गांव आई थी.

दो साल बाद जब मैंने उसे देखा तो देखता ही रह गया क्योंकि उसका शरीर पहले से काफी भरा हुआ था।

उसे देखकर ही मैंने तय कर लिया था कि मैं अपनी बहन रितिका को अपने लंड के नीचे लाऊंगा. सेक्सी नंगी बहन का मजा लेंगे.

जब सब लोग घर में थे तो एक साथ कुछ भी नहीं किया जा सकता था.

औपचारिकता के तौर पर मैंने रितिका से उसका हालचाल पूछा और उसकी पढ़ाई के बारे में बात की.
वह भी मेरे साथ सहज थी और मेरी बातों का मुस्कुराकर जवाब देती थी।

अगली सुबह मैं और मेरी बहन एक साथ थे।
घर में सभी लोग काम में व्यस्त थे तो हम दोनों लूडो खेलने लगे।

जब मैं खेलते समय रितिका को पीटता था तो वह बार-बार कहती थी कि भाई तुमने मुझे फिर मार डाला।

पहले तो मैंने इसे सामान्य समझा, लेकिन जैसे-जैसे वह यह बात बार-बार कहता रहा, मुझे धीरे-धीरे समझ आने लगा कि उसके मन में भी कुछ बात है।

हम दोनों मस्ती में एक दूसरे को छेड़ने लगे.
मेरा हाथ उसकी चुचियों पर छू गया जिससे वो शर्म से उठ गयी और भाग गयी.

शाम को जब वो बोर हो रही थी तो मुझसे बोली- भाई, मैं बहुत बोर हो रही हूँ, मुझे कहीं ले चलो!
मेरी मां ने भी कहा हां ले लो…थोड़ा घूमा लो.

मैं पहले से ही तैयार था.
मैंने उसे बाइक पर बैठाया और हम दोनों अपने आम के बागों की तरफ घूमने चले गए.

बाइक पर उसके स्तन मेरी पीठ को सहला रहे थे।
मैंने भी जानबूझ कर गड्ढों में बाइक चलायी.

अचानक उसने मुझसे पूछा- भाई, आम चूसना है क्या?
मैंने कहा- हां क्यों नहीं.

वो बोली- तो फिर गाड़ी रोको!
बगीचे में सुनसान जगह देख कर मैंने बाइक रोक दी.

अब मैंने उससे कहा- आम खट्टा है या मीठा?
वो बोली- मुझे नहीं पता कि तुम्हें यह कैसा लगेगा… इसे चूस कर बताओ कि यह खट्टा है या मीठा!

मैंने कहा- ठीक है चूसो, सब समझ आ जायेगा!
वहां वह मुझे चिढ़ाने के लिए असली आम तोड़ने के लिए कहने लगी.

मेरी खोपड़ी ने काम करना बंद कर दिया था कि ये साली आम तोड़ने को कह रही है. अच्छा हुआ कि मैंने कुछ नहीं किया, नहीं तो लेने के देने पड़ जाते।

मैंने उसकी चुचियों को देखते हुए कहा- आओ मैं तुम्हें आम तोड़ना सिखाता हूँ.
उसने भी कहा- हां सिखाओ. लेकिन आम तो ऊपर लगे हैं?
मैं- अच्छा तो फिर मैं कहां कहूं कि वे नीचे हैं!

वह हंसने लगी.
उसे आम तोड़ने का तरीका सिखाने के बहाने मैंने पीछे से उसके रसीले स्तनों को मसलना शुरू कर दिया, जिससे वह गर्म हो गई।

वो आहें भरते हुए अपनी गांड मेरे लंड पर रगड़ने लगी तो मैं पीछे से उसकी गर्दन को चूमने लगा और उन्हें मसलते हुए उसके रसीले आमों पर अपना हाथ फेरने लगा.

वो बोली- भैया यहां नहीं हैं, कोई देखना चाहता है.
मैंने कहा- कोई नहीं देखेगा. चलिए कुछ देर आनंद लेते हैं.

बोलीं- ऐसे क्या फायदा कि आग लगाकर चले जाना चाहते हो.
मैंने उसके दूध मसलते हुए कहा- ऐसे क्यों जाना चाहती हो.. तुम्हें चोदना नहीं चाहता.

उसने अपनी गांड मेरे लंड पर रगड़ते हुए कहा- ऐसे में ये नहीं हो पाएगा.

जैसे ही मैंने उसकी एक चूची के निप्पल को अपनी दो उंगलियों में दबाया तो मैं मस्ती से बोला- तो तू ही बता मेरी बहना, तू मुझे ठीक से कैसे मजा देगी?

उसने मेरे गालों को मसलते हुए कहा- जब कमरे में मुलायम बिस्तर हो और तुम और मैं बिना कपड़ों के खड़े हों.. तो ठीक से लड़ने में मजा आएगा।
मैंने कहा- ठीक है.. रात को सबके सो जाने के बाद तुम मेरे कमरे में आ जाना, मैं तुम्हें वहीं नंगी कर दूँगा।

वह हंसने लगी.

तो कुछ देर ऐसे ही मजे करने के बाद हम दोनों वापस आ गये.

उसने मुझे उस दौरान बताया था कि उसकी गुफा अभी भी कुंवारी है और अगर आज मैं उसे ढूंढ लूं तो समझ लेना कि पहली बार मुझे सील पैक का उद्घाटन करने को मिलेगा.

अब मुझसे इंतज़ार नहीं हो रहा था.
पहली बार मुझे किसी कुंवारी लड़की की सील तोड़नी थी और वो भी अपनी सगी बहन की.

आख़िर बड़ी मुश्किल से रात हुई; सेक्सी नंगी बहन का मजा लेने का समय आ गया था.

ठीक 11 बजे वह चुपके से कमरे में दाखिल हुई.
उसके आते ही मैंने उसे गले लगा लिया और हम दोनों एक दूसरे के रसीले होंठों का रस पीने लगे.

मैंने उसे बिस्तर पर पटक दिया और उसे बेतहाशा चूमने लगा.
उस दिन उसने हल्के हरे रंग का क्रॉप टॉप और कैपरी पहन रखी थी.

मैं उसके मुँह में अपनी जीभ डाल कर उसे चूसने लगा।
वो भी अपने होठों से लड़ाई कर रही थी और मेरे होंठ बहुत ही कामुक थे.

मेरा एक हाथ उसकी गांड पर था और मैंने उसकी एक गांड को मसल दिया।
दूसरा हाथ उसकी एक चूची को चोदने में लगा हुआ था.

वो इतनी उत्तेजित हो गई थी कि मेरे दबाने से उसे अपने दूध में जरा सा भी दर्द महसूस नहीं हुआ.
उसके दोनों दूध सख्त हो गये थे.

कुछ देर बाद मैंने अपना चेहरा उसके पेट की तरफ कर दिया.
फिर उसके पेट को चूमते हुए उसके टॉप को उसके बदन से अलग कर दिया और उसके संतरों को दबाने लगा.

वो आह आह करने लगी और मेरे लंड को छूने की कोशिश करने लगी.

कुछ ही देर में मैं धीरे-धीरे उसकी कैप्री भी उतार रहा था।
शब्दों में वर्णन नहीं किया जा सकता कि नेवी ब्लू डिजाइनर ब्रा और ग्रे पैंटी में उसका सुडौल शरीर कितना अद्भुत लग रहा था।

जैसे ही मैं कुछ देर तक उसके नमकीन हुस्न को देखता रहा, मेरे लंड का उभार उसकी आँखों में चुभने लगा।

वो मेरे लंड को पकड़ने के लिए आगे बढ़ी और मैंने उसे भी लंड से खेलने के लिए आज़ाद कर दिया.

कुछ ही देर में हम दोनों एक दूसरे को चूमते हुए पूरे नंगे हो गये.

अब मैंने उससे लंड चूसने को कहा.
वह तो यहां तक ​​चाह रही थी कि मैं उससे लंड चूसने के लिए कहूं.

जैसे ही मैंने उससे कहा, उसने तुरंत लंड पकड़ लिया और उसके सुपारे पर अपनी जीभ फिराने लगी.

कुछ ही देर में मेरी कामुक बहन रितिका मेरा लंड चूसने लगी.
मेरा लंड उसके गले तक चला गया.

दस मिनट बाद रितिका हाँफते हुए बोली- भाई, ये अन्दर कैसे जायेगा, मेरे मुँह में भी नहीं जायेगा?

मैंने कहा- मेरी प्यारी बहना, तुम वो सब मुझ पर छोड़ दो। आज मैं तुम्हें इतना प्यार करूंगा कि तुम हर दिन मेरे पास आनंद लेने के लिए आओगी।

उसने फिर से लंड चूसना शुरू कर दिया और मेरे कहने पर उसने मेरे दोनों टट्टे भी चूसे.

अब मैंने अपनी बहन को लेटा दिया और उसकी चिकनी चूत को चूसने लगा, जिससे वो गर्म हो गयी.

कुछ पल बाद वो बेचैन हो गई और बोली- आह उह आह भैया … आह आपने तो आग लगा दी. अब मुझसे रहा नहीं जाएगा. ओह… अब तुम जल्दी से अन्दर डाल दो!

मैंने पास में रखी तेल की बोतल उठाई और रितिका से कहा- नल पर तेल लगा लो.
उसने तेल लगा कर लंड को पूरी तरह से तैयार कर लिया.

लंड महाराज कुवारी बहन रितिका की चूत को भेदने के लिए तैयार थे.

मैंने अपनी बहन की चूत को भी तेल से गीला कर दिया ताकि लंड को घुसने में कोई दिक्कत न हो.

फिर एक तकिया मोड़कर रितिका की कमर के नीचे रखा और लंड को उसकी योनि पर रख दिया।
अब मैंने रितिका से कहा- दर्द होगा मेरी रंडी बहन… सहन कर लेना!

रितिका ने मादक स्वर में कहा- मेरी बहन के लौड़े … चिंता मत कर. आज रात तुम मुझे बस अपनी रांड बना लो. मैं सिर्फ तुम्हारी हूँ, जब चाहो मुझे चोदो।

उसकी इतनी कामुक बातें सुनकर मेरा लंड जोश में आ गया और मैंने एक ही झटके में लंड अन्दर पेल दिया.
फाड़ दो मेरी बहन की चूत, मेरा कड़क लंड 3 इंच तक घुस गया।

बहन की चीख निकल गयी.
उसकी आँखों से आँसू बहने लगे और वो चिल्लाने लगी- आआह फाड़ दी मेरी… धीरे करो आआह उई माँ मर गई!

रितिका की चीख को दबाने के लिए मैंने अपने होंठ उसके रसीले होंठों पर रख दिए और 5 मिनट तक वैसे ही पड़ा रहा.

कुछ देर बाद बहन मस्ती में आ गई और अपनी गांड हिलाने लगी. मैं समझ गया कि ये साली पूरा लंड अन्दर लेने के लिए तैयार है.

मैंने दोबारा झटका मारा और इस बार लंड पूरा घुस गया और योनि को फाड़ दिया।
बहन एक बार फिर कामुकता से सिसकारने लगी- आआह … आराम से चोद अपनी बहन को … फाड़ दी तूने मुझे … आ गया हरामी.

मैंने बहन की बात से अंजान होकर लंड पेलना जारी रखा और कहा- साली… रंडी बहन की लौड़ी… तूने लंड खड़ा करके खुद को बुला लिया, अब चोद इसे!
ये कह कर मैं अपना मूसल ठोकता रहा.

सेक्स के दौरान मैं कभी उसके निप्पल को मुँह में लेकर काटता तो कभी उसकी गांड को सहलाते हुए थप्पड़ मार देता.

बहन की चीखें अब मादक सिसकारियों में बदल गयी थीं.
अब वो जोश में आकर गाली देने लगी- चोद साले… मुझे पागल कर दे, चोद मुझे… आअहह आज तक इतना मजा नहीं आया भाई… बना दे अपनी बहन को रंडी… उह्ह्ह आम्म्म आह्ह्ह्ह ऐसे ही करते रहो भाई।

मैंने अपनी बहन को 25 मिनट तक चोदा.
इस बीच वो दो बार झड़ गयी और उसके बाद मैं भी अपनी बहन के अन्दर ही झड़ गया.

उस रात मैंने अपनी बहन को 4 बार चोदा और अब जब भी मौका मिलता है मैं उसे चोदता हूँ।

अगली सेक्स कहानी में बताऊंगा कि कैसे मैंने उसकी मदद से उसकी मौसी की लड़की को चोदा.

मुझे उम्मीद है दोस्तो आपको मेरी सेक्सी नंगी बहन की शापित कहानी पसंद आयी होगी.
यदि कोई गलती हो तो क्षमा करें.
जल्द ही अगली कहानी में मिलते हैं.
[email protected]

मौसी को अपनी बीवी बना के चोदा चोदी की

कैसे हो प्यारे दोस्तो? मुझे उम्मीद है कि आप लोग सब मजे कर रहे होगे. आपके इसी मजे को बढ़ाने ...

शादी के बाद भी कुंवारी रही लड़की की चुदाई की कहानी

प्यारे दोस्तो … मेरा नाम आशीष है भीलवाड़ा राजस्थान से हूँ. मैं XXXVasna का पुराना पाठक हूँ. काफी दिनों से ...

गांड मारकर गुड मॉर्निंग कहा- Sexy Bhabhi Ki Chudai

मैं काम के सिलसिले में मुंबई चला आया क्योंकि हमारा शहर बहुत छोटा है और वहां पर मुझे ऐसा कुछ ...

भैया बन गए सैंया- Bhai Behen ki Chudai

मेरे 12वीं के एग्जाम नजदीक आने वाले थे और मैं बहुत घबराई हुई थी क्योंकि मैंने इस वर्ष अच्छे से ...

पापा अपनी छमिया के साथ- Romantic Sex Story

हेलो दोस्तो। मेरा नाम पारुल (उम्र २०) है। मैं अपनी ज़िन्दगी की पहली कामुक कहानी आप लोगों को पेश कर ...

कामवाली के साथ रंगरेली मनाई- Kaamvali Ki Chudai

कामुक कहानी पढ़ने वाले दोस्तों को मेरा नमस्कार। मेरा नाम मोहन गुप्ता (उम्र २२) है। मैं नोएडा में रहता हूँ। ...

Leave a Comment