Train Mein Anjan Aurat Ke Sath Love Story – Ek Vasna Mulakat

हेलो माय नेम इज रॉकी एह ये कहानी आज से 1साल पहले की एह जब में दिल्ली से नागपुर वापस जरा था।

मेने मेरी टिकट एसी की कराई थी मेरे लिए मॉर्निंग ट्रेन में जाके बेथ गया और कुछ देर के बाद सिंपल सामने वाले सीट में एक और आकार बेथ गई। यदि आप बारीकी से देखेंगे तो आप हमारे चित्र 36-34-38 में 37 साल की वृद्धि देखेंगे और आपको शुद्ध संस्कृति दिखाई देगी।

उसके नीले रंग की साड़ी पहनी थी और लाल रंग का था। इस्तेमाल करते साथ मेरे लंड का इस्तेमाल करो सलामी दे दी थी बराबर इस्तेमाल देखने से लग नहीं रहा था कि वो पटने वाली एह पर हम वी सोच लिए ले कि इसे पटाना तो ए जरूर।

कुछ देर बाद सीट से और भी लोग आयें टू यूज टू रिमूव समन के लिए कहने लगे तो उसी वक्त मौका उठा के कहा कि भाभी अगर आपको अटेन्शन ना हो आप लिजिए इन माई सीट आला और मैंने में उठा कर अपने पास राख इंस्टॉल करने के लिए लिया।

यही सुरुवत थी बातों की, फिर उन्हें थैंक्स क्या तो ज्यादा देर ना करते हुए मैंने पूछा कि आप कहां जाएंगे तो उन्हें कहा कि गोंदिया फिर मैंने पूछा आपका नाम क्या है तो उन्हें अपना नाम किरण बताया। फिर अनहोन मुझसे पूछा।

किरण : कहाँ जा रहे हो ?

चट्टान का

किरण उस वक्त थोड़ा शर्मा गई और कुछ भी कह दिया।

साइड मी लोगो के होने के फेस से मैं उनसे जड़ा खुल कर बातें नहीं करपरा था बाय उन्हें बार बार देखे जरा था और उन्हें भी वो चीज गोर कर ली थी फिर कुछ देर बीडी साइड वालों का स्टेशन आग्या तो वो सब उतर गए उसी वक्त किरण जी ने कहा कि मामला कुछ समय से प्रिंट में था।

मैंने कहा कोई नहीं किरण जी अव कोई परेसनी थोड़ी एह सिर्फ आप और में ही एह तो हमारी बात को इग्नोर करके बोली।

किरण :- क्या कर रहे हो ?

रॉकी :- कुछ नहीं बीएस बिजनेस

किरण :- क्या चल रहा है ?

(लीड अस वक्त उनसे झूठ कहा)

रॉकी:- जी वाले महिलाओं के अंडरवियर के डिज़ाइनर हैं

किरण हम वक्त थोड़ा सा सरमा गई और कुछ नहीं बोली।

फिर मैंने उनसे कहा कि भाभी आपके पति तो बड़े लकी होंगे जो इतनी खूबसूरत पति उन्हें मिली तो वो स्माइल के बोली हा वो तो है और वो काफी अच्छे दिखते हैं।

मैं कुछ भी बोलू भाभी के पास मेरी बात करने के लिए जवाब तैयार था।

फिर मैंने कहा जो वी बोलो भाभी आपका मुकाबला नहीं एह तो उनको कहा तुम किसी ने कहा था कि जैसी बहुत सी पुरानी को देखा हो तो मैंने कहा भाभी अब मेरा काम ही वही तुम्हें बताता था न बहुत सी देखी पर आपके जेसा नहीं देखा कही।

तो उसे हल्का सा सरमा गई और इस बार जवाब ना आने के चेहरे से मैने टैरिफ बैंड नी क्रि मेने कहा देखो अपने चेहरे को देखो कितना ग्लो करता है, स्माइल देखो तुम्हारी और सबसे बड़ी बात तुम जो वी पहचानो अपने ऊपर वो खिलने लगेंगे।

भाभी को कहा- तुम मास्क लगा लो

तब मैंने बोला – क्या भाभी अब सच बोलना वी बुरा क्या है,

तो बोले- नहीं नहीं किसने कहा

फिर मैंने कहा आपकी स्किन देख कर लग रही है कि आपकी स्किन वी काफी सॉफ्ट एह तो वो और ब्लश करने लगी फिर अचानक से टीटी आग्या तो सब बात बीच में रोकनी पड़ गई और फिर नेक्स्ट स्टेशन में और वी लोग चढ़ गए।

मैंने सोचा था कि आज का काम हो जाएगा, सब बिगड़ जाएगा। भाभी सेक्स कहानी पढ़के मुठ मार सोना पड़ेगा। लेकिन, थोडे देर में मैंने देखा की भाभी सोने चले गई क्योंकि हमारी बात नहीं हो पर थी तो उसके बाद में वी सोने चलागया अपने ऊपर के सीट में दोर को 3 बजे मेरी आंख खुली तो मैंने देखा की एवी 1-2 लॉग द वू वी कोई बीच में सो रहा था।

और एक जान ऊपर में और भाभी आला बेथ कर गण सुन राही थी मेरे लिए फटाफट आला और जा के बेथगया और उन्हें मुझे देखते साथ कहा होगा निंद पुरी बड़ी निंद आती एह आपको तो मेने कहा वाई तो आपके साथ सर्फ इस्ली निंद उद गी वरना कहा उठते हम तो फिर भाभी ने कहा अव उथे हो और उठते साथ फ्लर्ट।

अभि और भाभी भी मेरे साथ हैं और मैं इसका पूरा लुत्फ उठाता हूं क्योंकि मुझे इस बात का खास अहसास है कि 7-8 घंटे में मैं ऐसा नहीं बन सकता।

भाभी फिर आला झुकी कुछ समान निकालने के लिए तो उनका पल्लू गिर गया तो उनके गोरे गोर बूब्स शुद्ध दिख रहे ले वो देखते साथ मेरा लुंड सिंपल कंट्रोल में नहीं रहा मैंने जेसे इसे करके तकिया दबा के यूज एडजस्ट किया।

मुझे ऐसा लगा जैसे मेरी भाभी ने मेरा काला हुआ लिंग नहीं देखा है। उसके बीडीडी थोड़े डर के लिए दोनो चुप होके बेथ गए कोई किसी से कुछ नहीं बोल रहा था पर सिंपल मैडग में उन्हें छोड़ने का प्लान बना के रखा था।

फिर मैंने ही बात कर कि और कहा कि आपके घर में कोन को एह तो बेईमानी की प्रिंसिपल सिंपल पति सास और एक 10 साल का बेटा। मेने कहा वह बढिया हैप्पी फैमिली फिर मैंने कहा कि दिल्ली केसे आना हुआ तो कहा कि वो उनका मायका हुह तो पिचले 30-दिन से वो यही थी।

फॉर मेने मजक मजक में बोल्डिया की फिर तो भइया की बड़ी याद आती होगी तो वो वी स्माइल के सर हिला दी, मुझसे अंदर से ये खुशी थी कि 1 महीने से इसकी चुत में लुंड नी गया एच तो मेरा कुछ काम तो आसन हो गया एह ।

फिर हम इधर उधर की बात करते रहे और मैंने ध्यान दिया कि वो धीरे धीरे अपने पल्लू को हल्का हटा ही ताकी में उसके दूध के दर्शन अच्छी से कर सकु.

फिर रात के 8-9 बीजे ट्रफ हमने अपना खाना खतम किया लेकिन मेरी कामवासना खराब रही थी और मुझे मजयां ऊपर जाके सोना पड़ा तो मैंने सोचा लिया कि आज कुछ नहीं परफेक्ट वाला।

किस्मत जब साथ हो तब कुछ भी हो सकता है आला के सीट वाला थोड़े देर के बाद उतर गया फिर में जाके टीटी से पूछा की इस सीट बाय कोन होगा तो अनहोन कहा अव कोई नहीं आएगा तो खुशी खुशी जाके में आला सोने गया मैंने देखा कि ये भाभी इतनी शॉक्ड थीं कि मेरा दिल टूट गया.

फिर मैंने अपने जुनून को व्यक्त करने के लिए एक फिल्म चलाई। 365 दिन कौन जानता है कि आप क्या देखेंगे अंतरवासन रोमांटिक फिल्म एह मैं वो देखता रहा और मैंने ध्यान दिया कि भाभी उठ चुकी थी और वो फिल्म देखे जारी थी।

अचानक से मेरी नजर उनपर पड़ी तो मैंने बिना झिझके उन्हें कहा देखो तो सिंपल बाजू में आके बेठ जाओ तो उन्हें पहले मन किया और कहा कि मैं देख रही कुछ तो मेने कहा देखो तुम्हारे ऊपर किसी को नहीं पता चलेगा।

तो वो बोली नहीं ऐसा कुछ नहीं ए फिर में फिर में उठ कर बेठ गया और उनका हाथ पीकेडी कर कहा देखो अव वी आजैये या में अजात हु और फिल्म चला के उन्हें दिखाने लगा तो उनका ध्यान किस का वही रह गया। और इसी बात का फैसला उठा के मैंने उनके हाथ पक्का कर उन्हें अपने पास भेजा लिया।

उन्हें कहा – कोई देख लेगा तो

तुम कहाँ जा रहे हो?

फिर हमें एक ही चादर को दूसरा और आजू बाजू बेठ कर वो मूवी देखने लग गए अब सिंपल पास वक्त नहीं था तो कुछ भी वेसा सीन आने का में इंतजार कर रहा था। और जैसे ही सीन आया में हल्के से अपना हाथ उनके जंगो के साथ गया और अनहोन कुछ वी ना कहा तो मेरी हिम्मत और बढ़ गई।

आगे की कहानी अगले भाग में…

आपको कहानी कैसी लगी?

मौसी को अपनी बीवी बना के चोदा चोदी की

कैसे हो प्यारे दोस्तो? मुझे उम्मीद है कि आप लोग सब मजे कर रहे होगे. आपके इसी मजे को बढ़ाने ...

शादी के बाद भी कुंवारी रही लड़की की चुदाई की कहानी

प्यारे दोस्तो … मेरा नाम आशीष है भीलवाड़ा राजस्थान से हूँ. मैं XXXVasna का पुराना पाठक हूँ. काफी दिनों से ...

गांड मारकर गुड मॉर्निंग कहा- Sexy Bhabhi Ki Chudai

मैं काम के सिलसिले में मुंबई चला आया क्योंकि हमारा शहर बहुत छोटा है और वहां पर मुझे ऐसा कुछ ...

भैया बन गए सैंया- Bhai Behen ki Chudai

मेरे 12वीं के एग्जाम नजदीक आने वाले थे और मैं बहुत घबराई हुई थी क्योंकि मैंने इस वर्ष अच्छे से ...

पापा अपनी छमिया के साथ- Romantic Sex Story

हेलो दोस्तो। मेरा नाम पारुल (उम्र २०) है। मैं अपनी ज़िन्दगी की पहली कामुक कहानी आप लोगों को पेश कर ...

कामवाली के साथ रंगरेली मनाई- Kaamvali Ki Chudai

कामुक कहानी पढ़ने वाले दोस्तों को मेरा नमस्कार। मेरा नाम मोहन गुप्ता (उम्र २२) है। मैं नोएडा में रहता हूँ। ...

Leave a Comment