Video Call Sex Ki Kahani – जीजू की बहन की चूत मारने की तैयारी

वीडियो कॉल सेक्स स्टोरी में मैंने अपने जीजा की बहन को सेट किया और उससे सेक्स करने की बात की. लेकिन उससे पहले हमने फोन पर वीडियो कॉल की और सेक्स का मजा लिया.

मेरी कहानी का पहला भाग
चचेरे भाई को देसी लड़की ने सेट कर लिया
अब तक आपने पढ़ा था कि शालिनी मुझे रिया की मिस्ड कॉल दिखाकर मजे ले रही थी और मैं भी खुश था कि रिया मुझसे बात करना चाहती थी।

अब वीडियो कॉल सेक्स स्टोरी पर आते हैं:

कुछ देर बाद मैं फ्रेश होकर बैठा और रिया को कॉल किया.
रिया ने फोन उठाया और बोली- हाय जी.

मैंने भी कहा- हाय जी आप कैसे हैं?
रिया बोली- मैं ठीक हूँ आप कहो!
मैंने कहा- आपने रात को फोन किया था ना?
रिया बोली- हां… मुझे नींद नहीं आ रही थी तो सोचा कि तुमसे बात कर लूं. लेकिन आप तो दूसरी दुनिया में थे.

मैंने माफ़ी मांगते हुए कहा- अरे यार, वो कल सारा काम करके थक गया था इसलिए कब सो गया पता ही नहीं चला! वैसे भी, मैं तुम्हें कॉल करने वाला था, लेकिन इसके बारे में सोचते-सोचते सो गया।

उस समय तक हम दोनों दो घंटे तक बातें करते रहे होंगे.

अगले दिन माता-पिता घर चले गये।
मामी ने मुझे रोकते हुए कहा कि 10 दिन बाद मुझे दीदी के घर उन्हें लेने जाना है.

ऐसे ही 7-8 दिन बीत गए लेकिन मैंने रिया को नहीं बताया कि मैं अभी भी गांव में हूं.
उसे लगा कि मैं अपने घर वापस आ गया हूं.

अब आलम यह था कि रिया जब भी मुझसे बात करती थी तो मैं मजे के लिए उससे कुछ न कुछ सेक्सुअल बातें कह देता था.
जबकि मुझे ये भी बताया गया था कि उसका एक बॉयफ्रेंड भी है.

लेकिन मुझे इससे कोई दिक्कत नहीं थी.. क्योंकि मैं तो बस यही चाहता था कि कैसे रिया की रसीली चूत को चाट-चाट कर लाल कर दूँ और उसे चोद-चोद कर जोर-जोर से चिल्लाने पर मजबूर कर दूँ।

रिया को देखकर कोई नहीं कह सकता था कि वह गांव में रहती है. वह बहुत आधुनिक लड़की थी.

रिया वापस जाने से 3 दिन पहले सेक्स के मूड में आना चाहती है इसलिए उसने अपने बॉयफ्रेंड से व्हाट्सएप पर बात की.
लेकिन गलती से उसने मुझे कुछ तस्वीरें भेज दीं.
उसकी बिना कपड़ों की दो तस्वीरें मेरे पास आईं.

उसके डिलीट करने से पहले ही मैंने ये तस्वीरें सेव कर लीं।

इसी बीच रिया का मैसेज आया. उन्होंने सॉरी लिखा.
वो बोली- गलती से आपके पास भेज दिया गया.

मैं जानता हूं कि वह वैसे भी खुलकर बात नहीं करेगी, असली विकल्प तो यही है।

मैंने भी मौके पर चौका मारा – यह गलती से हुआ लेकिन यह सही जगह पर हुआ। क्षमा करें, लेकिन आप बहुत आकर्षक व्यक्ति हैं… यह केवल भाग्यशाली लोगों को ही मिलता है!
रिया बोली- धन्यवाद लेकिन वादा करो तुम किसी को नहीं बताओगे!
मैंने कहा- ठीक है, लेकिन मेरी एक रिक्वेस्ट है!
रिया बोली- क्या है…नंबर

मैंने कहा- अब जब देख ही लिया है तो कुछ और तस्वीरें भी दिखाओ.
पहले तो रिया मना करने लगी.

तो कुछ देर बाद वो बोली- मुझे तुम पर भरोसा है. इसे देखने के बाद खुद को डिलीट कर लें.
मैंने कहा- ठीक है.

रिया ने मुझे 6 तस्वीरें भेजीं.

उन तस्वीरों में वो बिस्तर पर बैठी हुई थी और अपने दोनों पैर खोलकर अपनी चूत को सहला रही थी.
एक में उन्होंने खुले बाल, लाल लिपस्टिक लगाई हुई थी और उस फोटो में उनका एक हाथ उनके एक निपल पर था.
उसके बहुत हल्के और गोल चूचे थे.

दोस्त, मुझसे रहा नहीं गया. मेरा हाथ अपने आप मेरे लंड को सहलाने लगा.
ऐसे ही और भी दृश्य थे.
मैंने रिया से कहा- क्या तुमने सच में सेक्स किया है?

पहले तो कुछ देर तक उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया.
फिर मैंने कहा- यार, बिंदास बोलो.. डरो मत।
तब रिया ने बताया- हां सेक्स किया है. लेकिन ज्यादा बार नहीं, सिर्फ 2 बार और वो भी जल्दी-जल्दी… इस डर से कि कोई देख न ले.

मैं समझ गया कि अगर इसे पूरी तरह से पक्का करना है तो इसे फुल मस्तूल बनाना ही होगा.

मैंने पूछा- अभी कुछ पहना है क्या?
रिया बोली- नहीं, अभी कुछ नहीं.

“तुम अकेली सोती हो?”
रिया बोली- हां मेरा कमरा अलग कमरा है. लेकिन अभी मैं ऊपर वाले कमरे में हूँ, यहाँ अकेले पढ़ता हूँ और जब मन नहीं होता तो छत पर घूमता रहता हूँ।

“तुम्हारा मतलब है कि तुम्हारे पास ऊपर के साथ-साथ नीचे भी एक कमरा है?”
“अभी भी मेहमान नीचे हैं, इसलिए जब उसकी शादी हुई थी तब भी वह अपना सामान ऊपर ले आई थी।”

मैंने कहा- एक काम करो?
रिया बोली- क्या?

“क्या आपने फ़ोन सेक्स किया है?”
रिया बोली- हां, मैंने किया है, लेकिन इसमें ज्यादा मजा नहीं आता.

मैंने कहा- क्या तुम आज मेरे साथ ऐसा करोगी?
मैंने थोड़ा जोर दिया, फिर मैं मान गया.

“तुम्हे मेरा वाला देखना हैं?”
रिया बोली- ठीक है फोटो भेजो.

मैंने अपने लंड की तस्वीर खींची और उसे भेज दी।
लंड देख कर रिया बोली- तुम्हारा हथियार तो बहुत अच्छा है!
मैंने कहा- क्या तुम इसे अपनी प्यारी गुलाबी चूत में डालना चाहती हो?

वह हंस पड़ी.
अब मैंने रिया को बुलाया और कहा- तुम मेरे लंड को देखो और महसूस करो. जैसा मैं कहता हूँ वैसा करते रहो.
उन्होंने कहा हाँ’।

मैंने कहा- रिया जान, अपने दोनों हाथों से अपने दोनों स्तनों को सहलाओ, प्यार से महसूस करो… अपनी आँखें बंद करो जैसे मैं तुम्हारे स्तनों को सहला रहा हूँ।
रिया धीरे धीरे वो सब करने लगी.

मैंने कहा- रिया सोचो मैं तुम्हारे दोनों निपल्स को अपनी दो उंगलियों के बीच मसलूंगा.
ऐसा करते समय रिया की आवाज आने लगी.

मैंने कहा- आँखें मत खोलना.
वो मेरी बातें सुनती रही.

अगले ही पल मैंने उससे मेरी नाभि सहलाने को कहा और फिर धीरे-धीरे उसकी चूत पर आ गया.

मैंने पूछा- अब कैसी है तुम्हारी चूत?
रिया बोली- बहुत गर्मी होगी.

मैंने कहा- अब इसे अपनी चूत के दाने से सहलाओ.. दो उंगलियों में लेकर प्यार से मसलो।

जैसे ही रिया ने अपनी चूत के दाने को रगड़ना शुरू किया तो उसकी कामुक सिसकारियां तेज होने लगीं.

अगले ही पल मैंने कहा- ऐसा महसूस करो कि मैं तुम्हारे साथ हूं और अपनी प्यारी सी चूत में एक उंगली डालो.

जैसे ही रिया ने अपनी उंगली अपनी चूत में डाली तो उसकी कामुक सिसकारी ने मुझे और उत्तेजित कर दिया जिसके कारण मैं अपने लंड को लगातार ऊपर नीचे करने लगा.

कुछ देर ऐसा करने के बाद मैंने वीडियो कॉल सेक्स के दौरान उसकी चूत में दो उंगलियां डाल दीं, लेकिन वो जलन होने की बात कहकर मना करने लगी.
मैंने ज्यादा तनाव नहीं लिया.

कुछ देर तक हम दोनों ऐसे ही चूत में उंगली अंदर-बाहर करने और अपने लंड को इधर-उधर हिलाने से शांत हो गए।

कुछ देर बाद रिया बोली- आप तो पूरे एक्सपर्ट लगते हैं!
मैंने कहा- नहीं यार.. बस थोड़ी सी जानकारी है।

फिर मैंने बातों ही बातों में कहा- ये तो पहरा था, तुम मुझे असली मौका कब दोगे?
रिया बोली- एक शर्त पर… तुम्हें एक दिन पहले मेरे घर आना होगा, अगर ऐसा है तो पहले आकर दिखाओ।

मैंने कहा- देखो, अगर आयेगा तो दोगे?
रिया बोली- जो तुम चाहो.

मैंने कहा- तो बाद में मुकर मत जाना!
रिया बोली- मैं नहीं जा रही, तुम आ सकते हो लेकिन तुम्हें एक दिन पहले आना होगा. अन्यथा आपको कुछ नहीं मिलेगा!

मैंने भी कहा- ठीक है.
इतना कह कर उसने फोन काट दिया और सोचने लगा कि कहीं रिश्तेदार का घर उस तरफ तो नहीं है.

फिर सुबह हुई तो मैंने चाची से पूछा कि चाचा का घर बहन की ससुराल से कितनी दूर है?
मौसी ने कहा करीब 15 किलोमीटर है!

मैंने झूठ बोल दिया कि अंकल का फोन आया था, उन्होंने बुलाया है.
मामी बोलीं- ठीक है, लेकिन कल तुम दीदी के घर जा रहे हो ना?
मैंने कहा- आंटी, मैं रात को वापस आऊंगा.

मामी बोलीं- ठीक है, किसी को ले आओ.
मैंने कहा- नहीं आंटी, सब अपने-अपने काम में व्यस्त हैं।

आंटी ने कहा- ठीक है ध्यान से चलना और पहुंच कर फोन करना.
मैंने कहा- हाँ ठीक है.

अब मैं सुबह करीब 10 बजे घर से निकला और 2 बजे वहां पहुंच गया.
पहले तो मैंने सोचा कि रिया के घर कैसे जाऊं … क्या बहाना बनाना ठीक रहेगा.

फिर मैं अंकल के घर गया और 5 बजे वहां से निकला.
तब तक ठंड के कारण अंधेरा हो गया था.

आपको इस बात की जानकारी होनी चाहिए कि गांव में अधिकतर लोग रात के समय कहीं भी आते-जाते नहीं हैं।

अब हुआ यूं कि मैंने जानबूझ कर गैस कम डाली थी ताकि गैस खत्म होने का बहाना बना सकूं.
मुझे चाचा के घर से निकले हुए एक घंटा हो गया था. बीच में बाज़ार था, वहाँ जाकर मिठाई की दुकान पर बैठ गया। वहां चाय और मिठाई खाई.
वहां एक घंटा बिताने के बाद बाहर निकला.

रिया का घर यहां से 5 किलोमीटर दूर था और अंधेरा होने लगा था.
मैं अभी कुछ ही दूर चला था कि मेरी चाची का फोन आ गया.

उन्होंने पूछा-कहाँ हो बेटा?
मैंने कहा- बुआ, बाइक में कुछ दिक्कत है, मैं थोड़ा लेट हो गया हूँ।

फिर आंटी बोली कि ऐसी क्या दिक्कत आ गयी? अभी आप कहाँ हैं
मैंने कहा- मैं दीदी के घर से 2 किलोमीटर दूर हूं.

इस पर आंटी बोलीं- तुम एक काम करो, तुम दीदी के घर ही चले जाओ. लेकिन तुमने घर नहीं देखा… रुको, मैं काजल को बता देता हूँ कि तुम कहीं आसपास ही हो। तुम वहीं रुको, कोई तुम्हें लेने आएगा.
मैंने कहा ठीक है.

कुछ देर बाद काजल दीदी का फोन आया. बहन ने पूछा- कहां हो?
मैंने जगह का नाम बता दिया.

उसने कहा तुम वहीं रुको मैं तुम्हारे जीजा को भेजती हूं.

जीजाजी को आने में 20 से 25 मिनट लगेंगे. यही सोच कर मैंने रिया को फ़ोन किया और पूछा- कहाँ हो?

उन्होंने बताया कि मैं ऊपर अपने स्टडी रूम में हूं.
मैंने मजाक में कहा- कल आऊंगा तो कुछ मिलेगा क्या?

रिया बोली- नहीं, जो मैंने एक दिन पहले कहा था… तो तुम्हें एक दिन पहले आना होगा, तभी कुछ मिलेगा!
मैंने कहा- चलो कोई बात नहीं. मेरे भाग्य में जो होगा, वही सत्य है।

वह कुछ देर बात कर ही रहा था कि तभी जीजाजी उसे लेने आ गये।
मैंने जल्दी से फोन रख दिया.

मैं अपने जीजाजी से मिला. जीजाजी पूछने लगे कि बाइक में क्या हुआ?
मैंने कहा- ये चालू ही नहीं होगा.

तभी जीजाजी बाइक देखने लगे.
मैंने बाइक पर स्पार्क प्लग थोड़ा ऊपर लगा दिया था, जिसकी वजह से बाइक स्टार्ट नहीं हो रही थी।

जीजाजी को साइकिल चलानी भी आती थी, इसलिए उन्होंने जल्दी ही उसका निपटारा कर लिया।

अब हम दोनों 8 बजे के बाद ही घर पहुँचे, सबने खाना खा लिया था और सब सोने की तैयारी कर रहे थे।
मैं सबसे मिला लेकिन रिया ऊपर वाले कमरे में थी.

मैंने जल्दी से खाना खाया.
सबने मेरे लिए बिस्तर नीचे लगा दिया तो मैंने दीदी से कहा- ऊपर अच्छी हवा चल रही है, क्या मैं छत पर सो जाऊँ?
दीदी बोलीं- ठीक है. लेकिन अगर ठंड है तो नीचे आ जाओ।

मैंने ओके कहा तो मैंने दीदी से पूछा- रिया दिखाई नहीं दे रही है.
दीदी ने कहा- कल उसका एग्जाम है इसलिए वो ऊपर वाले कमरे में तैयारी कर रही है.

मैंने कहा- मीटिंग में जाना है क्या?
दीदी बोलीं- हां. एक काम और करो कि जब उसे छत पर सोना हो तो बिस्तर भी ले लेना. लेकिन छत पर अभी भी कोई नहीं सो रहा है.
मैंने कहा- ठीक है.

इतना कहते ही मैं ऊपर आ गया.
तो यहाँ भी 5 कमरे थे और उसके ऊपर छत थी.

लेकिन मेरे लिए ये ठीक था कि ऊपर कोई नहीं था, सिर्फ रिया ही थी.
मेहमानों के लिए केवल कुछ ही लोग थे. वे सभी पहली और दूसरी मंजिल पर थे, इसलिए कोई समस्या नहीं थी।

रिया के कमरे का दरवाज़ा थोड़ा खुला था.
मैंने जल्दी से बिस्तर ऊपर डाला और रिया के कमरे के दरवाजे में देखा।

हल्का सा दिख रहा था कि रिया एक कुर्सी पर बैठी थी और उसने घुटनों तक कैप्री जैसा कुछ पहना हुआ था. ऊपर उन्होंने टी-शर्ट पहनी थी.

मैंने देर न करते हुए दरवाजा हल्का सा खोला और अन्दर आ गया.
वह पीछे से चला और दोनों हाथों से दबाकर अपनी आँखें बंद कर लीं।

रिया अचानक घबरा गई और बोली- कौन है?
मैंने कुछ भी नहीं कहा।

रिया फिर बोली- कौन है?
मैंने कहा- अब आप कुछ मत बोलो.

ये कहते हुए मैंने उसकी गर्दन को चूमा और उसके सामने आ गया.

जैसे ही रिया की आंख खुली तो बोली- कैसे हो?
मैंने कहा- किसी ने बुलाया तो हम आ गये.

दोस्तो, रिया इस बात से हैरान थी कि मैं उसे बिना बताये उसके घर उसे चोदने आया हूँ।

अगले भाग में मैं आपको मस्त चुदाई की कहानी से परिचित कराऊंगा.
अपने मेल और कमेंट्स से हमें बताएं कि वीडियो कॉल सेक्स स्टोरी कैसी है.

लेखक के अनुरोध पर ई-मेल आईडी उपलब्ध नहीं करायी गयी है.

वीडियो कॉल सेक्स कहानी का अगला भाग:

मौसी को अपनी बीवी बना के चोदा चोदी की

कैसे हो प्यारे दोस्तो? मुझे उम्मीद है कि आप लोग सब मजे कर रहे होगे. आपके इसी मजे को बढ़ाने ...

शादी के बाद भी कुंवारी रही लड़की की चुदाई की कहानी

प्यारे दोस्तो … मेरा नाम आशीष है भीलवाड़ा राजस्थान से हूँ. मैं XXXVasna का पुराना पाठक हूँ. काफी दिनों से ...

गांड मारकर गुड मॉर्निंग कहा- Sexy Bhabhi Ki Chudai

मैं काम के सिलसिले में मुंबई चला आया क्योंकि हमारा शहर बहुत छोटा है और वहां पर मुझे ऐसा कुछ ...

भैया बन गए सैंया- Bhai Behen ki Chudai

मेरे 12वीं के एग्जाम नजदीक आने वाले थे और मैं बहुत घबराई हुई थी क्योंकि मैंने इस वर्ष अच्छे से ...

पापा अपनी छमिया के साथ- Romantic Sex Story

हेलो दोस्तो। मेरा नाम पारुल (उम्र २०) है। मैं अपनी ज़िन्दगी की पहली कामुक कहानी आप लोगों को पेश कर ...

कामवाली के साथ रंगरेली मनाई- Kaamvali Ki Chudai

कामुक कहानी पढ़ने वाले दोस्तों को मेरा नमस्कार। मेरा नाम मोहन गुप्ता (उम्र २२) है। मैं नोएडा में रहता हूँ। ...

Leave a Comment