Xxx Bhai Sex Kahani – लॉकडाउन ने बना दिया भाइयों की रंडी

Xxx भाई सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि सगे भाई के साथ सेक्स का मजा लेने के बाद मुझे सेक्स की लत लग गयी. बंद के दौरान जब हम गांव गए तो सेक्स को लेकर दिक्कत हुई. क्या हुआ

सुनिए ये कहानी.


दोस्तो, मैं दीपिका फिर से एक नई कहानी लेकर हाजिर हूँ।

आप सभी की तरह मेरा पिछला इतिहास
भाई से तुड़वाई चूत की सील
बहुत सारा प्यार दिया, उसके लिए बहुत-बहुत धन्यवाद।’

यह Xxx ब्रो सेक्स स्टोरी 2020 के लॉकडाउन के दौरान की है।
फिर मैं, मेरा भाई… अपनी माँ और पापा के साथ अपने गाँव चले गये।
वहां दिन तो बहुत अच्छा कटता था, लेकिन जब रात होती थी तो भाई के लंड की याद आती थी.

गाँव में मैं, मेरा भाई, चाचा या उनका बेटा एक साथ सोते थे, इसलिए रात को जरूरत होती तो हम उन्हें जगा देते थे।

अब उन्हें कौन बताए कि वे न होते तो हमें कितना आराम महसूस होता।

जब से मेरे भाई ने मुझे चोदना शुरू किया है, मुझे हर दिन उसका लंड अपनी चूत में चाहिए होता है.
वह मुझे हर रात पीटता भी था, उन दिनों को छोड़कर जब मैं मासिक धर्म के दिनों में होती थी, वह मुझे हर रात चोदता था।

कभी-कभी हम दोनों को दिन में भी मौका मिल जाता था तो दिन में भी हम दोनों पूरे नंगे होकर मजा करते थे.

जब मैं घर से गांव के लिए निकली थी तो सोचा था कि गांव में भाई के लंड का मजा मिलता रहेगा.
लेकिन यहाँ योनी को लंड की भारी कमी का सामना करना पड़ा।

चूँकि मैं सेक्स के बिना नहीं रह सकती थी इसलिए मैंने अपनी चुदाई का प्लान बनाया और अपने भाई को भी समझाया कि रात को जब सब सो जायेंगे तो तुम ठंड का बहाना करके मेरी चादर के नीचे आ जाना। फिर हम चुदाई का मजा लेंगे.

प्लान के मुताबिक रात को मेरा भाई मेरी चादर के नीचे आया और मुझे चूमने लगा.
उसके पास रहकर मुझे सचमुच बहुत राहत मिली।
हम दोनों ने प्यासे पंछियों की तरह एक दूसरे को चूमा.

भाई ने अपनी जीभ मेरे मुँह में डाल दी थी और उसने मेरी जीभ को मीठी कुल्फी की तरह चूस लिया.
उसके मुँह में अपनी जीभ डाल कर मुझे भी ऐसा लग रहा था जैसे बहुत दिनों से मैंने उसकी जीभ का स्वाद नहीं चखा हो।

इस तरह धीरे-धीरे मेरे भाई ने मुझे गर्म कर दिया और मेरी सलवार का नाड़ा खोल दिया और उसे नीचे करके मेरी चूत चाटने लगा.
मुझे अपने भाई से अपनी चूत चटवाने में बहुत मजा आया.

मेरी वासना भरी सिसकारियां निकलने वाली थीं, लेकिन अंकल भी मेरे बगल में लेटे हुए थे, इसलिए मैंने अपना मुंह अपने हाथ से दबा लिया और अपनी चूत को खूब चाटा.
जब मैं झड़ गई तो उसने मेरी चूत का सारा रस चाट लिया.

बाद में मैंने उसे हाथ के इशारे से बताया कि मुझे लंड चूसना है.

वो 69 साल का हो गया और मेरे मुँह में अपना लंड डाल कर मुझे चुसवाने का मजा लेने लगा.

चूँकि मेरा भाई भी बहुत उत्तेजित था तो वो भी कुछ ही देर में मेरे मुँह में झड़ गया।
मैंने उसका रस चाट कर खा लिया.

अब उसका लंड बिल्कुल ढीला हो गया था और चूँकि मैं एक बार फिर से अपने भाई से चाटने से गर्म हो गई थी, इसलिए मुझे जल्द से जल्द अपनी चूत में एक सख्त लंड की ज़रूरत महसूस हुई।

इसलिए मैंने अपने भाई का फूला हुआ लंड चूसना जारी रखा और उसकी कमर पर अपने स्तन भी सहलाती रही.
उसने भी हाथ बढ़ा कर मेरी चुचियाँ मसल दीं.

उसे भी चूत की जरूरत थी इसलिए कुछ ही देर में उसका लंड सख्त होने लगा.

अपने भाई का लंड कड़क होता देख मेरी चूत दुगने जोश से फड़फड़ा उठी और मैंने उसका हाथ दबा कर इशारा किया कि अब तुम चोदना शुरू करो.

फिर मेरा भाई सीधा हो गया और मेरे सामने आ गया.
उसने मेरी दोनों टाँगें फैलाईं और अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया और एक से तीन कर दिया।

मेरी प्यासी चूत बहुत चिकनी थी इसलिए भाई का लंड अन्दर सरक गया और वो मुझे ज़ोर-ज़ोर से चोदने लगा।

मैं पहले से ही काफी गर्म हो चुका था इसलिए मैं जल्दी से उसके साथ हो लिया।
हालाँकि मैं दस मिनट में ही झड़ गया, पर अभी तक हुआ नहीं था।

उसने मुझे पूरे बीस मिनट तक जम कर चोदा और स्खलन के समय उसने अपना सारा माल मेरे पेट पर गिरा दिया।
अपना लंड टपकाने के बाद वो मेरे ऊपर लेट गया.

उस रात हम दोनों ने दो बार सेक्स का मजा लिया और अलग-अलग सोये.

इस तरह हम दोनों भाई-बहन अब हर रात सेक्स का मजा लेने लगे.

एक रात मुझे ऐसा लगा जैसे मेरे चाचा का लड़का जो मेरे बगल में लेटा हुआ था, उठकर हमें सेक्स करते हुए देख रहा है.
इधर मैंने देखा कि मेरा भाई पूरे मूड में था और मजे से मुझे चोद रहा था तो मैंने उसे नहीं रोका और चोदते-चोदते अपनी चूत की चटनी बनाती रही।

बीच में मैंने अपने चचेरे भाई के बारे में भी सोचा कि अगर उसने सच में मुझे मेरे सगे भाई से चुदाई करते देखा है, तो शायद वह भी मुझे चोदने के सपने देखता है.

हालाँकि मैं किसी और को नहीं चोदूंगा; मेरा भाई ही काफी था मेरी चूत की आग बुझाने के लिए.

उस दिन रात को भाई ने मुझे चोदा और हम दोनों अलग-अलग सोये।

अगली सुबह चाचा पास के गांव में काम करने चले गये और रात को वापस नहीं आये.

मेरे चचेरे भाई ने मेरी चाची से कहा कि मैं अपने भाई और बहन के साथ छत पर सोऊंगा।
मेरे भाई ने भी उसकी हाँ में हाँ मिला दी।

लेकिन मुझे उस पर शक हुआ कि शायद उसने हमें रात को सेक्स करते हुए देख लिया है और वो कुछ मजा करना चाहता है.

रात को जब हम छत पर सोने गये तो मैंने देखा कि चचेरे भाई ने अपना बिस्तर मेरे भाई के पास से हटाकर मेरे बगल में रख दिया था।

क्योंकि उन्होंने अपना बिस्तर ऐसे ही लगाया था तो मैं बीच में आ गया और दोनों मेरे अगल-बगल रुक गये.
मैं रात को सो रही थी तभी मेरा भाई मेरे बिस्तर पर आया और मुझे ऐसे छुआ जैसे वह मुझे पहली बार छू रहा हो।

लेकिन यह सोचकर कि चचेरा भाई मेरे बगल में लेटा हुआ है, मैंने कुछ नहीं कहा.. बस धीरे-धीरे अपना पैर उठाकर उसके मुँह को अपनी चूत में भरने लगी।

थोड़ी देर तक उसने कुछ नहीं किया लेकिन फिर मुझे अपनी जीभ से ऐसे चोदने लगा जैसे कोई बच्चा आइस बॉक्स में बची हुई आइसक्रीम को चाट रहा हो।

फिर वो मेरे स्तनों को दबाने लगा और निप्पल को मुँह में लेकर चूसने लगा.
उसने एक उंगली मेरी चूत में डाल दी और अन्दर बाहर करने लगा.

फिर उसने दो उंगलियों से मुझे जोर जोर से चोदना शुरू कर दिया. मेरे मुँह से सिसकारियाँ निकलने लगीं.
मैंने अपनी सिसकियाँ रोकने की बहुत कोशिश की।

अब उसने मेरी टांगों को फैलाया और मेरी चूत को पूरा खोल दिया और अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया और चोदने लगा.

आज मुझे अपने भाई के लंड में कुछ अलग ही मजा महसूस हुआ और उसका लंड थोड़ा टेढ़ा होकर मेरी चूत में घुस गया.

भाई के सीने की गर्मी भी अलग लग रही थी.
लेकिन मुझे मजा आ रहा था इसलिए मैंने कुछ नहीं कहा और टांगें उठा कर अपना लंड अपनी चूत में लेती रही.

भाई ने मुझे खूब चोदा और फिर अपना रस मेरी जांघ पर गिरा दिया और मेरे ऊपर से हट गया.

उस दिन मैं एक बार और Xxx भाई से सेक्स करना चाहती थी, लेकिन मैंने सोचा कि आज मेरी बगल में मेरी चचेरी बहन सो रही है, इसलिए मैं इसे छोड़ देती हूं, फिर मैंने दो बार चुदाई की.

सुबह जब मैं उठा तो देखा कि मेरा भाई छत पर नहीं है और मेरा चचेरा भाई सो रहा है.

मुझे लगा कि मेरा भाई जल्दी उठकर नीचे चला गया होगा इसलिए मैंने ज्यादा ध्यान नहीं दिया और बस नीचे आ गयी.

मैं नीचे आ गया और अपना दैनिक कार्य शुरू कर दिया।
तभी भाई बाहर से आ गया.

मैंने पूछा- तुम सुबह-सुबह कहाँ गये थे?
उन्होंने कहा- रात का असली ड्रामा देखने के लिए मैं सुबह से कहां था. आ रहा है!

ये सुनकर मैं हैरान रह गया.
जब मैंने बरामदे पर बैठे अपने चचेरे भाई की ओर देखा तो वह मुझे देखकर मुस्कुराने लगा।

मैं समझ गयी कि उसने ही मुझे रात में चोदा था।
यह पहले से ही पता था कि अगर मेरा भाई रात को रुकना नहीं चाहता तो वह और मैं दोनों छत पर होंगे।
बस इसी का फायदा उठाकर उसने मेरी चूत बजा दी.

अब मैं भाई को बता भी नहीं सकती थी इसलिए चुप रही.

आज रात जब रात हुई तो मेरा भाई मेरे बिस्तर पर आया और उसने मुझे चोदा.
चुदाई के बाद वो अपने बिस्तर पर चला गया, मैं भी सो गई।

रात को अचानक मेरी नींद खुली तो मुझे लगा कि कोई मेरी चूत चाट रहा है.
मैंने चादर हटाई तो वो मेरा चचेरा भाई था.

तो मैंने कुछ नहीं कहा, बस धीरे से अपनी टाँगें फैला दी ताकि वो मेरी चूत अच्छे से चाट सके।

वो भी मदहोश होकर मेरी चूत को चाटने में लग गया और अपना एक हाथ उठाकर मेरे मम्मों का हलवा बनाता रहा.

पहले तो मुझे थोड़ा अजीब लगा, लेकिन बाद में जब मेरी चूत की आग भड़क उठी तो उसकी हर हरकत मजेदार लगने लगी.

कुछ देर बाद वो मेरे कान के पास आया और बोला- दीदी, आपकी चूत बहुत गीली और गर्म है, बोलो इसे ठंडा कर दूँ!
मैंने हां में सिर हिलाया तो उसने मेरी लैगी और पैंटी उतार दी.

उसने मेरी एक टांग अपने कंधे पर रख ली और अपना लंड मेरी चूत में पेल दिया और मुझे अच्छे से चोदने लगा.
इतने दिनों तक चोदा लेकिन खुल कर नहीं चोद पा रहा था इसलिए मुझे भी मजा आने लगा।

मैं भी नीचे से अपनी गांड उठा उठा कर उसके लंड से लोहा लेने लगी.
उसने मुझे काफी देर तक चोदा और उसके बाद उसने मुझे अपना जूस पीने के लिए कहा.

मैंने सोचा भी नहीं, उसका लंड मुँह में ले लिया और चूसने लगी और जैसे ही उसके लंड ने रस छोड़ा, मैं सारा वीर्य पी गयी और हम दोनों सो गये।
अब वह मेरे आसपास घूमने लगा और जैसे ही उसे एकांत मिलता तो वह मेरे स्तनों को मसलता तो कभी मेरी गांड में उंगली करता।

मैं भी Xxx भाई की हरकतों का मजा लेने लगी.
मैं भी मौका मिलते ही उसे चोद लेता था.

इस तरह पूरे लॉकडाउन में मैंने अपने दोनों भाइयों के लंड से चुदाई का मजा लिया और उनकी रंडी बनी रही.

दोस्तो, यह मेरी सच्ची Xxx भाई सेक्स कहानी है। आपको यह कैसी लगी, मुझे मेल करके बतायें।
लेखक के अनुरोध पर मेल आईडी नहीं दी गयी है.

मौसी को अपनी बीवी बना के चोदा चोदी की

कैसे हो प्यारे दोस्तो? मुझे उम्मीद है कि आप लोग सब मजे कर रहे होगे. आपके इसी मजे को बढ़ाने ...

शादी के बाद भी कुंवारी रही लड़की की चुदाई की कहानी

प्यारे दोस्तो … मेरा नाम आशीष है भीलवाड़ा राजस्थान से हूँ. मैं XXXVasna का पुराना पाठक हूँ. काफी दिनों से ...

गांड मारकर गुड मॉर्निंग कहा- Sexy Bhabhi Ki Chudai

मैं काम के सिलसिले में मुंबई चला आया क्योंकि हमारा शहर बहुत छोटा है और वहां पर मुझे ऐसा कुछ ...

भैया बन गए सैंया- Bhai Behen ki Chudai

मेरे 12वीं के एग्जाम नजदीक आने वाले थे और मैं बहुत घबराई हुई थी क्योंकि मैंने इस वर्ष अच्छे से ...

पापा अपनी छमिया के साथ- Romantic Sex Story

हेलो दोस्तो। मेरा नाम पारुल (उम्र २०) है। मैं अपनी ज़िन्दगी की पहली कामुक कहानी आप लोगों को पेश कर ...

कामवाली के साथ रंगरेली मनाई- Kaamvali Ki Chudai

कामुक कहानी पढ़ने वाले दोस्तों को मेरा नमस्कार। मेरा नाम मोहन गुप्ता (उम्र २२) है। मैं नोएडा में रहता हूँ। ...

Leave a Comment